वीडियो

नरसिंहानंद का सामने आया पुराना जहर, BJP की महिला नेताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी का वीडियो वायरल

Janjwar Desk
29 Aug 2021 9:30 AM GMT
नरसिंहानंद का सामने आया पुराना जहर, BJP की महिला नेताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी का वीडियो वायरल
x
कथित हिंदूवादी संत यति नरसिंहानंद (फाइल फोटो)
नरसिंहानंद सरस्वती ने वीडियो में दावा किया कि 'भाजपा की जितनी महिला नेताएं आपको नजर आ रही हैं, वो एक नेता के पास गईं और दूसरे के पास नहीं गईं तो दूसरा उनका काम नहीं करेगा। इसी तरह उन्हें तीसरे से काम है तो तीसरे के पास भी जाना पड़ेगा...

जनज्वार। कथित हिंदूवादी संत यति नरसिंहानंद (Yeti Narsinmhanand) सरस्वती ने इस बार भाजपा की महिला नेताओं के खिलाफ जहर उगला है। संत का एक वीडियो का जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वह महिलाओं के लिए आपत्तिजनक बातें करते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस वायरल हुए वीडियो को लेकर भाजपा ने नरसिंहानंद से नाराजगी जाहिर की है तो वहीं संत की गिरफ्तारी के लिए भी मांग उठ रही है।

गौरतलब है कि, नरसिंहानंद सरस्वती गाजियाबाद के शिव-शक्ति मंदिर के महंत हैं। हालांकि यह वीडियो कब का है इसकी पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन बड़े पैमाने पर हो रहे विरोध के चलते यह वीडियो चर्चा विषय बन रहा है। वायरल वीडियो के खिलाफ भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने भी पुलिस से नरसिंहानंद सरस्वती को गिरफ्तार करने की मांग की है।

हालांकि, इस वीडियो की पड़ताल करने पर यह पुराना पाया गया। वीडियो 4 जुलाई का है, लेकिन है आपत्तिजनक। वीडियो में महंत महिलाओं के प्रति अभद्र टिप्पणी करते हुए सुनाई दे रहे हैं। संत कह रहे हैं कि, 'इतनी महिलाएं आजकल राजनीति में घूम रही हैं, पूरा मजा आ रहा है।' उन्होंने कहा कि 'आजकल सरकारी ठेकों का दाम 10 प्रतिशत हो गया है।'

नरसिंहानंद सरस्वती ने वीडियो में दावा किया कि 'भाजपा की जितनी महिला नेताएं आपको नजर आ रही हैं, वो एक नेता के पास गईं और दूसरे के पास नहीं गईं तो दूसरा उनका काम नहीं करेगा। इसी तरह उन्हें तीसरे से काम है तो तीसरे के पास भी जाना पड़ेगा।'

यति नरसिंहानंद सरस्वती ने इस वीडियो के दौरान उत्तर प्रदेश में सपा सरकार से लेकर मायावती सरकार तक और मौजूदा भाजपा तक महिलाओं की उपस्थिति पर अपनी गणित जाहिर की है। संत ने आरोप लगाया कि 'बसपा में महिलाओं को टिकट देने के लिए कोई नेता सिफारिश नहीं कर सकता है, अगर ऐसा कोई करता है तो उसका भी टिकट कट जाता है।'

इसके अलावा यति नरसिंहानंद ने समाजवादी पार्टी की सरकार को डकैतों की सरकार बताते हुए हमला बोला, कहा कि 'यहां औरतें किसी एक की होती थीं, भले ही उस एक के पास कितनी भी औरतें हों। लेकिन जो एक की है, वो एक की है।'

नरसिंहानंद के इस बयान पर भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि यति नरसिंहानंद सरस्वती की महिलाओं के प्रति सोच किसी भगवाधारी की हो ही नहीं सकती। मिश्रा ने नरसिंहानंद को 'जिहादी सोच से बीमार कोई कुंठित आदमी' बताते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) और यूपी पुलिस से गिरफ़्तारी की मांग की है। कपिल मिश्रा ने कहा कि ये व्यक्ति मां जगदम्बा के मंदिर में बैठने योग्य नहीं है।

पहले भी उगला है, जहर

यति नरसिंहानंद का यह कोई पहला मामला नहीं है जब संत ने महिलाओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की हो। इससे पहले भी लव जिहाद से जुड़े मामलों पर मुस्लिम और हिंदू महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल कर चुके हैं। तब भी खूब विवाद हुआ था, लेकिन इस बार का विवाद डॉयरेक्ट भाजपा नेत्रियों से जुड़ा है। नारी को शक्ति बताने वाली पार्टी और उसके मुखिया नरसिंहानंद पर क्या एक्शन लेते हैं, देखने वाली बात रहेगी।

Next Story

विविध

Share it