दुनिया

Philippines : नोबेल पुरस्कार विजेता की न्यूज साइट Rappler को बंद करने का आदेश, मिली सरकार की आलोचना करने की सजा

Janjwar Desk
30 Jun 2022 6:34 AM GMT
Philippines : नोबेल पुरस्कार विजेता की न्यूज साइट Rappler को बंद करने का आदेश, मिली सरकार की आलोचना करने की सजा
x

Philippines : नोबेल पुरस्कार विजेता की न्यूज साइट Rappler को बंद करने का आदेश, मिली सरकार की आलोचना करने की सजा

Philippines : मारिया रेसा राष्ट्रपति आर दुतर्ते सरकार द्वारा 2016 में शुरू किए गए घातक ड्रग युद्ध की मुखर आलोचक रही हैं। मारिया के खिलाफ आठ मामले अदालत में विचाराधीन हैं।

Philippines : सरकार की नीतियों की सख्त आलोचना करने पर न केवल भारत में बल्कि दुनिया के अन्य देशों में भी समाचार पत्रों व न्यूज वेबसाइटों के संचालाकों को सत्ता विरोधी कार्रवाई का सामना कर पड़ रहा है। ताजा मामले में फिलीपीन ( Philipines ) सरकार ने नोबेल पुरस्कार ( Nobel Prize ) विजेता मारिया रेसा ( Maria Resa) द्वारा सह-स्थापित समाचार वेबसाइट रैपलर Rappler बंद करने का आदेश दिया है।

बता दें कि बुधवार को भी फिलीपीन की पत्रकार और नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मारिया रेसा ( Maria Resa) की समाचार कंपनी रैपलर "हमेशा की तरह"काम कर रही थी। अचानक बुधवार को राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतर्ते ने अपने कार्यकाल के अंतिम दिन से एक दिन पहले इसे बंद करने का फरमान सुना दिया।

सरकार की मुखर आलोचकों में शुमार हैं मारिया रेसा

मारिया रेसा ( Maria Resa) फिलीपीन सरकार की मुखर आलोचक हैं। उन्होंने दुतर्ते सरकार द्वारा 2016 में शुरू किए गए घातक ड्रग युद्ध की मुखर आलोचक रही हैं। फिलीपीन के पत्रकारों का कहना है कि मारिया और उनकी कंपनी रैपलर ( Rappler ) के खिलाफ सरकारी नीतियों की आलोचना की वजह से राष्ट्रपति आर दुतर्ते ने कई आपराधिक मामले दर्ज कराए थे। इनमें से कई मामलों में जांच जारी है।

लगे ये आरोप

फिलीपीन सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन ने मारियो रेसा और उनकी कपनी रैपलर ( Rappler ) को बंद करने का आदेश जारी कर बड़ा झटका दिया है। आयोग की ओर से बुधवार को जारी बयान में कहा गया है कि मास मीडिया कंपनी रैपलर ने विदेशी स्वामित्व पर संवैधानिक और वैधानिक प्रतिबंधों का उल्लंघन किया है। साथ ही रैपलर ( Rappler ) के लाइसेंस को रद्द करने की भी सूचना दी है।

रैपलर ( Rappler ) के खिलाफ इस समय कुल आठ केस अदालत में विचाराधीन हैं। इनमें साइबर से जुड़ा एक मामला भी शामिल है। दुतेर्ते ने अपने एक करीबी सहयोगी के बारे में एक कहानी को लेकर वेबसाइट को "फर्जी समाचार आउटलेट"करार दिया था। समाचार संगठन पर आरोप है कि उसने अपनी मूल कंपनी रैपलर होल्डिंग्स द्वारा "डिपॉजिटरी रसीदें"जारी करके विदेशियों को अपनी वेबसाइट पर नियंत्रण करने की अनुमति देने का भी औराप है। फिलीपीन में नियमों के मुताबिक मीडिया में निवेश फिलिपिनो या फिलिपिनो-नियंत्रित संस्थाओं के लिए आरक्षित है। यह विवाद अमेरिका स्थित ओमिडयार नेटवर्क के 2015 के निवेश से उपजा है, जिसे ईबे के संस्थापक पियरे ओमिडयार ने स्थापित किया था। ओमिडयार नेटवर्क ने बाद में रैपलर में अपने निवेश को साइट के स्थानीय प्रबंधकों को हस्तांतरित कर दिया ताकि इसे बंद करने के दुतर्ते के प्रयासों को रोक दिया जा सके।

हम तो केवल बेहतरी की आशा कर सकते हैं

वहीं न्यूज वेबसाइट रैपलर ( Rappler ) ने कहा है कि सरकार की ओर सेस कंपनी को तत्काल बंद करने को कहा गया है। कंपनी ने सरकार की कार्यवाही को गलत करार दिया है। कंपनी ने समाचार साइट कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए काम जारी रखने की घोषणा की है। मारिया रेसा ने कहा कि हम दुतर्ते के उत्तराधिकारी फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर के की देखरेख में बेहतरी की आशा कर सकते हैं। बता दें कि बड़े पैमाने पर मानवाधिकारों के हनन और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाले फिलीपींस के पूर्व तानाशाह के बेटे मार्कोस जूनियर ने गुरुवार को आर दुतर्ते की जगह पदभार ग्रहण किया है।

ये पूरा मामला

मारिया रेसा ( Maria Resa) की न्यूज वेबसाइट रैपलर ( Rappler ) ने दुतर्ते सरकार पर परिवार बाद का आरोप लगाया है। वह दुतर्ते सरकार द्वारा 2016 में शुरू किए गए घातक ड्रग युद्ध की मुखर आलोचक रही हैं। दूसरी तरफ फिलीपीन के लोगों को इस बात का डर सता रहा है कि मार्कोस जूनियर के नेतृत्व में देश में मानवाधिकारों और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की स्थिति पहले से ज्यादा खराब हो सकती है।

कानून को अपना काम करने दें

राष्ट्रपति के प्रवक्ता मार्टिन अंदानार ने कहा कि कानून को अपना काम करने दें। प्रतिभूति और विनिमय आयोग को अपना जनादेश पूरा करने दें। ऐसा कर रैपलर कानून द्वारा दिए गए उपायों का लाभ उठा सकता है।

रैपलर को बंद करने का आदेश वापस ले सरकार : ICFJ

ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा कि वेबसाइट "अपनी निडर रिपोर्टिंग के लिए प्रतिशोध" का सामना कर रही थी। इंटरनेशनल सेंटर फॉर जर्नलिस्ट्स (ICFJ) ने फिलीपीन सरकार से रैपलर को बंद करने के अपने आदेश को वापस लेने की अपील की है। ICFJ ने ट्विटर पर कहा कि इस कानूनी उत्पीड़न से न केवल रैपलर का समय, पैसा और ऊर्जा बर्बाद होगा बल्कि यह स्वतंत्र रिपोर्टिंग को शांत करने के लिए डिज़ाइन की गई निरंतर और विपुल ऑनलाइन हिंसा को सक्षम बनाता है।

बता दें कि मारिया रेसा अमेरिकी नागरिक भी हैं। उन्हें रूसी पत्रकार दिमित्री मुराटोव को "अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा"को लेकर किए गए प्रयासों के लिए नोबेल शांति पुरस्कार 2021 से सम्मानित किया गया था।

Next Story

विविध