Up Election 2022

UP Election 2022 : '16 हजार करोड़ के विमान में घूमने वाले प्रधानमंत्री किसानों को नहीं दे पाए गन्ना मूल्य', प्रियंका गांधी ने पूछा- क्यों नहीं गए लखीमपुर खीरी?

Janjwar Desk
25 Feb 2022 10:40 AM GMT
UP Election Result 2022 Live Update : लड़की हूं लड़ सकती हूं की पोस्टर गर्ल्स को नाराज करना कांग्रेस को पड़ा भारी, इस बार कांग्रेस को सिर्फ दो सीटें
x

UP Election Result 2022 Live Update : लड़की हूं लड़ सकती हूं की पोस्टर गर्ल्स को नाराज करना कांग्रेस को पड़ा भारी, इस बार कांग्रेस को सिर्फ दो सीटें

UP Election 2022 : गोंडा में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भाजपा और प्रधानमंत्री पर जमकर बोला....

UP Election 2022 : उत्तर प्रदेश में पांचवें चरण के चुनाव प्रचार से पहले कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर जमकर हमला बोला। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि 16 हजार करोड़ के प्लेन्स में घूमने वाले प्रधानमंत्री (Narendra Modi) किसानों को गन्ना मूल्य नहीं दे पाए। साथ ही उन्होंने लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर कहा कि वे बताएं कि पीड़ित किसानों से मिलने क्यों नहीं गए।

गोंडा में कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि जब किसानों और महिलाओं पर अत्याचार होता है तो सब दुबक कर बैठे जाते हैं। कोई भी सुनवाई करने नहीं आता है। किसान दिल्ली के बॉर्डर पर नरेंद्र मोदी के घर से 10 किमी दूरी पर खड़े रहे, 7000 किसान शहीद हो गए। तब हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहां थे जो प्रधानमंत्री 16 हजार करकोड़ रुपये के दो हवाई जहाज खरीदते हैं लेकिन गन्ना किसानों के बकाया को नहीं चुका पा रहे हैं।

प्रियंका गांधी ने इस दरान लखीमपुरी खीरी में हुई हिंसा का जिक्र करते हुए कहा कि जब उनके ही मंत्री के बेटे ने आंदोलनकारी किसानों पर गाड़ी चढ़ाकर कुचल डाला तो योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री मोदी पीड़ित किसानों से मिलने क्यों नहीं गए। बल्कि कुछ ही दिनों के बाद उसी मंत्री के साथ मंच साझा करते रहे और इस्तीफा तक नहीं मांगा।

कांग्रेस महासचिव ने आगे कहा कि भाजपा सरकार की मंशा आम आदमी को गरीब बनाए रखने की है। इसी कारण से नौकरी देने वाले सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने उद्योगपति दोस्तों को बेच दिया। छोटे-छोटे दुकानदारों को नुकसान पहुंचाया गया। नोटबंदी और जीएसटी के चलते भी दुकानदारों को काफी नुकसान पहुंचा है।

आवारा पशुओं के मुद्दे पर प्रियंका ने कहा कि सांड से किसान और आम लोग पांच साल तक परेशान रहे। सरकार ने उनकी सुध नहीं ली लेकिन अब चुनाव में उन्हें सांड याद आया है और इससे निजात पाने की तारीख 10 मार्च के बाद तय की है। साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोगों को गरीब बनाकर एक बोरे राशन और खाते में भेजे गए कुछ पैसे पर निर्भर कर दिया है।

Next Story

विविध