दुनिया

Al Qaeda al-Zawahiri Killed : अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा गया आतंकी अल जवाहिरी, 21 साल से US के निशाने पर था जवाहिरी

Janjwar Desk
2 Aug 2022 3:15 AM GMT
Al Qaeda al-Zawahiri Killed : अमेरिकी ड्रोण हमले में मारा गया आतंकी अल जवाहिरी,
x

Al Qaeda al-Zawahiri Killed : अमेरिकी ड्रोण हमले में मारा गया आतंकी अल जवाहिरी,

Al Qaeda al-Zawahiri Killed : अमेरिकी ड्रोन हमले में अल जवाहिरी मारा गया।

Al Qaeda al-Zawahiri Killed : अलकायदा ( Al Qaeda ) का चर्चित सरगना अल जवाहिरी ( Ayman al Zawahiri ) अमेरिकी ड्रोन अटैक हमले में मार गिराया गया है। अल जवाहिरी ओसमा बिन लादेन के 11 साल बाद मारा गया। अल जवाहिरी काबुल के घर में छिपा हुआ था। अमेरिका ( America ) द्वारा यह ड्रोन अटैक ( America Drone attack ) 31 जुलाई की रात को किया गया। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ( Jo Biden ) ने अल जवाहिरी ( al Zawahiri ) को मार गिराने की पुष्टि की है। जो बाइडेन ने अल जवाहिरी के ड्रोन अटैक ( Drone attack ) में मारे जाने के बाद कहा कि अलकायदा सरगना अयमान अल जवाहिरी काबुल ( kabul ) में हवाई हमले में मारा गया है। जो बाइडेन ने कहा कि न्याय कर दिया गया है। चाहे कितना भी समय लगे। चाहे आप कहीं भी छिप जाएं। अगर आप हमारे लोगों के लिए खतरा हैं तो अमेरिका आपको ढूंढेगा और आपको बाहर निकालेगा।

दोहा समझौते का उल्लंघन

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के बाद तालिबान ( Taliban ) ने भी काबुल में अमेरिकी ड्रोन अटैक की पुष्टि की है। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने ट्विट कर कहा कि काबुल शहर के शेरपुर इलाके में 31 जुलाई को एक रिहायशी मकान पर हवाई हमला किया गया था। जबीउल्लाह ने आगे कहा कि पहले इस हमले के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी लेकिन इस्लामिक अमीरात की सुरक्षा और खुफिया सेवाओं द्वारा जांच के बाद यह निर्धारित किया गया कि यह एक अमेरिकी ड्रोन द्वारा किया गया था। मुजाहिद ने इस हमले की निंदा करते हुए कहा कि यह अंतरराष्ट्रीय सिद्धांतों और दोहा समझौते का स्पष्ट उल्लंघन है।

कौन था अल जवाहिरी

तालिबान का आतंकी सरगना अल ज़वाहिरी ( Ayman al Zawahiri ) ओसमा बिन लादेन के मारे जाने के बाद अल कायदा का सबसे बड़ा चेहरा था।् ओसामा बिन लादेन को 11 साल पहले अमेरिका के सील कमांडोज ने पाकिस्तान के जलालाबाद के एटवाबाद में मार गिराया था। वैसे तो अल ज़वाहिरी कई आतंकी घटनाओं को अंजाम दे चुका है लेकिन अमेरिका ने 11 सिंतबर 2001 को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर और पेंटागन के टावरों पर हुए हमलों में लगभग 3,000 लोग मारे जाने के बाद उसकी तलाश शुरू की थी।् 2001 में अफगानिस्तान पर अमेरिका के हमले के बाद ओसामा बिन लादेन और अल ज़वाहिरी दोनों ही अफगानिस्तान छोड़कर भाग गए थे।

कहां छिपा था आतंकी सरगना जवाहिरी

अल ज़वाहिरी ( Al Zawahiri ) का ठिकाना 21 साल से एक रहस्य बना हुआ था। 2020 के अंत से अफवाहें फैलीं कि अल जवाहिरी बीमारी की वजह से मर चुका है लेकिन यूएन एनालिटिकल सपोर्ट एंड सेंक्शन मॉनिटरिंग टीम की एक हालिया रिपोर्ट ने यह स्पष्ट किया कि जवाहिरी अफगानिस्तान ( Afghanistan ) में रह रहा था और बेहद आराम से संवाद कर रहा था। लगातार फैलती अफवाहों के बीच अल ज़वाहिरी के जिंदा होने के सबूत अल कायदा द्वारा समय.समय पर जारी किए जाने वाले वीडियो संदेशों से मिलता था। यूएन की रिपोर्ट में अल कायदा ( Al Qaeda ) और इस्लामिक स्टेट सहित आतंकवादी समूहों की बढ़ती ताकत के खिलाफ भी चेतावनी दी थी जो दुनिया के लिए एक बड़ा खतरा है।

Next Story

विविध