वीडियो

दिल्ली पुलिस के लॉक-अप में फोन पर बात करते दिखे गैंग्स्टर, वायरल वीडियो में दारू, चखना, और सिगरेट का भी लिया जा रहा मजा

Janjwar Desk
29 Aug 2021 4:30 PM GMT
दिल्ली पुलिस के लॉक-अप में फोन पर बात करते दिखे गैंग्स्टर, वायरल वीडियो में दारू, चखना, और सिगरेट का भी लिया जा रहा मजा
x

लॉक-अप के भीतर खातिरदारी करवाते दिल्ली के सबसे खतरनाक गैंग्स्टर (photo-indian express)

24 सेकंड के इस वीडियो में कथित तौर पर चार लोग राहुल काला और नवीन बाली के साथ पुलिस लॉक-अप के अंदर बैठे हैं और शराब, चिप्स व अन्य खाद्य पदार्थों का मजा ले रहे हैं। सभी को एक गद्दे पर बैठे देखा जा रहा है...

जनज्वार ब्यूरो। दिल्ली से एक वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो में जेल के भीतर बंद गैंगस्टर नीरज बवाना के साथी राहुल काला और नवीन बाली कथित तौर पर एक लॉक-अप के अंदर बैठे हैं। वीडियो हैरान करता है क्योंकि, लॉक-अप में गैंग्स्टर शराब और स्नैक्स का आनंद लेते दिखाई रहे हैं।

बताया जा रहा है कि, दोनों एक मामले के सिलसिले में 5 अगस्त को फिर से गिरफ्तार होने से पहले मंडोली जेल में थे, और जेल लौटने से पहले उन्हें 10 अगस्त तक स्पेशल सेल द्वारा पुलिस रिमांड पर लिया गया था। वीडियो में दिखाई दे रहे बदमाश दिल्ली के सबसे बड़े गैंग्स्टर नीरज बवाना के मुकदमेंवार हैं।

24 सेकंड के इस वीडियो में कथित तौर पर चार लोग राहुल काला और नवीन बाली के साथ पुलिस लॉक-अप के अंदर बैठे हैं और शराब, चिप्स व अन्य खाद्य पदार्थों का मजा ले रहे हैं। सभी को एक गद्दे पर बैठे देखा जा रहा है। इस सहित बदमाश फोन पर बात करते हुए और धूम्रपान करते भी दिखाई दे रहे हैं। वहीं, दो व्यक्तियों को लॉक-अप के बाहर बैठे देखा जा सकता है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, इस वायरल हुए वीडियो की जानकारी करने पर, डीजी (तिहाड़ जेल) संदीप गोयल ने कहा, 'हम इस पर गौर करेंगे। वहीं, दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता, चिन्मय बिस्वाल ने कहा है 'वीडियो की पुष्टि नहीं है और पुलिस लॉक-अप में शराब नहीं परोसी जाती है।'

गौरतलब है कि, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दोनो गैंग्स्टर्स को तहकीकात के लिए जेल से हिरासत में लिया था। दोनो पर एक पुराने मामले में, रोहिणी जेल में कस्टडी के दौरान दूसरे गैंग के अपराधी को जान से मारने की साजिश का आरोप था। स्पेशल सेल ने इस मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी।

पुलिस ने उनके खिलाफ तकनीकी साक्ष्य जुटाने के बाद जांच शुरू की थी। दोनो गैंग्स्टर्स को मंडोली जेल से गिरफ्तार करने के बाद दिल्ली की स्पेशल सेल लॉक-अप में ले जाया गया था।, जहां से दोनो 10 अगस्त को मंडोली जेल वापस भेजे गये। इनका एक सहयोगी साहिल उर्फ ​​चिंटू जो अभी रोहिणी जेल में बंद है उसे भी गिरफ्तार किया गया था।

दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि, दोनों नीरज बवाना के लिए काम करते हैं और जेल के अंदर से जबरन वसूली करते हैं। राहुल को 2014 में उस समय गिरफ्तार किया गया था जब उसने अपने सहयोगी रवि के साथ बाहरी दिल्ली स्थित बवाना के सुल्तानपुर डबास गांव में रोड रेज की एक घटना को अंजाम देते हुए दो भाइयों की हत्या कर दी थी। पुलिस ने उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था।

Next Story

विविध

Share it