दुनिया

Missile Accidental Firing : 'तकनीकी खामी के कारण हुआ हादसा', पाकिस्तान में मिसाइल गिरने पर रक्षा मंत्रालय ने दी आधिकारिक प्रतिक्रिया

Janjwar Desk
11 March 2022 2:34 PM GMT
Missile Accidental Firing : तकनीकी खामी के कारण हुआ हादसा, पाकिस्तान में मिसाइल गिरने पर रक्षा मंत्रालय ने दी आधिकारिक प्रतिक्रिया
x

'तकनीकी खामी के कारण हुआ हादसा', पाकिस्तान में मिसाइल गिरने पर रक्षा मंत्रालय ने दी आधिकारिक प्रतिक्रिया

Missile Accidental Firing : रक्षा मंत्रालय ने कहा कि ऐसा समझा जाता है कि मिसाइल पाकिस्तान के क्षेत्र में गिरी, हालांकि यह बेहद खेदजनक है लेकिन राहत की बात है कि इसमें किसी भी प्रकार का जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है....

Missile Accidental Firing : रक्षा मंत्रालय ने भारत की मिसाइल पाकिस्तान के क्षेत्र में गिरने पर अपनी आधिकारिक प्रतिक्रिया दी है। मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा कि तकनीकी खामी के कारण ये हादसा हुआ है। उसने घटना को लेकर गहरा खेद जताया है। रक्षा मंत्रालय की ओर से कहा गया कि 9 मार्च 2022 को रूटीन मरम्मत कार्य के दौरान तकनीकी गड़बड़ी के कारण दुर्घनटनावश ये मिसाइल फायर हो गई। सरकार ने मामले को गंभीरता से लिया है और हाईलेवल जांच का आदेश दिया है।

रक्षा मंत्रालय (Ministry Of Defence) ने कहा कि ऐसा समझा जाता है कि मिसाइल पाकिस्तान के क्षेत्र में गिरी। हालांकि यह बेहद खेदजनक है लेकिन राहत की बात है कि इसमें किसी भी प्रकार का जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है।

पाकिस्तान (Pakistan) ने इस मामले में भारत के दूतावास प्रभारी को समन किया था और उड़ने वाली भारतीय सुपरसोनिक वस्तु के जरिए हवाई क्षेत्र का बिना उकसावे के उल्लंघन करने पर कड़ा विरोध दर्ज कराया था। साथ ही घटना की विस्तृत व पारदर्शी जांच की मांग की थी।

पाकिस्तान के विदेश विभाग (Pakistan Foreign Office) ने कहा कि भारतीय राजनयिक को उड़ने वाली भारतीय सुपरसोनिक वस्तु के जरिए हवाई क्षेत्र के कथित उल्लंघन के बारे में सूचना दी गई है। यह वस्तु भारत में सूरतगढ़ (Suratgarh) से नौ मार्च को शाम 6 बजकर 43 मिनट पर पाकिस्तान में घुसी थी। यह मिसाइल पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मियां चुन्नु शहर में उसी दिन शाम 6 बजकर 50 मिनट पर जमीन गिरी जिससे असैन्य संपत्ति को नुकसान पहुंचा।

विदेश विभाग ने कहा, भारतीय राजनयिक को बताया गया कि इस उड़ने वाली वस्तु को अविवेकपूर्ण तरीके से छोड़े जाने से न केवल असैन्य संपत्ति को नुकसान पहुंचा बल्कि इससे मानव जीवन पर भी खतरा पैदा हुआ। पाकिस्तान के विदेश विभाग ने आगे कहा कि इससे पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र में कई घरेलू/अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को भी खतरा पहुंचा और इसके चलते गंभीर विमान दुर्घटना हो सकती थी।

Next Story