दुनिया

US में पीएम मोदी सहित गौतम अडानी और सीएम जगत मोहन के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Janjwar Desk
1 Sep 2022 4:12 PM GMT
US में पीएम मोदी सहित गौतम अडानी और सीएम जगत मोहन के खिलाफ मुकदमा दर्ज
x

file photo 

America News : अमेरिकी कोर्ट में उद्योगपति गौतम अडाणी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगत मोहन रेड्डी के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है...

America News : अमेरिकी कोर्ट में उद्योगपति गौतम अडाणी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगत मोहन रेड्डी के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। इस मामले में तीनों को अमेरिकी कोर्ट की तरफ से समन भी जारी कर दिया गया है। बता दें पेगासस, भ्रष्टाचार समेत कई मुद्दों को लेकर मुकदमा रिचमंड के डॉक्टर लोकेश वय्यूरू ने दर्ज कराया है।

वकील रवि बत्रा ने मुकदमे को बताया बेबुनियादी

हालांकि न्यूयॉर्क में आम भारतीय-अमेरिकी वकील रवि बत्रा ने पहले से इसे खत्म मुकदमा करार कर दिया है। उनका कहना है कि यह मुकदमा बिलकुल बेबुनियाद है। वकील रवि बत्रा ने यह भी कहा कि डॉक्टर लोकेश वय्यूरू के पास बहुत खाली वक्त है। वहीं, यूएस डिस्ट्रिक्ट कोर्ट फॉर द डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया की तरफ से इन नेताओं समेत कई लोगों को समन जारी किए गए हैं। इसके अलावा मुकदमे में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के चेयरमैन प्रोफेसर क्लाउस श्वाब का नाम भी शामिल है।

मुकदमा 24 मई को हुआ दाखिल

बता दें कि आंध्र प्रदेश से आने वाले भारतीय अमेरिकी डॉक्टर ने बगैर किसी दस्तावेजी सबूत के इन नेताओं को निशाना बनाया है। भारतीय-अमेरिकी डॉक्टर ने आरोप लगाया है कि पीएम मोदी, जगत मोहन और अडानी समेत कई लोग भ्रष्टाचार और राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ पेगासस स्पाइवेयर के इस्तेमाल में शामिल है। भारतीय-अमेरिकी डॉक्टर ने अमेरिका में बड़े स्तर पर नगदी भेजे जाने की बात कही है। यह मुकदमा 24 मई को दाखिल किया गया था।

कोई दस्तावेजी सबूत नहीं

चिकित्सक ने इस संबंध में कोई सबूत पेश नहीं किए हैं। चिकित्सक ने यह मुकदमा 24 मई को दायर किया था, जिसके बाद अदालत ने 22 जुलाई को समन जारी किए। भारत में उन्हें ये समन चार अगस्त को और श्वाब को स्विट्जरलैंड में दो अगस्त को समन दिया गया।

रवि बत्रा ने इसे फिजूल का मुकदमा बताया

न्यूयॉर्क में भारतीय-अमेरिकी वकील रवि बत्रा का कहना है कि चिकित्सक के पास फिजूल का बहुत वक्त है। साथ ही उन्होंने इसे फिजूल का मुकदमा बताया। उन्होंने कहा कि अमेरिका के साझेदार भारत को बदनाम करने के लिए 53 पन्नों की शिकायत दर्ज करा फेडरल कोर्ट्स का गलत इस्तेमाल किया है।

Next Story

विविध