दुनिया

इजरायल के पीएम नफ्ताली ने ऐसा क्या कह दिया कि पीएम मोदी मुस्कुराने पर हो गए मजबूर

Janjwar Desk
3 Nov 2021 4:03 AM GMT
इजरायल के पीएम नफ्ताली ने ऐसा क्या कह दिया कि पीएम मोदी मुस्कुराने पर हो गए मजबूर
x

इजरायल के पीएम नफ्ताली बेनेट और भारत के पीएम नरेंद्र मोदी। 

पिछले कुछ वर्षों में भारत और इजरायल की बीच दोस्ती रणनीतिक साझेदारी तक पहुंच गई है जो चीन और पाकिस्तान का नापसंद है। दोनों देशों को डर है कि इजरायल भारत कुछ ऐसा कर सकते हैं जो उनके हितों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

नई दिल्ली। इटली और ब्रिटेन की पांच दिनों की विदेश यात्रा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) आज सुबह दिल्ली लौट आए। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने उनका ढोल नगाड़ों के साथ भव्य स्वागत किया। लेकिन पीएम मोदी इन सबसे अलग इजरायल के पीएम नफ्ताली के साथ हुई एक बात को लेकर सुर्खियों में ज्यादा हैं। दरअसल, जलवायु शिखर सम्मेलन के दौरान ग्लासगो में इतर पीएम मोदी दुनियाभर के तमाम नेताओं से मुलाकात की। इनमें एक मुलाकात पीएम के लिए खास साबित हुई, वहीं मुलाकात चर्चा का विषय बनी हुई है।

इस बात पर हंस पड़ें पीएम मोदी

वो मुलाकात इजरायल के प्रधानमत्री नफ्ताली बेनेट ( PM Naftali Bennett ) और पीएम मोदी की है। मुलाकात के दौरान इजरायल के पीएम मोदी से कहा कि आप इजरायल में बहुत लोकप्रिय हैं, आप मेरी पार्टी जॉइन कर लीजिए। इसके बाद पीएम मोदी मुस्कुराने लगे और दोनों नेताओं ने एक दूसरे का अभिवादन किया। इजरायल के प्रधानमत्री नफ्ताली बेनेट ने भारत और इजरायल के मजबूत रिश्तों के लिए पीएम मोदी का धन्यवाद भी दिया। प्रधानमंत्री मोदी और बेनेट की औपचारिक मुलाकात संक्षिप्त बातचीत के बाद हुई। पीएम मोदी ने इजरायली पीएम नफ्ताली बेनेट के साथ बैठक में कहा है कि भारत के लोग इजरायल के साथ दोस्ती को गहराई से महत्व देते हैं। उन्होंने दोनों देशों के बीच मजबूत द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने को लेकर मिलकर काम करने की बात कही है।

Also Read : जिसके लिए जापान की राजकुमारी ने शाही परिवार को छोड़ा वो स्टेट बार एग्जाम में हो गया फेल, जानिए कौन है खुशनसीब युवक

नवाचार के क्षेत्र में सहयोग पर जोर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट के साथ दोनों देशों के बीच जारी द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की और उच्च-प्रौद्योगिकी तथा नवाचार के क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के बारे में विचारों का आदान-प्रदान किया।

रणनीतिक साझेदारी तक है इजरायल और भारत के बीच दोस्ती का स्तर

जुलाई 2017 में प्रधानमंत्री मोदी की इजराइल की यात्रा के दौरान भारत और इजरायल ( India and Israel ) ने अपने द्विपक्षीय संबंधों को रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाया था। तब से, दोनों देशों के बीच संबंध ज्ञान-आधारित साझेदारी के विस्तार पर केंद्रित रहे हैं, जिसमें 'मेक इन इंडिया' पहल को बढ़ावा देने सहित नवाचार और अनुसंधान में सहयोग शामिल है।

Also Read : Islamic Terrorist Attack : 3 इस्लामिक कट्टरपंथी संगठनों के निशाने पर बांग्लादेशी हिंदू, 9 साल में 3721 हमले

2022 में भारत दौरे पर आ सकते हैं इजरायली पीएम

पिछले कुछ वर्षों में भारत और इजरायल ने अपने द्विपक्षीय संबंधों को रणनीतिक स्तर तक बढ़ाया है। दोनों देश मिलिट्री सहयोग के साथ ही इनोवेशन और रिसर्च सेक्टर के साथ कई और क्षेत्र में बड़े स्तर पर काम कर रहे हैं।हाल ही में विदेश मंत्री सुब्रमण्यम जयशंकर इजरायल के दौरे पर गए थे, जहां उन्होंने इजरायली पीएम बेनेट को भारत आने का न्योता दिया था। इजरायली मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बेनेट 2022 की शुरुआत में भारत दौरे पर आ सकते हैं।

Next Story

विविध