दुनिया

Lars Vilks Death : पैगंबर मोहम्मद का विवादास्पद कार्टून बनाकर चर्चा में आये लार्स विल्क्स की कार एक्सीडेंट में मौत

Janjwar Desk
4 Oct 2021 1:30 PM GMT
Lars Vilks Death : पैगंबर मोहम्मद का विवादास्पद कार्टून बनाकर चर्चा में आये लार्स विल्क्स की कार एक्सीडेंट में मौत
x

पैगंबर मोहम्मद का विवादास्पद कार्टून बनाकर चर्चा में आये लार्स विल्क्स की कार एक्सीडेंट को माना जा रहा है हत्या

आतंकी संगठन अलकायदा ने विल्क्स को जान से मारने वाले को 100,000 डॉलर का इनाम देने का ऐलान किया था। साल 2015 में उन पर बंदूक से हमला भी हुआ था, जिसमें वो बाल बाल बच गए थे....

Cartoonist Lars Vilks Death : स्वीडन के कार्टूनिस्ट लार्स विल्क्स की भीषण सड़क हादसे में मौत हो गई। मीडिया में आ रही रिपोर्टों के मुताबिक लार्स विल्क्स एक पुलिस वाहन में सवार थे, जिसे एक ट्रक ने टक्कर मार दी। यह घटना रविवार 3 अक्टूबर को दिन में घटित हुयी।

स्वीडिश मीडिया की रिपोर्ट के मुताबकि, स्वीडन के क्रोनोबर्ग प्रांत के मार्करीड में रविवार 3 अक्टूबर की दोपहर को 3 बजे के करीब लार्स विल्क्स की कार सड़क हादसे का शिकार हुई थी। इस सड़क हादसे में पुलिस की गाड़ी में सवार दो पुलिसकर्मियों की भी मौत हो गई। वहीं ट्रक के ड्राइवर को भी गंभीर चोटें आई हैं।

75 वर्षीय विल्क्स के थे और उन्हें पुलिस सुरक्षा मिली हुई थी। पैगंबर मोहम्मद का विवादित कार्टून बनाने के बाद से स्वीडिश कार्टूनिस्ट को लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रहीं थीं जिस कारण से वे हमेशा पुलिस की सुरक्षा में रहते थे।

लार्स विल्क्स को उनके द्वारा बनाए एक कार्टून के वजह से पूरे दुनिया में पहचाना जाने लगा। उन्होंने पैगंबर मोहम्मद की कार्टून बनी थी, जिसमें कुत्ते के शरीर पर मोहम्मद पैगंबर का सिर लगाया गया था। इस कार्टून को लेकर दुनियाभर में विवाद और प्रदर्शन हुआ। लार्स विल्क्स अचानक से पूरी दुनिया में मशहूर हो गए और कट्टरपंथियों को खटकने लगे। विल्क्स का यह विवादित कार्टून साल 2007 में छपा था। डेनमार्क के एक अखबार में जब कार्टून छपा तो विश्व भर में इसको लेकर हंगामा मच गया। अलकायदा ने कार्टूनिस्ट लार्स पर एक लाख अमेरिकी डॉलर का इनाम तक रख दिया था।

आतंकी संगठन अलकायदा ने विल्क्स को जान से मारने वाले को 100,000 डॉलर का इनाम देने का ऐलान किया था। साल 2015 में उन पर बंदूक से हमला भी हुआ था, जिसमें वो बाल बाल बच गए थे।

इसके बाद उन पर 2011 और 2015 दो बार हमले हुए लेकिन वह बाल-बाल बच गए। पहला हमला 2011 में पेनसिल्वेनिया में एक व्यक्ति ने किया था। फिर 2015 में लार्स विल्क्स डेनमार्क की राजधानी कोपहेगन के क्रुडटोंडेन कैफे में एक सभा में बंदूकधारी फायरिंग कर जान लेने की कोशिश की थी, लेकिन वह बच गए थे।

मामले को संदिग्ध मानते हुए स्वीडिश पुलिस जांच में जुट गई है। पुलिस के मुताबिक कार्टूनिस्ट लार्स विलक्स पर पहले भी दो जानलेवा हमले हो चुके हैं जिसमें वे बाल बाल बचे। इसलिए घटना को मात्र एक्सीडेंट के रुप में नहीं देखा जा रहा। यह एक्सीडेंट के रुप में कोई सोची समझी साजिश भी हो सकती है। उन्होंने बताया कि 75 साल के कार्टूनिस्ट लार्स विल्क्स रविवार को पुलिस के वाहन से कहीं जा रहे थे तब हादसा हुआ।

उनका वाहन गलत दिशा में पलट गया और एक ट्रक से जाकर टकरा गया। इस दुर्घटना के बाद दोनों वाहनों में आग लग गई। घटना में कार्टूनिस्ट समेत दो पुलिसकर्मी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। हालांकि, गाड़ी को टक्कर मारने वाले ट्रक ड्राइवर भी हादसे के बाद झुलस गया है और उसका इलाज एक अस्पताल में चल रहा है।

Next Story

विविध

Share it