Top stories

Top 10 News : UN ने गांधी जयंती पर सभी से साझा किया अहिंसा का संदेश, दिल्ली में पेट्रोल-डीजल के लिए दिखाने होंगे ये कागजात

Janjwar Desk
2 Oct 2022 3:14 AM GMT
Top 10 News : UN ने गांधी जयंती पर सभी से साझा किया अहिंसा का संदेश, दिल्ली में पेट्रोल-डीजल के लिए दिखाने होंगे ये कागजात
x

Top 10 News : UN ने गांधी जयंती पर सभी से साझा किया अहिंसा का संदेश, दिल्ली में पेट्रोल-डीजल के लिए दिखाने होंगे ये कागजात

Top 10 News : अगर आप दिल्ली में रहते हैं और आपके पास वैलिड पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट नहीं है तो आपको 25 अक्टूबर से पेट्रोल-डीजल नहीं मिलेगा।

1. गांधी जयंती पर यूएन की खास प्रस्तुति, बापू के शिक्षा संदेश पर अमल करें सभी देश



विश्व निकाय में पहली बार महात्मा गांधी ( Mahatma Gandhi ) का विशेष आदमकद होलोग्राम पेश करके शिक्षा पर उनका संदे साझा किया गया। यूएन ( United Nation ) में शिक्षा पर संदेश साझा करने के दौरान गांधी ने पहली बार विशेष उपस्थिति दर्ज कराई और उनकी जयंती से पूर्व अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस मनाया गया। संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में भारत के स्थायी मिशन और यूनेस्को महात्मा गांधी शांति व सतत विकास शिक्षा संस्थान ने होलोग्राम पेश किया। दो अक्तूबर को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में मनाने के बीच इस कार्यक्रम का मकसद शिक्षा व जन जागरूकता के जरिये अहिंसा का संदेश फैलाना है।

2. दिल्ली : केजरीवाल सरकार का नया फरमान, पेट्रोल-डीजल चाहिए तो बनवा लें ये कागजात

अगर आप दिल्ली ( Delhi ) में रहते हैं और आपके पास वैलिड पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट नहीं है तो आपको 25 अक्टूबर से पेट्रोल-डीजल ( Petrol-Diesel ) नहीं मिलेगा। इस बात की जानकारी दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने दी। दिल्ली सरकार ने देश की राजधानी में सर्दी के मौसम में बढ़ने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए यह कदम उठाया है। केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में 15 पॉइंट का ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान और विंटर एक्शन प्लान तैयार किया गया है, जिसे सख्ती से लागू किया जाएगा।

3. देश के 10 स्वच्छतम शहरों की सूची से UP गायब, राज्यों और शहरों की सूची में MP सबसे अव्वल

केंद्र के वार्षिक सर्वेक्षण में स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार 2022 ( Swachh Survekshan Award 2022 ) में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्यों की श्रेणी में मध्य प्रदेश ने पहला स्थान हासिल किया है। इसके बाद छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र का स्थान है। इंदौर को लगातार छठी बार सबसे स्वच्छ शहर चुना गया जबकि सूरत और नवी मुंबई ने क्रमशः दूसरा तथा तीसरा स्थान हासिल किया। सर्वेक्षण के परिणामों की घोषणा शनिवार को की गई। इंदौर और सूरत ने इस साल बड़े शहरों की श्रेणी में अपना शीर्ष स्थान बरकरार रखा जबकि विजयवाड़ा ने अपना तीसरा स्थान गंवा दिया और यह स्थान नवी मुंबई को मिला। देश के सबसे स्वच्छ शहरों की रैंकिंग में यूपी का एक भी शहर शीर्ष 10 में शामिल नहीं है। गाजियाबाद ने लखनऊ को पछाड़कर प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया। पिछले सर्वेक्षण में यूपी में लखनऊ पहले व गाजियाबाद दूसरे स्थान पर था।

