Up Election 2022

Pilibhit News: योगी का अखिलेश पर निशाना, बोले- 2017 से पहले नौकरी निकलने के साथ ही वसूली पर निकलता था पूरा परिवार

Janjwar Desk
30 Dec 2021 2:43 PM GMT
Pilibhit News: योगी का अखिलेश पर निशाना, बोले- 2017 से पहले नौकरी निकलने के साथ ही वसूली पर निकलता था पूरा परिवार
x

Yogi Aditya Nath rally in Pilibhit 30-12-2021 

Pilibhit News: योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditya Nath) जनपद पीलीभीत में भारतीय जनता पार्टी की जन विश्वास यात्रा के पहुंचने पर आयोजित भव्य समारोह में पिछली सरकारों के कामकाज का जिक्र करते हुए समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर सीधा हमला किया। नाम लिए बगैर कहा कि 2017 के पहले नौकरी निकलते ही एक परिवार के सभी नाते-रिश्तेदार पूरे प्रदेश में वसूली के लिए निकल पड़ते थे।

पीलीभीत से निर्मल कांत शुक्ल की रिपोर्ट

Pilibhit News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditya Nath) जनपद पीलीभीत में भारतीय जनता पार्टी की जन विश्वास यात्रा के पहुंचने पर आयोजित भव्य समारोह में पिछली सरकारों के कामकाज का जिक्र करते हुए समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर सीधा हमला किया। नाम लिए बगैर कहा कि 2017 के पहले नौकरी निकलते ही एक परिवार के सभी नाते-रिश्तेदार पूरे प्रदेश में वसूली के लिए निकल पड़ते थे।

मुख्यमंत्री ने गुरुवार को ड्रमंड राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में जनपद में 307 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। लगभग 73 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण किया। कुल मिलाकर मुख्यमंत्री ने राजकीय मेडिकल कॉलेज सहित 380 करोड़ रुपए की योजनाओं की सौगात जनपद वासियों को दी। मुख्यमंत्री निर्धारित समय से करीब एक घंटे विलंब से पीलीभीत पहुंचे। उनको पीलीभीत की पहचान बांसुरी भेंट की गई।

नहीं हो सकता उत्तर प्रदेश में दंगा

मुख्यमंत्री ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज प्रदेश में दंगा नहीं हो सकता क्योंकि दंगाइयों को मालूम है कि दंगा करेंगे तो सात पीढ़ियां भरते-भरते थक जाएंगी लेकिन दंगे के द्वारा हुई संपत्ति के नुकसान की भरपाई नहीं कर पाएंगे। उन्हें यह भी मालूम है कि आज प्रदेश में दंगा नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश की सरकार गन्ना उत्पादक किसानों को प्रोत्साहित करती है। पिछली सरकारें किसानों को हतोत्साहित करती थीं। इस सरकार ने दंगाइयों को हतोत्साहित किया।

साढ़े चार लाख नौजवानों को दी सरकारी नौकरी

पिछली अखिलेश सरकार पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि नौजवानों के लिए वर्ष 2017 से पहले जब नौकरी निकलती थी तो नौकरी निकलने के साथ प्रदेश के अंदर आपने देखा होगा कि एक परिवार के महाभारत के सभी रिश्ते वसूली में निकल पड़ते थे। कहीं चाचा, कहीं भतीजा, कहीं भाई और कहीं मामा, कहीं भांजे थे, यह सभी वसूली पर निकल पड़ते थे। हर भर्ती विवादित होती थी। न्यायालय को रोक लगानी पड़ती थी। नौजवान देखता ही रह जाता था। 10 बरस तक प्रदेश में कोई भी ईमानदारी के साथ नियुक्ति नहीं हो पाई लेकिन अब कह सकते हैं कि पिछले साढ़े चार वर्ष के अंदर साढ़े चार लाख नौजवानों को सरकारी नौकरी दी।

पीलीभीत की बांसुरी को हमने दिया प्रोत्साहन

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 5000 वर्ष पहले भगवान श्री कृष्ण ने मुरली को मान्यता दी। पीलीभीत की बांसुरी को कभी भगवान कृष्ण बजाया करते थे, पीलीभीत की बांसुरी को हमने प्रोत्साहन देने का कार्य किया है। बांसुरी को एक जनपद एक उत्पाद योजना में शामिल किया।

