Up Election 2022

Harish Rawat : मेरा ट्वीट पढ़कर भाजपा और आप को बड़ी मिर्ची लग गई, इसलिए दे रहे नमक-मिर्च लगाए हुए बयान

Janjwar Desk
23 Dec 2021 12:35 PM GMT
हाईकमान की ओर से तलब किए जाने के बाद हरीश रावत ने अपने ट्वीट को रोजमर्रा जैसा बताया है।
x

(पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत। फाइल फोटो)

Harish Rawat : हरीश रावत ने कहा कि मेरा ट्वीट रोजमर्रा जैसा ही ट्वीट है, मगर आज अखबार पढ़ने के बाद लगा कि कुछ खास है, क्योंकि भाजपा और आप पार्टी को मेरी ट्वीट को पढ़कर बड़ी मिर्ची लग गई है और इसलिये बड़े नमक-मिर्च लगाये हुये बयान दे रहे हैं......

Harish Rawat : पार्टी हाईकमान की ओर से तलब किए जाने के बाद उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) अपने बयान के चौबीस घंटों के भीतर ही नरम पड़ गए हैं। रावत ने अपने उन ट्वीट्स को रोजमर्रा जैसा बताया है जिन्होंने कल पार्टी के भीतर सनसनी फैला दी थी। उन्होंने बुधवार को सिलसिलेवार कई ट्वीट किए थे जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें काम करने की आजादी नहीं दी जा रही है और इसलिए उनके मन में विश्राम (राजनीति से सन्यास) का विचार भी आता है।

अब उत्तराखंड (Uttarakhand) में कांग्रेस (Congress) प्रभारी रावत ने कहा है कि 'मेरा ट्वीट रोजमर्रा जैसा ही ट्वीट है, मगर आज अखबार पढ़ने के बाद लगा कि कुछ खास है, क्योंकि भाजपा (BJP) और आप (AAP) पार्टी को मेरी ट्वीट को पढ़कर बड़ी मिर्ची लग गई है और इसलिये बड़े नमक-मिर्च लगाये हुये बयान दे रहे हैं।'

इससे पहले रावत ने अपने ट्वीट में कहा था, है न अजीब सी बात, चुनाव रूपी समुद्र को तैरना है, सहयोग के लिए संगठन का ढांचा अधिकांश स्थानों पर सहयोग का हाथ आगे बढ़ाने के बजाय या तो मुंह फेर करके खड़ा हो जा रहा है या नकारात्मक भूमिका निभा रहा है। जिस समुद्र में तैरना है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि सत्ता ने वहां कई मगरमच्छ छोड़ रखे हैं। जिनके आदेश पर तैरना है, उनके नुमाइंदे मेरे हाथ-पांव बांध रहे हैं। मन में बहुत बार विचार आ रहा है कि #हरीश_रावत अब बहुत हो गया, बहुत तैर लिये, अब विश्राम का समय है!

एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा था- फिर चुपके से मन के एक कोने से आवाज उठ रही है "न दैन्यं न पलायनम्" बड़ी उपापोह की स्थिति में हूंँ, नया वर्ष शायद रास्ता दिखा दे। मुझे विश्वास है कि #भगवान_केदारनाथ जी इस स्थिति में मेरा मार्गदर्शन करेंगे।

बताया जा रहा है कि रावत के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल और नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह आज दिल्ली पहुंचेंगे। शुक्रवार को उत्तराखंड मामले को लेकर दिल्ली में हाईकमान के साथ इन नेताओं की बैठक हो सकती है। इस बैठक में राहुल गांधी के भी मौजूद रहने की संभावना है।

Next Story

विविध