दुनिया

Serial Rapist America : 1980 के दशक के सीरियल रेपिस्ट को मिली 650 साल की सजा, 8 महिलाओं को बनाया था हवस का शिकार

Janjwar Desk
3 April 2022 3:52 AM GMT
Serial Rapist America : 1980 के दशक के सीरियल रेपिस्ट को मिली 650 साल की  सजा, 8 महिलाओं को बनाया था हवस का शिकार
x

Serial Rapist America : 1980 के दशक के सीरियल रेपिस्ट को मिली 650 साल की सजा, 8 महिलाओं को बनाया था हवस का शिकार

Serial Rapist America : अमेरिका के टेनिसी प्रांत के शेल्बी काउंटी इंड.. में जज ने एक सीरियल रेपिस्ट को कई मामलों में दोषी करारा देते हुए 650 साल की सजा सुनाई है।

Serial Rapist America : अमेरिका के टेनिसी प्रांत के शेल्बी काउंटी इंड (Shelby County) में जज ने स्टीवन रे हेस्लर (Steven Ray Hessler) नाम के एक सीरियल रेपिस्ट (Serial Rapist) को कई मामलों में दोषी करार देते हुए 650 साल की सजा सुनाई है। सीरियल रेपिस्ट हेस्लर दशकों तक पुलिस को छकाता रहा, अंत में पकड़ा गया। इसके बाद अदालत (Court) ने सबूतों के आधार पर उसे दोषी करार दिया है।

जज ने स्टीवन रे हेस्लर को उनकी 19 मामलों के लिए 650 साल जेल की सजा सुनाई है। स्टीवन रे हेस्लर ने आठ महिला को अपने हवस का शिकार बनाया था। इसमें एक 16 साल की लड़की भी शामिल है। अपराधों को अंजाम देने के दौरान उसने कुल 10 लोगों को हिंसा का शिकार बनाया, जिनमें दो पुरुष भी शामिल हैं।

सीरियल ​रेपिस्ट ने 1982 से 1985 के दौरान इन वारदातों को अंजाम दिया। वारदातों को अंजाम देने के बाद भी वो पुलिस से बचता रहा लेकिन एक लिफाफे से उसका राज खुल गया। दरअसल, जब हेस्लर ने अंतिम क्राइम की घटना को अंजाम दिया था तो मौके से पुलिस को एक लिफाफा मिला था। लिफाफे का डीएनए टेस्ट कराने के बाद पता चला कि इन अपराधों को अंजाम देने वाला हेस्लर ही था। उसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और अदालत में साबित किया कि वही दोषी है।

हेस्लर ऐसे देता था वारदात को अंजाम

अमेरिका टेनेसी प्रांत के शेल्बी काउंटी का सीरियल रेपिस्ट स्टीवन रे हेस्लर रेप की घटनाओं को मायावी तरीके से अंजाम देता था। किसी भी घटना को देने से पहले वो मायावी रूप धारण करता था। कोई उसे पहचान न सके इस बात को सुनिश्चित करते के लिए वह खुद को एक भारी कोट में ढक लेता था। उस समय कोरोना महामारी का दौर नहीं था इसके बावजूद वह अपने चेहरे को स्की मास्क या लेगिंग से ढक लेता था। वह रात में चाकू या बंदूक से लैस होकर घर में घुसता था। पीड़ितों को जगाकर पहले आतंकित और टॉर्चर करता था। उसके बाद रेप की घटना को अंजाम देता था। सीरियल रेपिस्ट के खौफ का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि शेल्बी काउंटी की महिलाएं उसके नाम से भी खौफजदा हो जाती थी।

कैसे हुआ सीरियल रेपिस्ट का खुलासा

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक काउंटी में उसके अंतिम ज्ञात हमले के 35 साल बाद जांचकर्ता को उसकी पहचान तक पहुंचने में तब सफलता मिली जब पानी के बिल के लिफाफे का डीएनए कराया गया। ​फिर उसका मिलान हेसलर के डीएनए से कराया गया तो सारा भेद खुल गया। यह लिफाफा 17 अगस्त, 1985 को काउंटी में उनके अंतिम ज्ञात अपराध की जगह मिला था। इसके बाद शेल्बी काउंटी पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। एक महीने बाद एक जूरी ने हेस्लर को बलात्कार के दो मामले, गैरकानूनी आचरण के 6 मामलों, सेंधमारी के 7 मामले, शारीरिक चोट, आपराधिक आचरण के 3 मामले और डकैती के एक मामले में दोषी करार दिया।

इस बारे में दक्षिण-पूर्व शेल्बी काउंटी के अभियोजक जेम्स बी लैंडवेर्लेन ने कहा कि 14 अगस्त 1982 से 17 अगस्त 1985 तक हेस्लर ने 10 पीड़ितों पर क्रूरता से हमला किया। इनमें सात महिलाएं, एक 16 वर्षीय लड़की और दो पुरुष शामिल हैं।

लोक अभियोजक लैंडवर्लेन ने कहा कि स्टीवन रे हेस्लर सबसे खतरनाक सीरियल रेपिस्टों में से एक है। वह एक ऐसा क्रूर अपराधी है जिसके खिलाफ मुकदमा चलाने में मुझे मजा आया। मेरे लिए यह केस काफी उलझा और चुनौतीभरा साबित हुआ। लैंडवेर्लेन ने कहा कि इन हमलों का उनके जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ा है। वहीं दोषी के वकील ब्रायन एल कुक का कहना है कि हेसलर ने सजा के खिलाफ अपील करने की योजना है।

Next Story

विविध