Top stories

Jabalpur Suicide Case: दवा व्यापारी सौरभ साहू का सुसाइड से पहले का वीडियो बरामद, कहा- 'बेटी के मोबाइल पर सबूत भेज रहा हूं'

Janjwar Desk
14 Oct 2021 10:34 AM GMT
Jabalpur Suicide Case: दवा व्यापारी सौरभ साहू का सुसाइड से पहले का वीडियो बरामद, कहा- बेटी के मोबाइल पर सबूत भेज रहा हूं
x
(मृतक मेडिकल स्टोर संचालक सौरभ साहू) P.C- Google
मृतक के पास से पुलिस ने सुसाइड नोट भी बरामद किया... इसमें डेंटल संचालक और अन्य लोगों द्वारा परेशान किए जाने की बात लिखी गई थी है... इसी कड़ी में पुलिस के हाथ अब एक वीडियो लगा है...

Jabalpur Crime News: मध्य प्रदेश के जबलपुर में प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या करने वाले दवा व्यापारी और बीजेपी की पूर्व पार्षद रह चुकी सदारानी साहू का भतीजा सौरभ साहू का एक वीडियो सामने आया है। बताया जा रहा है कि यह वीडियो मृतक सौरभ द्वारा आत्महत्या करने से पहले बनाया गया है। इस वीडियो में व्यापारी सौरभ आत्महत्या करने की वजह और आरोपियों के नाम लेकर कह रहा है कि, मेरे सुसाइड नोट गुम हो जाने के बाद या सारे सबूत मिट जाने के बाद सबूत और वीडियो मेरे मोबाइल पर हैं। इसे मैं अपनी बेटी के मोबाइल पर भी भेज रहा हूं।

बता दें कि जबलपुर के रांझी में मारपीट के वजह से 40 वर्षीय मेडिकल दवा दुकानदार ने मंगलवार,12 अक्टूबर को फांसी लगा ली थी। मृतक के पास से पुलिस ने सुसाइड नोट भी बरामद किया। इसमें डेंटल संचालक और अन्य लोगों द्वारा परेशान किए जाने की बात लिखी गई थी है। इसी कड़ी में पुलिस के हाथ अब एक वीडियो लगा है।

मृत सौरव के छोटे भाई गौरव ने रांझी पुलिस को ये वीडियो सौंपा है। इस वीडियो में सौरव उसके चाचा ऋषि साहू, डेंटिस्ट तरनजीत गुजराल, काके गूमर, तेजिंदर सिंह लांबा, सनी लाम्बा, उदीप रील को अपने मौत का जिम्मेदार ठहराया है। सौरभ ने कहा कि उसे दो सालों से शारीरिक और मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया जा रहा है। वे लोग उससे दुकान खाली कराने का दबाव बना रहे थे। 12 अक्टूबर की रात में सभी ने उसके दवा दुकान में घुसकर मारपीट की। वीडियो में सौरभ बता रहा है कि उसकी बहुत बेइज्जती की गई है। अब वह तनाव बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है।

'बेटी के मोबाइल पर सबूत है'

सुसाइड करने से पहले बनाए इस वीडियो में सौरभ बता रहा है कि मेरा सुसाइड नोट गुम हो जाने के बाद या सबूत मिट जाने के बाद सारे सबूत और वीडियो मेरे मोबाइल पर है। इसे मैं अपनी बेटी के मोबाइल पर भेजा रहा हूं। ऋषि साहू और डॉ तरनजीत गुजराल ने दुकान खाली कराने के लिए अपने गुंडे भेज कर मारपीट कराई। दो साल से मुझे मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। मैं नहीं झुका तो इन्होंने मेरे साथ मारपीट की। जिससे प्रताड़ित होकर मैं सुसाइड कर रहा हूं। मेरी बेटी के मोबाइल से सबूत ले सकते हैं। सौरभ ने वीडियो में ये भी कहा कि डेंटिस्ट तेजिंदर गुजराल का लाइसेंस रद्द होना चाहिए और सभी को जेल होना चाहिए।

पुलिस को मिला मारपीट का फुटेज

टीआई रांझी विजय सिंह परस्ते के मुताबिक दुकान ऋषि साहू का है। सौरव और तरनजीत गुजराल उसके किराएदार हैं। ऋषि साहू सौरभ पर दुकान खाली कराने के लिए लगातार दबाव बना रहे थे। क्योंकि वे तरनजीत गुजराल को वह दुकान देना चाहता था। इसी को लेकर विवाद बढ़ गया और मामला मारपीट तक पहुंच गया। पुलिस ने सौरभ की दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज बरामद किया है जिसमें सौरभ के साथ मारपीट का दृश्य साफ साफ कैद है। पुलिस के अनुसार सौरभ का पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट अभी नहीं मिल पाया है। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

सौरभ के भाई ने पुलिस की कार्रवाई पर उठाए सवाल

वहीं, पुलिस को सौरव का वीडियो सौंपने वाले छोटे भाई गौरव साहू का आरोप है कि सभी आरोपी स्थानीय बीजेपी विधायक अशोक रोहाणी के करीबी लोग हैं। इसी कारण से पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। सनी लाम्बा, उदीप रील और काके गुमर विधायक के खास आदमी हैं। । सौरव के आत्महत्या के बाद उसकी पत्नी और 12 वर्षीय बेटी परी साहू का रो-रो कर बुरा हाल है।

गौरतलब बै कि रांझी में मस्ताना चौक निवासी सौरव साहू (40) ने 12 अक्टूबर की रात में पंखे में रस्सी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने उसके पास से सुसाइड नोट बरामद हुआ है। सुसाइड नोट में चाचा ऋषि साहू, डॉक्टर तेजिंदर सिंह गुजराल सहित अन्य द्वारा प्रताड़ित और मारपीट किए जाने का जिक्र किया गया है। इस मामले में पुलिस को सुसाइड नोट के अलावा सौरभ के मरने से पहले का एक वीडियो और दुकान में लगा सीसीटीवी फुटेज मिला है।


Next Story

विविध

Share it