Up Election 2022

UP Election Result News : अखिलेश यादव चाचा शिवपाल को दे सकते हैं बड़ी जिम्मेदारी, बनेंगे विपक्ष का नेता

Janjwar Desk
13 March 2022 5:03 AM GMT
UP Election Result News : अखिलेश यादव चाचा शिवपाल को दे सकते हैं बड़ी जिम्मेदारी, बनेंगे विपक्ष का नेता
x
UP Election Result News : अखिलेश यादव लोकसभा में पार्टी का दबदवा कायम रखने के लिए करहल और आजम खान अपनी सीट से इस्तीफा दे सकते हैं। ऐसी स्थिति में शिवपाल यादव को यूपी विधानसभा में विपक्ष का नेता बनाया जा सकता है।

UP Election Result News : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव आने क बाद से भारतीय जनता पार्टी खेमें में जहा सरकार बनाने की कवायद तेज है तो दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी ( Samajwadi Party ) में हार पर मंथन चल रहा है। इसी बीच खबर यह है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अखिलेश यादव ( Akhilesh yadav ) के चाचा शिवपाल सिंह यादव ( Shivpal yadav ) को बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। ऐसा इसलिए कि अखिलेश यादव लोकसभा में पार्टी का दबदवा कायम रखने के लिए करहल और आजम खान अपनी सीट से इस्तीफा दे सकते हैं। ऐसी स्थिति में शिवपाल यादव ( Shivpal Yadav ) को यूपी विधानसभा में विपक्ष का नेता बनाया जा सकता है।

दरअसल, चुनाव परिणाम आने के बाद शिवपाल यादव ( Shivpal Yadav ) ने कहा है कि इस बार के चुनाव में जनता का मन सपा की तरफ था। समाजवादियों के पक्ष में माहौल पूरा था लेकिन पार्टी में ही कुछ कमियां रह गईं। अब इस बात पर सपा में मंथन चल रहा है कि कमी कहां रह गई।

शिवपाल यादव ( Shivpal Yadav ) ने कहा कि समाजवादी पार्टी की कमान फिलहाल पूरी तरह से अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) के हाथों में है। चुनाव कैंपेन में वो भी अकेले ही नजर आए। कहा जाता है कि टिकट बंटवारे में भी सिर्फ अखिलेश ने अंतिम फैसले लिए। ऐसे में ये कहा जा सकता है कि सपा का पूरा चुनाव अखिलेश यादव के हाथों में ही था। लिहाजा अब जब पार्टी को उम्मीद के मुताबिक नतीजे नहीं मिले हैं तो सवाल भी उनकी तरफ ही उठाए जा रहे हैं।

बता दें कि इस बार चाचा शिवपाल हर मोर्चे पर अखिलेश यादव का साथ देते नजर आये हैं, लेकिन शिवपाल यादव को ही पूरे चुनाव में सीमित रखा गया। अब शिवपाल कह रहे हैं कि अभी विश्लेषण नहीं किया है। सबसे पहले हार को लेकर मंथन करेंगे। इस बात पर विचार होगा कि हम चूक कहां गए। हम अपनी पार्टी को और ज्यादा मजबूत करने का काम करेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि चुनाव में हमारे जितने भी विधायक जीते हैं, उनका वोट शेयर बढ़ा है। कहीं न कहीं भाजपा को बड़ा फायदा हुआ है।

दूसरी तरफ सपा में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि शिवपाल यादव को अखिलेश यादव बड़ी जिम्मेदारी दे सकते हैं। शिवपाल को विपक्ष के नेता की जिम्मेदारी मिल सकती है। अगर ऐसा होता है तो ये बड़ा फैसला होगा क्योंकि 2017 के चुनाव से पहले चाचा-भतीजे में तलवार खिंच गई थी और लगातार पांच साल दूरियां रहीं। 2022 के चुनाव से ठीक पहले दोनों साथ तो आए तो लेकिन शिवपाल यादव एक तरह से हाशिये पर ही रहे।

अखिलेश और आजम विधायकी से दे सकते हैं इस्तीफा

चुनाव परिणाम आने के बाद ताजा संकेत यह है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल सिंह ( Shivpal yadav ) को यूपी विधानसभा में बड़ी जिम्मेदारी दे सकते हैं। शिवपाल को विपक्ष के नेता का जिम्मा सौंपा जा सकता है। अखिलेश यादव और आजम खान लोकसभा सदस्य बने रह सकते हैं। अखिलेश आजमगढ़ से लोकसभा सदस्य हैं। आजम खान रामपुर से लोकसभा सदस्य हैं। दोनों इस बार विधानसभा चुनाव भी जीत गए हैं। साफ। है कि दोनों के पास सांसदी और विधायकी है। दोनों को ही लोकसभा या विधानसभा में से किसी एक की सदस्यता से इस्तीफा देना पड़ेगा।

यदि सियासी प्रभाव की बात करें तो लोकसभा में समाजवादी पार्टी के महज 5 सांसद है। इसलिए राष्ट्रीय स्तर पर माहौल को देखते हुए समाजवादी पार्टी लोकसभा में कमजोर नहीं होना चाहती है। कहा जा रहा है कि कुछ समय बाद अखिलेश और आजम विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे सकते हैं।

फिर अखिलेश यादव लोकसभा में अपना दबदबा कम नहीं करना चाहते हैं। माना जा रहा है कि यूपी में भले ही सपा की सरकार नहीं बनी हो, लेकिन वह मजबूत विपक्ष के तौर पर उभरे हैं। इसलिए लोकसभा में अपनी उपस्थिति को बनाए रखना भी पार्टी के लिए बेहद जरूरी है।

अगर ऐसा होता है तो अखिलेश यादव विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे देते हैं। वह शिवपाल यादव के लिए रास्ता साफ कर देंगे और शिवपाल को विपक्ष के नेता की जिम्मेदारी मिल सकती है।

Next Story