वीडियो

सामूहिक दुष्कर्म के बाद मेरी बच्ची की बोटी-बोटी करने वालों को लटकाया जाये फांसी पर : राबिया सैफी के पिता की मांग

Janjwar Desk
17 Sep 2021 11:24 AM GMT
x
राबिया के पिता क​हते हैं मेरी बच्ची के गैंगरेप के बाद हत्या मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाए और असली गुनहगार को फांसी की सजा मिले, इसके अलावा राबिया के केस को फरीदाबाद से दिल्ली ट्रांसफर किया जाए...

दिल्ली, जनज्वार। महिला पुलिस कांस्टेबल राबिया सैफी की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या मामले को लेकर पूरे देश में आक्रोश देखने को मिला। जगह-जगह लोग हत्यारे को फांसी के मांग को लेकर कैंडल मार्च करते नजर आए। इस दौरान दिल्ली में महिला सुरक्षा व्यवस्था पर एक बार फिर सवाल खड़े हुए, लेकिन घटना के करीब 20 दिन बीत जाने के बाद भी मामले में किसी और की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

राबिया सैफी (Rabia Saifi) का परिवार लगातार सीबीआई जांच और फांसी की मांग कर रहा है। राबिया (Rabia) के पिता ने जनज्वार ने खास बातचीत की और मामले में हरियाणा पुलिस की कार्रवाई को लेकर असंतुष्टि जताई। बातचीत के दौरान राबिया के पिता बताते हैं कि बेटी के मौत को लेकर तरह तरह की बातें बनाई जा रही है। लेकिन उन्हें लगता है कि हत्या के पीछे कोई बड़ी साजिश है जिसे छिपाने की कोशिश की जा रही है। राबिया के पिता ने इस मामले में निजामुद्दीन (Nizamuddin) के अलावा और भी लोगों के संलिप्तता की बात कही है। वे कहते हैं कि राबिया डीएम ऑफिस (DM office) में कार्यरत थी लेकिन अब तक वहां से कोई भी खबर पूछने तक नहीं आया।

जनज्वार से बातचीत के माध्यम से राबिया सैफी के पिता ने बेटी को इंसाफ दिलाने की मांग प्रशासन के सामने रखी। राबिया के पिता के अनुसार वे चाहते हैं कि मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाए और असली गुनहगार को फांसी की सजा मिले। इसके अलावा उनकी मांग है कि राबिया के केस को फरीदाबाद से दिल्ली ट्रांसफर किया जाए।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल राबिया सैफी का शव 28 अगस्त को फरिदाबाद के सुरजकुंड से बरामद किया गया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार राबिया के साथ सामूहिक दुष्कर्म (gandrape) हुआ औऱ फिर हत्या कि गई। राबिया के शरीर पर कई बार चाकुओं से वार किया गया और मारने के बाद शव को सूरजकुंड के जंगल में फेंक दिया गया।

मामले में निजामुद्दीन नामक शख्स ने खुद को राबिया का पति बताते हुए कलिंदी कुंज थाना में आत्मसमर्पण किया और हत्या की जिम्मेदारी ली। निजामुद्दीन ने बताया कि उसने राबिया के साथ कोर्ट मैरेज की थी पर राबिया का किसी सीनियर के साथ अफेयर चल रहा था, जिससे नाराज होकर उसने 26 अगस्त को राबिया की हत्या कर दी।

Next Story

विविध

Share it