दुनिया

Free Her Face Campaign : अफगानिस्तान में पुरुष एंकर महिला सहयोगियों के साथ एकजुटता जताने के लिए लगा रहे फेस मास्क

Janjwar Desk
25 May 2022 3:00 PM GMT
Free Her Face Campaign : अफगानिस्तान में पुरुष एंकर महिला सहयोगियों के साथ एकजुटता जताने के लिए लगा रहे फेस मास्क
x

Free Her Face Campaign : अफगानिस्तान में पुरुष एंकर महिला सहयोगियों के साथ एकजुटता जताने के लिए लगा रहे फेस मास्क 

Free her face campaign : काबुल में टोलो न्यूज के मास्क पहने हुए एंकर्स और पत्रकारों ने पुष्टि की है कि वह महिला एंकर्स के साथ एकजुटता दिखाने के लिए ऐसा कर रहे हैं, स्थानीय टीवी स्टेशन टोलो न्यूज की एंकर सोनिया नियाजी अपने शो में आंखों को छोड़कर पूरे चेहरे को ढंकी हुई नजर आईं.....

Free her face campaign : अफगानिस्तान में महिलाओं (Afghan Womens) के लिए चेहरा ढंकने का फरमान जारी होने के बाद अब इसके विरोध में आवाज बुलंद होने लगी है। तालिबान (Taliban) के इस फैसले का विरोध करने के लिए अफगान टीवी पर पुरुष एंकर अब मास्क पहने नजर आ रहे हैं। तालिबान सरकार ने अफगानिस्तान के सर्वोच्च नेता के उस फरमान को लागू कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि देश की सभी महिलाओं को सार्वजनिक स्थानों पर अपना चेहर ढंकना होगा। फरमान के तहत महिला टीवी एंकरों (Female Tv Anchors In Afghanistan) पर भी ऑन-एयर होने के दौरान अपना चेहरा ढंकने के लिए मजबूर होना पड़ा, जिसके बाद अब पुरुष एंकर अपना विरोध जताने के लिए मास्क पहनकर ऑन-एयर आ रहे हैं।

इस महीने की शुरुआत में अफगानिस्तान के सर्वोच्च नेता हिबतुल्लाह अखुंदजादा (Taliban Supreme Leader Hibtullah Akhundzada) ने सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं को अपने चेहरा ढंकने सहित, आदर्श रूप से पारंपरिक बुर्का पहनने के लिए एक फरमान जारी किया था। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, सद्गुण का प्रचार और बुराई की रोकथाम मंत्रालय ने फरमान पर अमल करते हुए महिला टेलीविजन प्रेजेंटर्स या एंकर्स को इसका पालन करने का आदेश दिया है।

डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, हालांकि कुछ लोगों ने इसका विरोध किया है। असंतुष्टों को बर्खास्त करने की धमकी के बावजूद पुरुष सहयोगियों ने भी अपने चेहरे को ढंककर (Free Her Face Campaign) एकजुटता दिखाई है। जिन महिलाओं ने इस फरमान का पालन करने से इनकार कर दिया है, उन्हें बताया गया है कि इससे उनके पति भी अपनी नौकरी खो देंगे।

काबुल में टोलो न्यूज के मास्क पहने हुए एंकर्स और पत्रकारों ने पुष्टि की है कि वह महिला एंकर्स के साथ एकजुटता दिखाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। स्थानीय टीवी स्टेशन टोलो न्यूज की एंकर सोनिया नियाजी अपने शो में आंखों को छोड़कर पूरे चेहरे को ढंकी हुई नजर आईं। कट्टरपंथी इस्लाम को लागू करने के लिए तालिबान द्वारा यह कार्रवाई नवीनतम कदम है, जहां सार्वजनिक रूप से सभी महिलाओं को आंखों का हिस्सा छोड़कर पूरे चेहरे को ढंकने का आदेश दिया गया है।

इससे पहले एक और फरमान जारी किया गया था, जिसमें कहा गया था कि महिलाओं को सार्वजनिक स्थानों पर पूरी तरह से अपने बालों को ढंकना होगा। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, न्यूज चैनलों में काम करने वाली महिलाओं को बुर्का के बिना ऑन एयर होने से रोकने के साथ ही, महिलाओं को टीवी शो, फिल्मों और सीरियल में काम करने से भी रोक दिया गया है। तालिबान ने नए ड्रेस कोड का पालन नहीं करने पर सरकारी नौकरी करने वाली महिलाओं को बर्खास्त करने का भी आदेश दिया है।

गौरतलब है कि अफगानिस्तान के सर्वोच्च नेता अखुंदजादा ने मई की शुरुआत में सार्वजनिक रूप से सभी महिलाओं को सिर से पांव तक कपड़े पहनने का आदेश देने के अलावा यह भी कहा था कि महिलाओं को आवश्यक होने पर ही घर से निकलना चाहिए। ऐसा फरमान जारी किया गया था कि महिलाओं के ड्रेस कोड के उल्लंघन के लिए उनके सबसे निकट के मेल फैमिली मेंबर (पति, पिता या भाई आदि) को सजा का सामना करना पड़ेगा।

अफगानिस्तान की इन महिला एंकरों के साथ एकजुटता के प्रदर्शन करते हुए कई इंटरनेशनल न्यूज के पत्रकारों ने भी पूरे चेहरे को ढक कर इन महिलाओं का समर्थन किया। कई संगठनों को पुरुष पत्रकारों ने इसके लिए फ्री हर फेस अभियान चलाया। ट्विटर पर फोटो डालकर इनके साथ एकजुटता प्रदर्शित की। अफगानिस्तान के एक पत्रकार सियर सिरत ने टोलो न्यूज में काम करने वाले पुरुष सहकर्मियों की चेहरे ढकी तस्वीर को पोस्ट करते हुए लिखा, टोलो न्यूज के स्टाफ मेंबर ने एडिटोरियल मीटिंग में तालिबान द्वारा महिलाओं पर थोपे गए हुक्म के विरोध में चेहरे को ढक कर साहसिक काम किया है। पिछले सप्ताह टीवी पर आने वाली महिला एंकर और रिपोर्टर को पूरा चेहरा ढककर आने का फरमान सुनाया गया था।

वहीं अंतरराष्ट्रीय न्यूज संस्थान डोयचे वेले के दारी और पश्तो सर्विस में काम करने वाले पत्रकारों ने भी अफगानिस्तान महिला एंकरों के समर्थन में चेहरे ढककर विरोध प्रदर्शन किया। डोयचे वेले ने ट्वीट कर लिखा, चूंकि तालिबान ने अफगान महिला एंकरों को फेस कवर कर न्यूज पढ़ने का फरमान दिया है, इसलिए डोयचे वेल दारी और पश्तो सर्विस के पत्रकारों ने महिलाओं के साथ एकजुटता का प्रदर्शन करने के लिए ग्रुप फोटो खिंचवाया है। इसमें पुरुष सहकर्मी मास्क पहनकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। आयरलैंड के आरटीन्यूज के डाइरेक्टर जॉन विलियम ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है, तालिबान ने अफगान महिलाओं को टीवी पर पूरा चेहरे ढक कर आने का फरमान दिया है। ये वही लोग हैं जो लड़कियों को स्कूल जाने से रोक रहे हैं। हम अफगानिस्तान के अपने दोस्त के समर्थन में खड़े हैं। तालिबान से मांग कर कर रहे हैं कि वह महिलाओं के चेहरे को मुक्त करें।

Next Story

विविध