Up Election 2022

S.K.Sharma UP Election 2022 : पूर्व भाजपा नेता का योगी सरकार के मंत्री पर आरोप- 60 हजार लोगों पर दर्ज किए फर्जी मुकदमे

Janjwar Desk
29 Jan 2022 7:13 AM GMT
S.K.Sharma UP Election 2022 : पूर्व भाजपा नेता का योगी सरकार के मंत्री पर आरोप- 60 हजार लोगों पर दर्ज किए फर्जी मुकदमे
x

(पूर्व भाजपा नेता एस.के.शर्मा ने उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा पर लगाए गंभीर आरोप)

S.K.Sharma UP Election 2022 : एस.के. शर्मा ने अपने प्रतिद्वंदी योगी सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा पर गंभी आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने जनता की सेवा की है लेकिन क्या सेवा की है? साठ हजार एफआईआर, बिजली कनेक्शन कटवाना....

S.K.Sharma UP Election 2022 : उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) में नेताओं के एक-दूसरे पर हमले तेज हो गए हैं। इसी क्रम में भाजपा से बसपा में शामिल हुए एस.के. शर्मा ने उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma) पर आरोप लगाया है कि उन्होंने मथुरा के लोगों पर बिजली चोरी के साठ हजार फर्जी मुकदमे दायर करवाए हैं। एस.के. शर्मा (S.K.Sharma) इस समय मथुरा विधानसभा सीट से बसपा के प्रत्याशी हैं। मांट सीट से भाजपा (BJP) का टिकट कटने पर उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ पार्टी के भीत के शत्रुओं ने साजिश की है। इसको लेकर उन्होंने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को भी निशाने पर लिया।

बसपा उम्मीदवार एसके शर्मा (S.K.Sharma UP Election 2022) ने एक इंटरव्यू में कहा कि मैंने पार्टी या संगठन में कोई लाभ नहीं उठाया। पार्टी आलाकमान ने साल 2014 में वादा किया कि सरकार बनेगी तो आयोग में अध्यक्ष बनाएंगे। 2017 में मथुरा (Mathura Seat) से टिकट देने का वादा किया। फिर बाहर से लोग लेकर आए। इस बार 19 जनवरी को मुझे बुलाया और बताया कि मथुरा से फलां व्यक्ति को उम्मीदवार बनाएंगे। पार्टी ने कहा कि आप मांट से लड़िए। मैंने कहा कि मांट से क्या उपयोगिता है। न टीम है, न तैयारी है। पार्टी ने कहा कि हारे या जीतें चुनाव लड़िए। आपको एमएलसी और मंत्री बनाएंगे।

उन्होंने आगे कहा कि इसके बाद हमने पूरे दमखम से चुनाव लड़ा और जहां पार्टी के 200-300 वोट आते थे, वहां 2017 में 60 हजार वोट आए। हार जीत में सिर्फ 5 हजार का अंतर था। वो भी तब जब पार्टी का कोई भी पदाधिकारी मांट नहीं झांका। इतना ही नहीं धर्मेंद्र प्रधान ने 5 करोड़ रुपये का सीएसआर फंड हमको हराने के लिए दिया, जिन्हें मेरी जगह पर भाजपा को टिकट दिया गया है। राजनाथ सिंह ने भी सभा की थी, पूरी तैयारी की गई थी और आखिर में मेरा टिकट कैंसिल कर दिया गया। वहां भाजपा के जितने पदाधिकारी थे वो अलग-अलग दलों में भाग गए। जिस व्यक्ति को पार्टी ने निष्कासन का नोटिस दिया था उसे पार्टी ने टिकट दे दिया।

एस.के. शर्मा ने अपने प्रतिद्वंदी योगी सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा पर गंभी आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने जनता की सेवा की है लेकिन क्या सेवा की है? साठ हजार एफआईआर, बिजली कनेक्शन कटवाना। स्मार्ट मीटरों के माध्यम से जनता को लूटने का काम किया है।

मथुरा सीट पर श्रीकांत शर्मा के खिलाफ लोगों में जमकर नाराजगी दिखाई दे रही है। खुद भाजपा के समर्थकों का उनको लेकर अच्छा रेस्पॉन्स नहीं है। ज्यादातर समर्थकों ने कहा कि मथुरा से जीत भाजपा की ही होगी लेकिन वोट श्रीकांत शर्मा के नाम पर नहीं मिलेगा।

Next Story

विविध