4. शिंदे सरकार के फरमान का पालन नहीं करेंगे सपा नेता अबु आसिम, कहा - हम नहीं बोलेंगे वंदे मातरम

महाराष्ट्र में सरकारी कर्मियों के फोन पर हेलो की जगह वंदे मातरम बोलने के आदेश का सपा नेता अबू आसिम आजमी ( Abu Asim Azmi ) ने विरोध किया है। सरकार के इस आदेश को गलत ठहराया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने जान बूझकर ऐसा आदेश निकाला है ताकि हिंदू-मुस्लिम के बीच में दरार आए। अबू आसिम ने कहा कि हम देश से प्रेम करते हैं लेकिन केवल आल्हा के सामने सिर झुकाते हैं। हम कभी भी वंदे मातरम नहीं बोलेंगे। दरअसल, महाराष्ट्र सरकार ने गांधी जयंती से सभी सरकारी कर्मचारियों को फोन में हैलो की जगह वंदे मातरम बोलने का आदेश जारी किया है।

5. SC का तमिलनाडु सरकार को नोटिस, हिंदू मंदिरों को लेकर मांगी ये जानकारी

सर्वोच्च अदालत ने तमिलनाडु सरकार से उस याचिका पर जवाब मांगा है जिसमें राज्य के मंदिरों में प्रशासन के लिए सरकारी कर्मचारियों की नियुक्ति का आरोप लगाया गया है। न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति हेमा कोहली की पीठ ने राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है। पीठ ने याचिकाकर्ता के वकील सीण्एसण् वैद्यनाथन से एक और हलफनामा दायर करने को कहा जिसमें तमिलनाडु के उन मंदिरों की संख्या जानकारी दी जाएगी जहां कोई ट्रस्टी नियुक्त नहीं किया गया है। इसके अलावा उन मंदिरों की संख्या भी बतानी होगी जिनमें सरकारी अफसरों की नियुक्ति की गई है। इससे पहले याचिकाकर्ता टीआर रमेश की ओर पेश हुए वकील ने तर्क दिया कि तमिलनाडु हिंदू धार्मिक और धर्मार्थ बंदोबस्ती अधिनियम 1959 की धारा 55 के मुताबिक केवल मंदिर के ट्रस्टी ही मंदिरों के प्रशासन के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के ढुलमुल रवैये के कारण एक दशक से भी ज्यादा समय से ट्रस्टियों की नियुक्ति नहीं हुई है।

6. सत्यपाल मलिक की छुट्टी, अरुणाचल के राज्यपाल को मिला मेघालय का अतिरिक्त प्रभार

मेघालय के वर्तमान राज्यपाल सत्यपाल मलिक का कार्यकाल तीन अक्तूबर को समाप्त हो रहा है। राष्ट्रपति भवन के हवाले से यह जानकारी दी गई है। राष्ट्रपति के प्रेस सचिव अजय कुमार सिंह के मुताबिक भारत के राष्ट्रपति ने अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल ब्रिगेडियर सेवानिवृत्तद् डॉ. बीडी मिश्रा अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए नियमित व्यवस्था होने तक मेघालय के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार भी संभालेंगे। सत्यपाल मलिक सोमवार को अपना कार्यकाल पूरा कर रहे हैं। सत्यपाल मलिक ने सार्वजनिक रूप से केंद्र सरकार की आलोचना क 76 वर्षीय सत्यपाल मलिक ने किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान कृषि कानूनों के खिलाफ टिप्पणी कर सुर्खियां बटोरीं थीं। उन्होंने कई मौकों पर आंदोलन पर अपने बयानों से विवाद खड़ा किया और केंद्र सरकार की सार्वजनिक रूप से आलोचना की। उन्होंने अगस्त 2020 में मेघालय स्थानांतरित होने से पहले बिहार, जम्मू और कश्मीर और गोवा के राज्यपाल के रूप में भी काम किया।

7. वैज्ञानिकों का दावा : प्रोस्टेट कैंसर में रोगकारक जीन मरीज की जान बचाने में बन सकता है मददगार

