Up Election 2022

Lucknow News: सपा कार्यालय के सामने पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह का प्रयास, टिकट काटने का आरोप

Janjwar Desk
16 Jan 2022 10:48 AM GMT
upchunav2022
x

(सपा कार्यालय के सामने कार्यकर्ता ने किया आत्मदाह का प्रयास)

Lucknow News: आत्मदाह की कोशिश करने वाले सपा नेता ठाकुर आदित्य ने शीर्ष नेताओं पर गंभीर आरोप लगाये हैं। आदित्य ने कहा कि उसने अपनी पूरी जवानी सपा के लिए लगा दी...

UP Election 2022: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) कार्यालय विक्रमादित्य मार्ग पर रविवार 16 जनवरी की सुबह लगभग साढ़े 10 बजे अफरा-तफरी मच गई। यहां एक कार्यकर्ता ने खुद पर पेट्रोल डालकर आत्मदाह करने का प्रयास किया। हालांकि, इस दौरान वहां मौजूद पुलिसकर्मियों की नजर पड़ गई। पुलिस ने दौड़कर उसे पकड़ लिया। आत्मदाह की कोशिश करने वाले ठाकुर आदित्य का आरोप है कि उसका टिकट काट दिया गया है। फिलहाल पुलिस ने उसे सिविल अस्पताल में भर्ती कराया है।

एसीपी हजरतगंज अखिलेश सिंह (Akhilesh Singh) ने बताया कि, समाजवादी पार्टी कार्यालय पर रविवार सुबह पुलिस ड्यूटी दे रही थी। इसी बीच अलीगढ़ निवासी ठाकुर आदित्य कुछ लोगों के साथ पहुंचे। वहां उसने अपने पास से बोतल निकालकर खुद पर पेट्रोल डालना शुरू कर दिया। इसी बीच पुलिसकर्मियों की नजर पड़ गई। पुलिसकर्मियों ने उसे दौड़ाकर पकड़ लिया। फिलहाल उसे सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उपचार चल रहा है। पुलिस ने उसके पास से पेट्रोल की दो बोतलें और माचिस भी बरामद की हैं।

पूरी जवानी सपा में खपा दी

आत्मदाह की कोशिश करने वाले सपा नेता ठाकुर आदित्य ने शीर्ष नेताओं पर गंभीर आरोप लगाये हैं। आदित्य ने कहा कि उसने अपनी पूरी जवानी सपा के लिए लगा दी। उसने अलीगढ़ के छर्रा विधान सभा टिकट की दावेदारी की थी लेकिन उसे नहीं मिला। किसी अन्य को दे दिया गया है। बड़े नेताओं से पूछने पर कोई स्पष्ट जवाब नहीं मिल रहा है।

पुलिस के सामने उसने यह खुला एलान किया है कि उसे चाहे जेल में डाल दें या कहीं और ही कैद कर दें वह आत्मदाह करेगा। आदित्य ने कहा कि उसके पास पेट्रोल की दो नहीं 10 बोतलें हैं। उसे आत्मदाह करने से कोई नहीं रोक सकता है। वह आत्मदाह करके ही दम लेगा।

पुलिस को पटकनी पड़ी लाठियां

सपा नेता के आत्मदाह की कोशिश के दौरान कार्यालय के बाहर अफरातफरी का माहौल बन गया था। लोग इधर-उधर भागने लगे लेकिन पार्टी कार्यालय से कोई बड़ा नेता बाहर नहीं आया। किसी ने कार्यकर्ता से बात भी करने की कोशिश नहीं की। अचानक हुए हादसे के बाद वहां भीड़ भी जुटने लगी, जिसे देखकर पुलिस ने लोगों को लाठी पटककर खदेड़ना भी शुरु करना पड़ा।

Next Story

विविध