Top stories

Lalu Family Dispute: लालू परिवार का कलह आया सड़क पर, तेज प्रताप की पदयात्रा से तेजस्वी रहे गायब

Janjwar Desk
11 Oct 2021 1:34 PM GMT
Lalu Family Dispute: लालू परिवार का  कलह आया सड़क पर, तेज प्रताप की पदयात्रा से तेजस्वी रहे गायब
x

तेज प्रताप की पदयात्रा से तेजस्वी रहे गायब

रविवार, 10 अक्टूबर को करीब आठ महीनें बाद राबड़ी देवी बिहार पहुंची...अपने आवास जाने से पहले वे तेज प्रताप से मुलाकात करने उनके आवास गई... पर मां के आने की भनक लगते ही तेज प्रताप बाहर चले गए...

Bihar Politics News(जनज्वार): लालू यादव के दोनों बेटों के बीच आंतरिक कलह दिनोंदिन बढ़ते ही जा रहा है। रविवार, 10 अक्टूबर को दोनों बेटों में मेल करवाने के प्रयास में दिल्ली से पहुंची मां राबड़ी देवी की कोशिश भी नाकाम रही। इसी बीच सोमवार, 11 अक्टूबर को लालू के दोनों पुत्र तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच दूरियां और बढ़ती नजर आईं।

तेज प्रताप के पदयात्रा से तेजस्वी ने बनाई दूरी

सोमवार, 11 अक्टूबर को लालू यादव के बड़े बेटे और राजद से हसनपुर विधायक तेज प्रताप यादव ने अपने संगठन छात्र जनशक्ति परिषद की ओर से लोकनायक जय प्रकाश नारायण की जयंती पर जनशक्ति पदयात्रा निकाली। नंगे पांव चलकर तेज प्रताप पटना के गांधी मैदान में लगी जय प्रकाश नारायण की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने पहुंचे। उन्होंने इस पदयात्रा में अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव को भी आमंत्रण दिया था। पर तेजस्वी यादव या राजद () से कोई अन्य बड़ा चेहरा इस कार्यक्रम में नहीं पहुंचा।

तेजस्वी ने कहा- सब मनाते हैं, सभी को शुभकामनाएं

वहीं, तेजस्वी यादव से जब बड़े भाई के पदयात्रा को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने अलगाव के विवाद को और तूल न देते हुए बस इतना ही कहा कि, सभी को शुभकामना है, अच्छी बात है, सभी लोग मनाते हैं। तेजस्वी यादव ने जिस तरह से पूरे मामले पर बयान दिया उससे दोनों भाईयों के बीच की करवाहट साफ नजर आई। तेजस्वी यादव तेज प्रताप के पदयात्रा पर और कुछ भी कहने से बचे और आगे बढ़ गए।

तेज प्रताप के इंतजार में घंटो बैठी रही मां राबड़ी

गौरतलब है कि तेज प्रताप इन दिनों परिवार से और खासकर छोटे भाई तेजस्वी से नाराज चल रहें हैं। मामले को तूल पकड़ता देख और मीडिया में परिवार की किरकिरी होते देख रविवार, 10 अक्टूबर को करीब आठ महीनें बाद राबड़ी देवी बिहार पहुंची। अपने आवास जाने से पहले वे तेज प्रताप से मुलाकात करने उनके आवास गई। पर मां के आने की भनक लगते ही तेज प्रताप बाहर चले गए। राबड़ी देवी कई घंटो तक उनका इंतजार करती रहीं पर वे नहीं आए। अंत में राबड़ी देवी को बेटे तेज प्रताप से मुलाकात किए बिना ही वापस जाना पड़ा।

मां के आवास के सामने से गुजरे, पर नहीं लिया आशीर्वाद

सोमवार, 11 अक्टूबर की सुबह जब तेज प्रताप यादव लोकनायक जेपी नारायण की जयंती के मौके पर गांधी मैदान के लिए निकले तो अटकलों का बाजार गर्म हो गया कि शायद वे पहले अपनी मां से आशीर्वाद लेंगे। पर तेज प्रताप का काफिला मां राबड़ी देवी के आवास के ठीक सामने से निकल गया पर वे मां से नहीं मिले।

आपको बता दें लालू यादव के बड़े बेटे लंबे वक्त से आरजेडी के नेताओं से नाराज चल रहे हैं। अब छोटे भाई तेजस्वी से भी उनकी दूरियां साफ देखने को मिल रही है। इसी बीच बिहार के दो विधानसभा सीटों पर उपचुनाव को लेकर राजद और कांग्रेस में भी तल्खी बढ़ गई। एक ही गठबंधन का हिस्सा होने के बावजूद दोनों पार्टियों ने तारापुर और कुशेश्वरस्थान पर अपने-अपने कैंडिडेट उतार दिए हैं। दोनों ही सीटों पर कोई भी पीछे हटने को तैयार नहीं है। सोमवार को तेजस्वी यादव से जब महागठबंधन टूटने को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हमें कुछ नहीं बोलना है हमें जो बोलना था पहले ही बोल चुके हैं।

Next Story

विविध

Share it