Top stories

Indore News: सिमरन से बन गई 'बाबा' छोटू महाराज, फर्जी पुलिस के साथ की लाखों की ठगी

Janjwar Desk
26 Oct 2021 4:58 AM GMT
Indore News: सिमरन से बन गई बाबा छोटू महाराज, फर्जी पुलिस के साथ की लाखों की ठगी
x

(ठग छोटू महाराज एक महिला है और दो बच्चों की मां है)

छोटू महाराज का असली नाम सिमरन है, वर्षों पहले वह आंबेडकर नगर (एमआइजी) में रहती थी और उसकी शादी शिप्रा में हुई थी, सिमरन का एक बेटा और बेटी है...

Indore News: मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में पिछले दिनों पुलिस ने एक फर्जी पुलिसकर्मी और उसके साथी साधु को गिरफ्तार किया। दोनों मिलकर लोगों से लाखोंं की ठगी को अंजाम दे चुके है। गिरफ्तार रवि उर्फ राजवीर सोलंकी खुद को सेंट्रल गवर्नमेंट का अंडरकवर पुलिस अधिकारी बताकर प्रमोशन के नाम पर युवतियों को निशाना बनाता था और फिर उनसे पैसे ऐंठता था। ठगी में रवि का साथ छोटू महाराज उर्फ सीमानंद गिरी नाम का एक तांत्रिक देता था। पुलिस ने जब दोनों को गिरफ्तार किया तो एक के बाद एक कई चौंकाने वाले खुलासे हुए।

सबसे पहले तो पुलिस ये जानकर हैरान रह गई की जिस तांत्रिक बाबा उर्फ छोटू महाराज को उन्होंने गिरफ्तार किया था, असल में वो एक औरत थी। सालों से पुरुष का रूप धारण किए सीमानंद गिरी ऊर्फ सिमरन ठगी का मास्टरमाइंड निकली।

पुलिस के अनुसार, रवि और छोटू महाराज कई महिलाओं और युवतियों को अपना निशाना बना चुके हैं। पुलिस को इनके खिलाफ कई युवतियों की शिकायत मिली थी जिसके बाद इन्हें गिरफ्तार किया गया।

तांत्रिक सीमानंद गिरी का असली नाम सीमा

छोटू महाराज और रवि के गिरफ्तारी के बाद से पुलिस ने इनके ठिकानों पर छापेमारी की। इंदौर पुलिस ने छोटू महाराज के चेलों को पूछताछ के लिए थाने बुलाया। इन चेलों ने ही तांत्रिक छोटू महाराज की पोल पट्टी खोल दी। पुलिस ने पूछताछ में पाया कि छोटू महाराज का असली नाम सिमरन है। वर्षों पहले वह आंबेडकर नगर (एमआइजी) में रहती थी और उसकी शादी शिप्रा में हुई थी। सिमरन का एक बेटा और बेटी हैं। लेकिन पति से अनबन होने के बाद वह अपने परिवार से अलग रहने लगी। साल 2016 में सुपर कॉरिडोर स्थित एक आश्रम में सीमा ने पुरुष का हुलिया धारण कर लिया और वहां रहने वाले तांत्रिकों से दीक्षा प्राप्त की। छोटू महाराज के साथ गिरोह में अन्य लोग भी थे। पुलिस के मुताबिक, कुछ वर्षों पहले पंजाब से आए तांत्रिक ने छोटू महाराज से तंग आकर आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद छोटू महाराज ने इंदौर के आश्रम पर कब्जा जमा लिया।

फर्जी पुलिस रवि को बेटा कहती थी तांत्रिक छोटू

बताया जा रहा है कि तांत्रिक सीमा उर्फ छोटू महाराज रवि को अपना बेटा बता कर लड़कियों से मिलवाती थी। दोनों तंत्र मंत्र का भ्रम फैलाकर महिलाओं से लाखों रुपये ऐंठा करते थे। पुलिस ने आरोपी रवि के पास से पुलिस विभाग के कई फर्जी आईडी कार्ड भी बरामद किए हैं। पुलिस ने खुलासा किया कि रवि खुद को कभी पुलिस अधिकारी बताता था तो कभी अंडरकवर ऑफिसर बताता था। वह युवतियों को पुलिस में नौकरी दिलवाने का झांसा देकर धोखाधड़ी करता था। एक युवती से उसने सगाई भी की और शादी का झांसा देकर उससे 8 लाख रुपये नगद और एक्टिवा गाड़ी ठगे। एक अन्य महिला को इसी तरह से 20 लाख रुपए की चपत लगा चुका है।

'उल्लू' और 'चमगादड़' से करती थी तांत्रिक क्रियाएं

रविवार, 24 अक्टूबर को पुलिस ने रवि उर्फ राजवीर के घर सिमरोल पर छापा मारा और सोने का मंगलसूत्र, पैंडल और खादी वर्दी बरामद कर ली। इधर, छोटू महाराज के आश्रम में छापेमारी के दौरान पुलिस को जिंदा उल्लू और चमगादड़ मिले। अनुमान है की छोटू महाराज इनसे तांत्रिक क्रियाएं करती थी। पुलिस ने विष्णु नाम के एक और तांत्रिक को गिरफ्तार किया है, जो नोटों की बारिश करवाता था। फिर भूत का डर दिखाकर लोगों से पैसे लूटने में छोटू महाराज की मदद करता था। वहीं, छोटू महाराज भी नोटों की बारिश करवाने का दावा करते थे। पूछताछ में पुलिस को और भी कई तथ्यों के बारे में पता चला है। फिलहाल सभी लोगों से पूछताछ की जा रही है।

Next Story

विविध