दुनिया

Pakistan PM : चोरों के साथ सदन में नहीं बैठूंगा, नए प्रधानमंत्री के चुनाव का बहिष्कार करेगी पीटीआई, इमरान खान ने खायी कसम

Janjwar Desk
11 April 2022 11:11 AM GMT
चोरों के साथ सदन में नहीं बैठूंगा, नए प्रधानमंत्री के चुनाव का बहिष्कार करेगी पीटीआई, इमरान खान ने खायी कसम
x

चोरों के साथ सदन में नहीं बैठूंगा, नए प्रधानमंत्री के चुनाव का बहिष्कार करेगी पीटीआई, इमरान खान ने खायी कसम

Pakistan PM : पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में नए प्रधानमंत्री के चुनाव को लेकर सत्र बुलाया गया है...

Pakistan PM : अविश्वास प्रस्ताव के जरिए इमरान खान को प्रधानमंत्री की कुर्सी से हटाए जाने के बाद अब संभावना है कि पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ (Shehbaz Sharif) चुने जा सकते हैं। नए प्रधानमंत्री का चुनाव नेशनल असेंबली (Natioal Assembly) में आज ही होना। इस बीच इमारन खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने कहा है कि वह इसका विरोध करेगी। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने कहा कि उनके सभी सांसद इस्तीफा देंगे और नए पीएम के चुनाव का बहिष्कार करेंगे।

इससे पहले इमरान सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे फवाद चौधरी ने कहा था कि पाकिस्तान तहरीक-ए -इंसाफ के सांसद नेशनल असेंबली से इस्तीफा देंगे और आजादी के लिए लड़ेंगे। इमरान खान समेत सभी पीटीआई के सदस्यों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा देने और पीएम चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला किया है। इमरान खान ने कहा कि हम इस सदन में किसी भी हाल में नहीं बैठेंगे। मैं इन चोरों के साथ सदन में नहीं बैठूंगा।

पाकिस्तान के निचले सदन नेशनल असेंबली का सत्र सोमवार को प्रधानमंत्री को चुनने के लिए बुलाया गया। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन (PML-N) के अध्यक्ष शहबाज शरीफ और इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के उपाध्यक्ष व पूर्व विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने रविवार को इस पद के लिए अपने-अपने नामांकन पत्र दाखिल किए हैं।

बता दें कि रविवार की देर रात को प्रदानमंत्री मंत्री के खिलाफ विपक्ष की ओर से लाया गया अविश्वास प्रस्ताव नेशनल असेंबली में पारित हो गया था। उसके बाद से नए नेता के चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई। सदन का विश्वास खोने के बाद पाकिस्तान के इतिहास में इमरान खान पहले ऐसे प्रधानमंत्री बन गए जिन्हें अविश्वास प्रस्ताव के जरिए पद से हटाया गया।

विपक्ष ने कान को पद से हटाने के लिए 174 वोट जुटा लिए थे। अगर वे आज भी संख्या बल को दोहरा सकें तो शहबाज शरीफ पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री होंगे। इस बीच संयुक्त विपक्ष द्वारा ऐतिहासिक अविश्वास प्रस्ताव के बाद रविवार को कैबिनेट डिविजन ने संघीय मंत्रिमंडल के 52 सदस्यों को गैर-अधिसूचित कर दिया।

Next Story