जेसीबी से निकाल रहा हूं बेईमानी का पैसा

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारें पहले भी थी, पैसा पहले भी था। पहले यह पैसा सत्ताधारी नेताओं की जेब में जाता था, वही पैसा अब जेसीबी से निकाला जा रहा है। नोटों की गड्डियों पर गड्डियां निकल रही हैं। नोट के पहाड़ निकल रहे हैं। पीलीभीत तो तराई का क्षेत्र है, यहां से कुछ ही दूरी पर पहाड़ दिखता होगा लेकिन आपने मिट्टी और पत्थर से बने पहाड़ तो देखे होंगे लेकिन आपने टेलीविजन में नोट से बने पहाड़ भी देखे होंगे। बेईमानी से कमाया गया जो धन है, वह गरीब के पास जाना चाहिए था। किसान के पास जाना चाहिए था। महिलाओं के उत्थान के लिए लगना चाहिए था। बेरोजगार नौजवानों के रोजगार के लिए लगना चाहिए था। जो पैसा आज गरीब के घर में लग रहा है उसका मकान बनवाने में, उसका शौचालय बनवाने में , 5 लाख रुपये का उसका स्वास्थ्य बीमा कवर करने में लगाए जा रहे हैं , यही पैसा पहले इन भ्रष्ट नेताओं की जेब में जाता था और वही पैसा आज हम जेसीबी के माध्यम से इनके घरों से निकाल रहे हैं।


मंदिर निर्माण पर पब्लिक से किया सवाल

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंच से पब्लिक से सीधे संवाद करते हुए सवाल किया कि मैं पूछना चाहता हूं कि क्या आज अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण समाजवादी पार्टी कराती ? क्या कांग्रेस कराती ? क्या बहन जी की पार्टी कराती ? यह जो गरीबों को अन्न दिया जा रहा है, क्या यह समाजवादी पार्टी देती ? क्या बहुजन समाज पार्टी या कांग्रेस देती ? योगी आदित्यनाथ के इन सवालों का जवाब पब्लिक ने "ना" कहकर और जय श्री राम का नारा लगाकर दिया।

मुख्यमंत्री ने पब्लिक को किया कोरोना से सतर्क

योगी आदित्यनाथ ने पब्लिक के सवाल किया कि आप लोगों में से कितने लोगों ने वैक्सीन लगाया ? पब्लिक में सभी के हाथ खड़े कर देने पर योगी बोले- वाह अभिनंदन आपका। आप सभी लोगों ने वैक्सीन लगाया है लेकिन मैं आप सब से यही कहूंगा कि कोरोना महामारी अभी समाप्त नहीं हुई है। कोरोना महामारी को देखते हुए जिन लोगों ने अभी वैक्सीन लिया है, वह धन्यवाद के पात्र हैं। जिन्होंने अभी वैक्सीन नहीं लिया है ,उनको तत्काल वैक्सीन लेने की जरूरत है और वैक्सीन के साथ-साथ कोरोना के नियमों का पालन करने के लिए हम सबको तैयार होना होगा। हम पूरी तरह सतर्क होकर के कोरोना से भी निपटेंगे। आप सभी के आशीर्वाद से प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी फिर से सरकार बनाएगी।

सत्यपाल ने दिखाया पूरा दमखम

भारतीय जनता पार्टी की जन विश्वास यात्रा में पार्टी से टिकट के दावेदारों में होर्डिंग और पोस्टरों के जरिए शक्ति प्रदर्शन की होड़ मची रही लेकिन इस सबके बीच जन विश्वास यात्रा का रूपपुर कमालू में शहर विधानसभा सीट से टिकट के प्रबल दावेदार व पार्टी के कद्दावर नेता और पूर्व ब्लाक प्रमुख सत्यपाल गंगवार ने जबरदस्त स्वागत किया। उन्होंने एक बड़ी जनसभा का आयोजन भी किया। जन विश्वास यात्रा के साथ भीड़ का काफिला लेकर जब सत्य पाल गंगवार कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे तो ड्रमंड राजकीय इंटर कॉलेज मैदान छोटा पड़ गया। बड़ी संख्या में सत्यपाल गंगवार के समर्थकों का हर तरफ हजूम था।


