वीडियो

Video: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा चुनाव जीतने के लिए फैला रहे अंतर्राष्ट्रीय झूठ, जानिये क्या कहा

Janjwar Desk
9 Nov 2022 4:15 AM GMT
x
Video: जेपी नड्डा के इस बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा है कि, तरस आता है आप पर नड्डा जी - कुछ नहीं तो पद का लिहाज़ कीजिए आपकी WhatsApp यूनिवर्सिटी की इस हवाबाज़ी की हवा तो विदेश मंत्रालय ने खुद ही निकाल दी थी...

Video: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हिमांचल और गुजरात चुनाव के बीच एक बयान दिया है। इस बयान के मुताबिक उन्होने कहा कि, यूक्रेन में 32 हजार हमारे बच्चे फंस गए थे। प्रधानमंत्री मोदी जी ने पुतिन को फोन किया, जेलेंस्की को फोन किया और युद्ध को रुकवाया। यूक्रेन से बच्चों को निकालकर भारत वापस लाया गया। जेपी नड्डा के इस बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा है कि, तरस आता है आप पर नड्डा जी - कुछ नहीं तो पद का लिहाज़ कीजिए आपकी WhatsApp यूनिवर्सिटी की इस हवाबाज़ी की हवा तो विदेश मंत्रालय ने खुद ही निकाल दी थी।

बता दें कि नड्डा का यह बयान चुनाव में राजनीतिक लाभ लेने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है। जबकी उस दौरान जो छात्र इस वार में फंसे थे, उनके लिए विदेश मंत्रालय ने कुछ और ही कहा था। इसे सुनिए आप... गौरतलब है कि रसिया यूक्रेन वार को लेकर भारतीय मीडिया ने भी भारत में मौजूदा सरकार की खूब हवा बनाई थी। तमाम आउटलेट्स ने झूठा दावा किया था कि रूस ने भारतीय नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिए "6 घंटे के लिए युद्ध रोक दिया"। जबकि MEA ने दावे का खंडन करते हुए इसे "बिल्कुल गलत" करार दिया था। आप MEA का बयान VIDEO में सुन सकते हैं। इस युद्ध में दो भारतीय छात्रों के मरने की भी बात सामने आई थी।

युद्ध आज भी चल रहा है। लेकिन अब यह झूठा दावा भाजपा अपनी चुनावी रैलियों में दोहरा रही है। जबकि असलियत भाजपा के दावों से कोसों दूर है। क्योंकि इसी भाजपा के उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंदिय़ा खुद यूक्रेन से बेइज्जति कराकर वापस लौटे थे। जिसके बाद यहां आकर खां मां खां की हवाबाजी बनाई गई। जितने भी छात्र आए उनसे जबरन मोदी जी की जय-जयकार लगवाई गई। जबरदस्ती मोदी जी थैंक्यू कहलवाया गया। ताजा इनपुट है कि यूक्रेन में अब भी भारतीय छात्रों सहित अन्य छात्र बने हुए हैं। कुछ छात्र दूसरे मुल्कों में निकल गये थे। तब भारत सरकार यानी PM मोदी ने कहा था कि मेडिकल छात्र पढ़ाई के लिए छोटे-छोटे देशों में ना जाएं, बल्कि यहीं रहें। लेकिन बाद में उन छात्रों को यहां ना तो पढ़ाई की सुविधा दी गई और ना ही उनका कोई हाल-खबर ही ली गई।

हमारे प्रधानमंत्री महज बोलकर बगल हो जाते हैं। मजाल है कभी मुँह से निकली बात को याद भी रखा हो। जनता आज भी 15 15 लाख का इंतजार कर रही है। खैर..नेता झूठा ना हो तो काहे का नेता। प्रवीण नाम के यूजर ने लिखा है, जो महोदय यह बोल रहे थे कि मोदीजी ने फोन करके रूस और यूक्रेन के युद्ध रुकवा दिया, उन्हें कोई बताए कि मोदीजी के फ़ोन करने से भाजपा के बागी उम्मीदवार अपना पर्चा भी वापिस नहीं ले रहे। यूजर प्रवीण हिमाचल भाजपा से बागी हुए कृपाल परमार की बात कर रहे, जिन्हें बीते दिन कथित इश्वर मोदी ने फोन कर चुनाव ना लड़ने के लिए कहा था। इसका वीडियो भी परमार ने ही वायरल करवाया था।

Next Story

विविध