वीडियो

'अइसा कंटाप मारूंगी उद्धव ठाकरे को कि बत्तीसी बाहर आ जाएगी' BJP मेयर का महाराष्ट्र CM को लेकर बेतुका बयान

Janjwar Desk
3 Sep 2021 4:59 PM GMT
अइसा कंटाप मारूंगी उद्धव ठाकरे को कि बत्तीसी बाहर आ जाएगी BJP मेयर का महाराष्ट्र CM को लेकर बेतुका बयान
x

(कानपुर मेयर प्रमिला पांडेय ने कहा उद्धव को मारूंगी कंटाप)

कानपुर मेयर प्रमिला पांडेय का जो विवादित वीडियो वायलरल हुआ है, उसमें उनके पीछे मौजूदा बीजेपी पार्षद नवीन पंडित खड़े नजर आ रहे हैं। बता दें कि, नवीन पंडित पहले कांग्रेस पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ता हुआ करते थे...

जनज्वार। भाजपा से केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Narayan Rane) के बाद अब उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर शहर की मेयर प्रमिला पाण्डेय (Kanpur Mayor) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने उद्धव ठाकरे को कंटाप मारने की बात कही है।

दरअसल, मेयर प्रमिला पाण्डेय उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के इस बयान से इतनी ज्यादा आगबबूला थीं कि वे अपना आपा ही खो बैठीं और गुस्से में पार्टी अनुशासन और सामाजिक जीवन में कैसे शब्दों का उपयोग किया जाना चाहिए, वे यह सब भी भूल गईं। उन्होंने उद्धव ठाकरे (FIR Against Uddhav Thackeray) के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करवाया है।

क्या-क्या कहा मेयर ने


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को चप्पल से मारे जाने वाले पुराने बयान को लेकर प्रमिला पाण्डेय ने कहा, 'अगर उद्धव ठाकरे उत्तर प्रदेश में आ जाए तो मैं उन्हें बता दूंगी कि चप्पल कैसे चलाई जाती है। मैं उन्हें चप्पल तो नहीं मारूंगी। यह हमारी पार्टी की संस्कृति नहीं है। लेकिन मैं उन्हें ठूसा (घूंसा) मार-मार कर बेदम कर दूंगी।'

उन्होने आगे कहा कि, 'मैं इंतज़ार नहीं करूंगी, मैं वो कंटाप (Slap) मारूंगी की उसकी बत्तीसी हाथ में जायेगी। ठाकरे में अगर दम हो तो वो कानपुर (Kanpur) में किसी हवाई अड्डे, बस स्टॉप या रेलवे स्टेशन पर आकर दिखाएं। अगर अपनी मां का दूध पिया है तो आकर दिखा दें। मैंने अपनी मां का दूध पीया है, मैं उनको बता दूंगी।' आपको बता दें कि सीएम उद्धव ठाकरे ने बीते साल उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को चप्पल से मारने वाला विवादित बयान दिया था।

राजनीतिक विरासत संभाल रहे उद्धव

प्रमिला पाण्डेय (Pramila Pandey) ने कहा कि, 'उद्धव ठाकरे को राजनीतिक विरासत बाल ठाकरे से मिली हुई है। उन्होंने खुद के दम पर कुछ नहीं किया है। उन्हें जनता के दुख दर्द के बारे में कुछ नहीं पता है। लेकिन हमारे मुख्यमंत्री ने सांसद रहते हुए जनता के दुख दर्द को समझा, वे जनता की तकलीफ समझते हैं। उन्होंने कहा कि जिस दिन उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग महाराष्ट्र को छोड़ देंगे, उस दिन वहां के लोग दाने-दाने को मोहताज हो जाएंगे। उद्धव ठाकरे के खिलाफ मेरा संघर्ष जारी रहेगा।'

राणे ने भी दिया था उल्टा बयान

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने भी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thakrey) को कान के नीचे थप्पड़ मारने वाला विवादित बयान दिया था। राणे के इस बयान के बाद महाराष्ट्र की सियासत में भूचाल आ गया था और उन्हें महाराष्ट्र के चिपलुन शहर में स्थानीय पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया था। जिसके बाद अदालत ने उन्हें किसी भी तरह के विवादित बयान ना देने का आदेश दिया था।

महापौर ने तो लंका लगा दी

शिवसेना प्रवक्ता आनंद दुबे (Anand Dubey) ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि, 'मेयर साहिबा को उद्धव ठाकरे के उस बयान के पीछे के हालातों को समझना चाहिए। वे कई बार अयोध्या जा चुके हैं। राम मंदिर बने ऐसी उनकी भूमिका है। बीजेपी नेत्री कितनी सुसंस्कृत हैं, यह उनके उद्धव ठाकरे के सन्दर्भ में दिए बयान से समझ आता है। उनका बयान दुर्भाग्यपूर्ण है। साथ ही उनके बयान से बीजेपी का चरित्र और चेहरा समझ में आता है। उद्धव ठाकरे का सम्मान पूरे देश में है। वे उन्हें कानपूर या उत्तर प्रदेश आने से क्या रोकेंगी, उनको जवाब देने के लिए हमारे शिवसैनिक कानपुर में भी मौजूद हैं।'

नवीन पंडित भी रहे साथ

कानपुर मेयर प्रमिला पांडेय का जो विवादित वीडियो वायलरल हुआ है, उसमें उनके पीछे मौजूदा बीजेपी पार्षद नवीन पंडित (Naveen Pandit) खड़े नजर आ रहे हैं। बता दें कि, नवीन पंडित पहले कांग्रेस पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ता हुआ करते थे। 2017 में पूर्ण बहुमत की सरकार बनने के बाद पंडित भाजपा में जा बसे थे। मेयर के इस विवादित बयान के पीछे पंडित का बहुत कुछ हाथ बताया जा रहा है। जो वीडियो में बयान देते समय मेयर के कान में कुछ कहते दिख रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it