योगी ने हमारे दर्जनों कार्यों का किया लोकार्पण : सपा

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के बाद पीलीभीत में समाजवादी पार्टी ने कहा कि किसान, बेरोजगार, नौजवान, महिला एवं कर्मचारी विरोधी तानाशाही सरकार पीलीभीत जिले में जन विश्वास यात्रा निकालकर समाजवादी पार्टी की सरकार में बने राजकीय महाविद्यालय बिलसंडा, नौगवां रेलवे क्रॉसिंग पर बने ओवरब्रिज जैसे दर्जनों कामों को अपने कार्यकाल में लोकार्पण करने का कार्य किया है। इससे यह सिद्ध होता है कि यह निकम्मी और नाकारा सरकार केवल समाजवादी पार्टी की सरकार के कार्यों को अपने कार्यों के रूप में गिना कर जनता को छलने का कार्य कर रही है। वर्तमान सरकार केवल जनता को छलने का कार्य नहीं बल्कि संविधान और लोकतंत्र को धोखा देने का कार्य कर रही है। यह संविधान और लोकतंत्र विरोधी सरकार हमारे जिले के समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री हेमराज वर्मा, समाजवादी पार्टी जिलाध्यक्ष जगदेव सिंह जग्गा, जिला महासचिव युसूफ कादरी , जिला उपाध्यक्ष नरेंद्र मिश्रा कट्टर, बालक राम सागर, मुलायम सिंह यूथ बिग्रेड के राष्ट्रीय सचिव इमदाद हुसैन खां, प्रदेश सचिव रिंकू पांडे, छात्र सभा जिलाध्यक्ष नोमान अली वारसी, यूथ बिग्रेड जिलाध्यक्ष संजय खान, जिला प्रवक्ता अमित पाठक, पूर्व ब्लॉक प्रमुख अरुण वर्मा, महिला सभा जिला महासचिव सपना यादव, जिला मीडिया प्रभारी जिया उल इस्लाम गुड्डू, पूर्व जिला उपाध्यक्ष अकबर अंसारी, जिला सचिव शरफुद्दीन नूरी, पूर्व प्रदेश सचिव मेंहदी रजा, शेखर यादव, यूथ जिला उपाध्यक्ष मनजीत सिंह गिल,निजाकत शेख, उदित यादव, बेबी सिंह यादव के साथ जिले के सभी नेताओं को पुलिस लाइन में नजरबंद कर विपक्ष की आवाज को दबाने का कार्य कर रही है। ऐसी सरकार का हम विरोध करते हैं और सरकार की जन विरोधी नीतियों पर थू थू करते हैं। क्षेत्र की जनता से अपील करते हैं कि धोखेबाजों, झूठे और मक्कारों के बहकावे में आने की आवश्यकता नहीं है। विकास पुरुष राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को मजबूत कर बदलाव का समय है।

विरोध प्रदर्शन में 130 विधानसभा क्षेत्र के प्रबल दावेदार हरिपाल सिंह लोधी सहित विधानसभा सचिव यासीन अंसारी, विधान सभा उपाध्यक्ष रूपलाल, महबूब मंसूरी, नगर अध्यक्ष नन्हे चौधरी, पूर्व नगर अध्यक्ष रेहान रजा, विधानसभा उपाध्यक्ष अकरम अंसारी, मंसूर भाई, पुत्तन फौजी जी, सपा नेत्री गायत्री गंगवार जी, छात्र सभा के जिला उपाध्यक्ष भाई अभिषेक गंगवार, लोहिया वाहिनी के नगर अध्यक्ष भाई अंकित वर्मा, सपा नेत्री रीता यादव जी, राहुल मौर्य, ऋषभ लोधी, संजय गंगवार, सचिन मौर्य, वीरेंद्र गौतम, रवि गुप्ता, सूरज यादव आकाश वर्मा, ध्रुव वर्मा, गोविंद प्रसाद उर्फ मुन्ना, रामचंद्र पटवा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष भगवान दास प्रजापति, शाहिद भाई आदि सैकड़ों समाजवादी कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Next Story