दुनिया

इजराइल को पेगासस स्पाईवेयर से विश्वव्यापी जासूसी से बड़ी चिंता Ben and Jerry's आइसक्रीम के बंद होने की

Janjwar Desk
26 July 2021 11:28 AM GMT
इजराइल को पेगासस स्पाईवेयर से विश्वव्यापी जासूसी से बड़ी चिंता Ben and Jerrys आइसक्रीम के बंद होने की
x

(इजराइल में पेगासस जासूसी से ज्यादा चर्चा Ben & Jerry’s आइसक्रीम के बंद होने की)

मानवाधिकार के बारे में सोचने वाले सभी संस्थान और लोग इजराइल से से नाता तोड़ते हैं, पर यही देश निरंकुश सरकारों का चहेता है और पेगासस स्पाईवेयर और इसी तरह के दूसरे उत्पाद इन सरकारों द्वारा हथियार के तौर पर उपयोग किये जाते हैं...

महेंद्र पाण्डेय की टिप्पणी

जनज्वार। फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मानुएल मैक्रों ने इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्तली बेनेट से पेगासस स्पाईवेयर द्वारा विश्वव्यापी जासूसी पर लम्बी चर्चा की है, और सख्त शब्दों में सरकार से इसकी पूरी जांच करने को कहा है। इस बारे में खुलासे में बताया गया है कि इम्मानुएल मैक्रों के फ़ोन की जासूसी के लिए मोरक्को की सुरक्षा एजेंसियों ने कहा था।

इम्मानुएल मैक्रों से बातचीत के दौरान भी इसरायली प्रधानमंत्री ने वही रटा-रटाया जवाब दिया – यह मामला उनके सत्ता में आने के पहले का है, इसकी जांच की जा रही है और पेगासस स्पाईवेयर के दिशा-निर्देशों के अनुसार उपयोग की जिम्मेदारी उन सरकारों की है, जिन्होंने इसको खरीदा है।

बहरहाल इजराइल सरकार ने दुनिया के निरंकुश शासकों को अपने जनता की जासूसी के लिए एक सशक्त हथियार दे दिया है, और जाहिर है इसका उपयोग करने वाली अधिकतर सरकारें इस मामले पर चुप ही रहेंगीं। फिर भी अंतरराष्ट्रीय संगठनों के दबाव के बाद भी इजराइल सरकार पर इस पूरे मामले का कोई दबाव नहीं है। यह मुद्दा इजराइल की जनता के साथ नहीं जुड़ा है, इसलिए सरकार, मीडिया और जनता सभी खामोश हैं और इस दौर में एक दूसरे मसले पर ध्यान दे रहे हैं। यह मसला यूनाइटेड किंगडम की एक आइसक्रीम से जुड़ा है।

यूनाइटेड किंगडम की एक आइसक्रीम कंपनी अंतरराष्ट्रीय कंपनी यूनिलिवर के अंतर्गत आइसक्रीम बनाती है, जिसका नाम है – बेन एंड जेरीज (Ben & Jerry's)। इजराइल की एक आइसक्रीम कंपनी इसके लाइसेंस पर इजराइल में यही आइसक्रीम बनाती है, जिसका वितरण इजराइल के साथ ही गाजा जैसे इलाकों में भी होता है जो मूलतः फिलिस्तीन का हिस्सा हैं, पर इजराइल ने इसपर अधिकार किया हुआ है और अपनी कालोनियाँ बनाई हैं। अब इस आइसक्रीम की पैरेंट कंपनी यूनिलीवर ने घोषणा की है कि अगले वर्ष के अंत में जब इजराइल की कंपनी का लाइसेंस ख़त्म हो जाएगा, तब इसका नवीनीकरण नहीं किया जाएगा।

यूनिलीवर ने यह घोषणा मानवाधिकार और फिलिस्तीनियों के अधिकारों के साथ खड़े रहने के कारण किया है। कंपनी के अनुसार ऐसे स्थान पर व्यापार उनके मानवाधिकार से सम्बंधित आदर्शों के विरुद्ध है। जाहिर है अगले वर्ष के अंत से इजराइल के निवासियों को बेन एंड जेरीज आइसक्रीम खाने को नहीं मिलेगी। इजराइल के निवासियों को आइसक्रीम बहुत पसंद है, विशेष तौर पर बेन एंड जेरीज की आइसक्रीम, कहा जाता है वहां लगभग हरेक घर में यह आइसक्रीम जाती है।

यूनिलीवर की इस घोषणा के बाद से इजराइल में हरेक स्तर पर यह चर्चा छिड़ गयी है। नागरिकों में भी कुछ कह रहे है, यह एक आइसक्रीम ही तो थी, फिर क्या परेशानी है, जबकि दूसरा वर्ग इस कदम के विरोध में खड़ा है। इस बीच खबर है कि इजराइल में इस आइसक्रीम की खपत यूनिलीवर की घोषणा के बाद से 21 प्रतिशत से भी अधिक बढ़ गयी है। इजराइल की सरकार इस कदम को ऐसे देख रही है, मानो उन पर किसी ने हमला कर दिया हो। पेगासस में चुप्पी साधने वाले सभी राजनेता अब यूनिलीवर के इस कदम के खिलाफ बोल रहे हैं।

राष्ट्रपति इसाक हेर्जोग ने कहा कि यूनिलीवर का यह कदम एक नए किस्म का आतंकवाद है। प्रधानमंत्री नफ्तली बेनेट ने कहा है कि यह कदम इजराइल के विरुद्ध एक प्रकार का युद्ध है, और यूनिलीवर को इसके भयानक परिणाम भुगतने पड़ेंगे। रक्षामंत्री ने कहा कि यह बकवास आइसक्रीम है। दूसरे नेता और मंत्री भी इस मुद्दे पर मुखर हैं, और मीडिया भी लगातार सम्पादकीय और समाचारों द्वारा इस मुद्दे को हवा दे रहा है। इस समय, बेन एंड जेरीज की आइसक्रीम इजराइल का राष्ट्रीय मुद्दा है।

दूसरी तरफ टोक्यो ओलंपिक्स में अंडर-73 वर्ग के जुडो प्रतिस्पर्धा में अल्जीरिया के खिलाड़ी फेथी नौरिने ने इजराइल के प्रतिद्वंद्वी तोहर बुत्बुल के साथ लड़ने से मना कर दिया और बाहर चले गए। फेथी नौरिने और उनके प्रशिक्षक को इन्टरनेशनल जूडो फेडरेशन और अल्जीरिया के फेडरेशन से बाहर कर दिया गया है। पर फेथी नौरिने ने एक वक्तव्य में कहा है कि उन्होंने यहाँ तक पहुँचाने के लिए बहुत मिहनत की थी, पर फिलिस्तीन की समस्या से बड़ी कोई समस्या नहीं है और वे इस समस्या को पैदा करने वाले देश के किसी नागरिक की सूरत भी देखना पसंद नहीं करेंगे।

मानवाधिकार के बारे में सोचने वाले सभी संस्थान और लोग इजराइल से से नाता तोड़ते हैं, पर यही देश निरंकुश सरकारों का चहेता है और उसके स्पाईवेयर और इसी तरह के दूसरे उत्पाद इन सरकारों द्वारा हथियार के तौर पर उपयोग किये जाते हैं। आश्चर्य यह है कि ऐसे देश के खिलाफ यूनिलीवर ने एक अदनी सी आइसक्रीम को ही हथियार बना डाला है।

Next Story