Up Election 2022

Uttarakhand Election 2022 : पूर्व सीएम हरीश रावत खुद चुनाव लड़ेंगे या लड़ाएंगे, कांग्रेस क्यों नहीं खोल रही पत्ते?

Janjwar Desk
15 Jan 2022 6:39 AM GMT
Harish Rawat : आरोपों से आहत हरीश ने दी कांग्रेस मुख्यालय पर उपवास की धमकी, करारी हार के बाद भी कम नहीं हो रहे तेवर
x

आरोपों से आहत हरीश ने दी कांग्रेस मुख्यालय पर उपवास की धमकी, करारी हार के बाद भी कम नहीं हो रहे तेवर

Uttarakhand Election 2022 : रावत के चुनाव लड़ने के सवाल का जवाब जानने के लिए भाजपा और बाकी दल भी बेकरार हैं। रावत हर बार इस सवाल को बेहद सफाई से टाल जाते हैं....

Uttarakhand Election 2022 : उत्तराखंड के आगामी चुनावों की रणभेरी बज चुकी है। सभी राजनीतिक दल अपने-अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर रही है। वहीं कांग्रेस भी विधानसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों को तय करने के अंतिम दौर में आ चुकी है। उम्मीद है कि कांग्रेस (Congress) जल्द ही अपनी पहली लिस्ट जारी कर सकती है। उम्मीदवारों के चयन को लेकर अब भी सबस बड़ा सवाल यही उठ रहा है कि कांग्रेस के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) खुद भई चुनाव लड़ेंग या फिर चुनाव लड़वाएंगे?

रावत के चुनाव लड़ने के सवाल का जवाब जानने के लिए भाजपा (BJP) और बाकी दल भी बेकरार हैं। रावत हर बार इस सवाल को बेहद सफाई से टाल जाते हैं। रावत शुरू से कहते आ रहे हैं कि उनका चुनाव लड़ना या न लड़ना हाईकमान और प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल (Ganesh Godiyal) ही तय करेंगे। वो जहां स कहेंगे, मैं चुनाव लड़ने के लिए मैदान में उतर जाउंगा।

पार्टी के सू्त्रों की मानें तो हरीश रावत के पत्ते न खोलने की पीछे अहम वजह भी हैं। पहला तर्क यह दिया जा रहा है कि रावत के समर्थक उनके लिए ऐसी सीट तलाश रहे हैं जो अपेक्षाकृत सरल हो और उसक साथ ही उसका प्रभाव आसपास की अन्य सीटों पर भी पड़े। इसमें फोकस मैदान के बजाए पहाड़ की सीट पर ही ज्यादा है।

रावत को चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष होने के नाते प्रदेशभर में पार्टी के लिए प्रचार भी संभालना है। ऐसे में उनकी सीट पर असर नहीं पड़ना चाहिए। इससे भविष्य मं कांग्रेस के सत्ता में आने की स्थिति में आगे रणनीतिक रूप स फायदेमंद होगा। दूसरा तर्क यह दिया जा रहा है कि फिलहाल रावत चुनाव लड़ाने में पूरी ताकत लगाएं। बाद में जरूरत पड़ने पर वो अपनी सीट को भी खाली करा सकते हैं।

पूर्व सीएम हरीश रावत के मुख्य प्रवक्ता सुरेंद्र कुमार ने कहा, रावत जी प्रदेश के वरिष्ठ नेता हैं। 10 से ज्यादा सीटों पर पार्टी नेताओं ने उन्हें चुनाव लड़ने के लिए आमंत्रित किया है। रावत चुनाव लड़ेंगे और कहां से लड़ेंगे, यह पार्टी का रणनीतिक फैसला है। समय आने पर तस्वीर साफ हो जाएगी।

Next Story

विविध