Top
दुनिया

नेपाल बॉर्डर पर फायरिंग की घटना के बाद बिहार से लगी सीमाओं पर बढ़ी चौकसी, बंधक भारतीय के रिहा होने की खबर

Janjwar Desk
13 Jun 2020 6:06 AM GMT
नेपाल बॉर्डर पर फायरिंग की घटना के बाद बिहार से लगी सीमाओं पर बढ़ी चौकसी, बंधक भारतीय के रिहा होने की खबर
x
नेपाली सैनिकों की अंधाधुंध फायरिंग में हो गया था गंभीर रूप से घायल किसान विकेश कुमार, जिसकी थोड़ी देर बाद मौत हो गयी
बिहार के नेपाल से लगे बॉर्डर पर 12 जून को नेपाल के जवानों द्वारा की गई फायरिंग में एक किसान की हुई थी मौत और कुछ लोग घायल, नेपाली सैनिक एक ग्रामीण को पकड़कर ले गये थे अपने साथ...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। नेपाल की सीमा से लगे बिहार के आधा दर्जन सीमावर्ती जिलों में चौकसी बढ़ा दी गई है। इन इलाकों में गश्ती तेज हो गई है और एसएसबी तथा बिहार पुलिस चौकन्नी है। जवान लगातार पेट्रोलिंग कर रहे हैं। प्रशासन इसे स्थानीय स्तर की झड़प मानता है और इसकी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेज दिए जाने की सूचना सामने आ रही है।

इस बीच नेपाली अधिकारियों के साथ भारतीय अधिकारियों की हुई उच्चस्तरीय वार्ता के बाद अपहृत रामलगन राय को नेपाल पुलिस द्वारा शनिवार 13 जून को रिहा कर दिए जाने की खबर है। हालांकि अभी इस बात की आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की गयी है। शुक्रवार 12 जून को उसकी रिहाई की मांग को लेकर स्थानीय ग्रामीण भारी संख्या में बॉर्डर पर इकट्ठे हो गए थे।

शुक्रवार 12 जून को सीतामढ़ी जिले के सोनबरसा के जानकीनगर स्थित लालाबंदी में नेपाल से लगे बॉर्डर पर नेपाल के जवानों और ग्रमीणों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी। झड़प के दौरान नेपाल के जवानों द्वारा लगभग 20 राउंड फायरिंग की बात भी सामने आई थी। फायरिंग में गोली लगने से पिपरा परसाई गांव निवासी किसान विकेश कुमार की मौत हो गई थी, जबकि उमेश राम व उदय शर्मा जख्मी हो गए थे। रामलगन राय को नेपाल के जवान साथ लेकर चले गए थे।

स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि खुला बॉर्डर है, गांव के लोगों का उधर और उधर के लोगों का इधर आना-जाना सामान्य सी बात है। पूर्व में कभी ऐसी कोई घटना नहीं हुई। मृतक विकेश राय के पिता जगन्नाथ राय का कहना है कि विकेश की पत्नी अपनी माँ से मिलने बॉर्डर पर गई थी। वहां किसी बात को लेकर नेपाली जवानों के साथ बकझक होने लगी। उसके बाद दूसरे नेपाली जवान ने फायरिंग शुरू कर दी।

अंतरराष्ट्रीय मामला होने के कारण एसएसबी और स्थानीय प्रशासन इसे लेकर काफी संवेदनशील है। एसएसबी और बिहार सरकार द्वारा इसे स्थानीय स्तर और स्थानिक कारणों से हुई झड़प बताते हुए केंद्र सरकार को रिपोर्ट भेजे जाने की सूचना है।

उधर नेपाल सीमा पर हुई झड़प के बाद बिहार के आधा दर्जन जिलों से लगे नेपाल के बॉर्डर पर पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है। पश्चिम चंपारण के बेतिया के नेपाल बॉर्डर पर एसएसबी के जवान गश्त जर रहे हैं। यहां के बॉर्डर पर चल रहा बांध निर्माण का कार्य भी फिलहाल बंद कर दिया गया है।

सीतामढ़ी से सटे गुआबारी बॉर्डर पर सख्ती बढ़ा दी गई है। कल 12 जून की घटना के बाद आवागमन बंद हो गया है। अररिया जिला के नरपतगंज के फुलकाहा, घूरना, बसमतिया थाना क्षेत्रों के नेपाल से लगे बॉर्डर पर स्थिति सामान्य बताई जा रही है।

किशनगंज जिले की नेपाल सीमा पर अभी स्थिति सामान्य है, पर पूर्व में हल्की-फुल्की झड़प की बात सामने आ रही है। मधुबनी जिला के अराहा,लगदी,महुलिया आदि सीमा क्षेत्रों में कल सीतामढ़ी में हुई घटना के बाद गश्ती बढ़ा दी गई है। सुपौल जिला के भीमनगर स्थित सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है और आने-जाने वालों की सख्ती से जांच की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it