वैज्ञानिकों ने ताजा शोध में पता लगाया है कि प्रोस्टेट कैंसर में एक कैंसरकारी जीन महत्वपूर्ण आनुवंशिक रूपांतर को नियंत्रित करता हैए जिससे मरीज की जान बचाने में मदद मिल सकती है। यह शोध क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन में बाट्र्स कैंसर इंस्टीट्यूट, इतालवी इंस्टीट्यूट फॉर जीनोमिक मेडिसिन और मिलान यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने किया है। सेल रिपोर्ट्स में प्रकाशित नतीजों में उल्लेख किया गया है कि किस तरह कैंसरकारी जीन प्रोस्टेट कैंसर में आनुवांशिक रूपांतरों के निर्माण को प्रभावित करता है और इससे रोग के वापस बिगड़ने व मरीज की हालत में सुधार के लिए नई दवाओं का अनुमान लगाया जा सकेगा। शोध के सह लेखक डॉ. प्रभाकर राजन ने कहा कि पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर आम है और यह रोग मौतों का बड़ा कारण है। प्रोस्टेट कैंसर में आनुवंशिक संरचना बहुत परिवर्तनशील होती है जिससे मरीज का निदान और उपचार बहुत मुश्किल हो जाता है। इस आनुवांशिक भिन्नता के बारे में जानकारी बढ़ने के चलते इलाज में सुधार हो पाएगा।

8. इंडोनेशिया में फुटबॉल मैच के दौरान भारी हिंसा, 127 की मौत

इंडोनेशिया में शनिवार को एक फुटबॉल मैच के दौरान हुई हिंसा में कम से कम 127 लोग मारे गए हैं। घटना पूर्वी जावा के मलंग रीजेंसी के कंजुरुहान स्टेडियम में हुई। खबरों के मुताबिक अरेमा एफसी और पर्सेबाया सुरबाया के बीच मैच चल रहा था। इस बीच अरेमा की टीम हार गई। जिसके बाद अपनी टीम को हारता देख बड़ी संख्या में प्रशंसक मैदान की तरफ भागने लगे। इस दौरान कुछ लोगों ने खिलाड़ियों पर हमला कर दिया। इस घटना से जुड़े कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। जिसमें दिख रहा है कि लोग मैदान पर घुस आए और सुरक्षाकर्मियों पर चीजें फेंकना शुरू कर दिया। साथ ही पुलिस लोगों को काबू करने के लिए लाठीचार्ज कर रही है और आंसू गैस के गोले छोड़ रही है।

9. डायबिटीज मरीजों के बड़ी खबर, इंसुलिन का इंजेक्शन बार-बार लगाने से मिलेगी मुक्ति

डायबिटीज मरीजों को इंसुलिन के लिए बार-बार कई इंजेक्शन लेने पड़ते हैं। अब एक गोली के जरिये इंसुलिन को सीधे आंत में पहुंचाया जा सकता है। इस दिशा में रोबोकैप नामक कैप्सूल डायबिटीज के मरीजों को राहत दिला सकता है। इसका असर डायबिटीज की अन्य दवाओं के मुकाबले दस गुना तक अधिक देखा गया है। रोबोकैप ब्लूबेरी के आकार का है। यह एंजाइम को रोकता है।

10. ईरान के साथ तेल सौदे को लेकर अमेरिका का रुख सख्त, पहली बार भारतीय कंपनियों पर लगाया प्रतिबंध

अमेरिका ने ईरान के साथ डील करने के आरोप में एक भारतीय कंपनी पर बड़ी कार्रवाई की है। बाइडेन सरकार ने ईरान से हजारों करोड़ रुपये के पेट्रोलियम और केमिकल प्रोडक्ट खरीदने वाली साउथ और ईस्ट एशिया की 8 कंपनियों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसमें मुंबई बेस्ड एक भारतीय कंपनी तिबालाजी पेट्रोकेम प्राइवेट लिमिटेड का नाम भी शामिल है।

Next Story

विविध