दुनिया

Protest Against Hijab : ईरान में पुलिस के साथ हिंसक झड़प में अब तक 40 महिलाओं की मौत, इंटरनेट सेवा ठप

Janjwar Desk
23 Sep 2022 3:57 AM GMT
Protest Against Hijab : ईरान में पुलिस के साथ हिंसक झड़प में अब तक 40 महिलाओं की मौत, इंटरनेट सेवा ठप
x

Protest Against Hijab : ईरान में पुलिस के साथ हिंसक झड़प में अब तक 40 महिलाओं की मौत, इंटरनेट सेवा ठप

Protest Against Hijab : हिजाब ( Hijab ) के खिलाफ महिलाओं के उग्र प्रदर्शनों को देखते हुए सरकार ने इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है। ईरान ( Iran ) के खुफिया मंत्रालय ने चेतावनी दी है कि विरोध प्रदर्शनों में भाग लेना अवैध है। प्रदर्शनकारियों पर केस चलाया जाएगा।

Protest Against Hijab : ईरानी महिला महसा अमिनी की मौत ( Mahsa Amini death ) के बाद हिजाब के खिलाफ ईरान ( Protest against Hijab Iran ) में महिलाओं का प्रदर्शन पहले से ज्यादा उग्र हो गया है। महिलाओं को प्रदर्शन तेहरान सहित दर्जनों में शहर में फैल गया गया है। महिलाएं पुलिस की फायरिंग, आंसू गैस के गोले दागने और लाठी चार्ज की कार्रवाई से बेखौफ होकर हिजाब ( Hijab ) के खिलाफ सड़कों पर डटी हुई हैं। ईरान ( Iran ) की सड़कों पर चारों तरफ मास अनरेस्ट जैसा माहौल है।

ईरान में हिजाब ( Protest against Hijab Iran )के खिलाफ जारी प्रदर्शन न केवल हिंसक हो गया है बल्कि 40 महिला प्रदर्शनकारियों की मौत ( fourty women death ) भी हो चुकी है। ईरानी महिला महसा अमिनी ( Mahsa amini ) की मौत के बाद से पूरे ईरान में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। उग्र होते प्रदर्शनों को देखते हुए सरकार ने इंटरनेट ( internet services closed ) पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही ईरान ( Iran ) के खुफिया मंत्रालय ने गुरुवार को चेतावनी दी कि विरोध प्रदर्शनों में भाग लेना अवैध है और प्रदर्शनकारियों पर केस चलाया जाएगा।



दरअसल, ईरान में महसा अमिनी की पुलिस कस्टडी में मौत के बाद से यह स्थिति उत्पन्न हुई है। पुलिस की कार्रवाई में महसा अमिनी की मौत के बाद वो ईरान में हिजाब ईरान में हिजाब ( Protest against Hijab Iran ) के खिलाफ जारी प्रदर्शन न केवल हिंसक हो गया है बल्कि 40 महिला प्रदर्शनकारियों की मौत ( fourty women death ) भी हो चुकी है। ईरानी महिला महसा अमिनी ( Mahsa amini ) की मौत के बाद से पूरे ईरान में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। उग्र होते प्रदर्शनों को देखते हुए सरकार ने इंटरनेट ( internet services closed ) पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही ईरान ( Iran ) के खुफिया मंत्रालय ने गुरुवार को चेतावनी दी कि विरोध प्रदर्शनों में भाग लेना अवैध है और प्रदर्शनकारियों पर केस चलाया जाएगा।

महसा अमिनी ( Mahsa Amini ) ईरान में हिजाब ( Protest against Hijab Iran ) के खिलाफ जारी प्रदर्शन का पोस्टर गर्ल बन चुकी हैं। प्रदर्शन में शामिल लोग महसा का बैनर और पोस्टर्स लेकर सरकार का चेतावनी दे रहे हैं कि उसे हिजाब पर बैन लगाना होगा। फिलहाल, ईरानी नियमों के मुताबिक हिजाब पहनने पर वहां के पुलिस जोर दे रही है। पुलिस महसा अमिनी को महिलाओं के लिए तयय ईरान के सख्त ड्रेस कोड के उल्लंघन के मामले में ही गिरफ्तार किया था। पुलिस का दावा है कि महसा की मौत हार्ट अटैक से हुई जबकि अमिनी के परिवार का दावा है कि महसा बिल्कुल स्वस्थ थीं। पुलिस हिरासत में ही कुछ ऐसा हुआ जिससे उसकी मौत हो गई।

कुर्दिस्तान से शुरू होकर पूरे ईरान में फैला हिजाब के खिलाफ प्रदर्शन

महसा अमिनी की मौत के बाद सबसे पहले कुर्दिस्तान में विरोध प्रदर्शन हुए। उसके बाद देखते ही देखते ये विरोध प्रदर्शन लगभग पूरे ईरान में होने लगे हैं। महिलाएं महसा अमिनी की मौत का विरोध हिजाब जलाकर और अपने बाल काट कर जता रही हैं। ईरान में सुरक्षाबल लगातार प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए हिजाब के खिलाफ आंदोलन को दबाने में लगे हैं। अब तक ईरान में 40 प्रदर्शनकारियों की मौत हो चुकी है। एमनेस्टी इंटरनेशनल, यूएन, अमेरिका समेत तमाम देश इसकी आलोचना कर रहे हैं।

ईरानी पत्रकार और एक्टिविस्ट मसीह अलीनेजादी के मुताबिक ईरान में अब तक 40 प्रदर्शनकारियों की मौत हो चुकी है। अकेले अमोल शहर में 10 लोगों की मौत हुई है। ईरान में फेसबुक, टेलीग्राम, ट्विटर और यूट्यूब को भी बैन कर दिया गया है। रॉयटर्स के मुताबिक ईरान के 50 से ज्यादा शहरों में प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने गुरुवार को दो थानों व कई वाहनों में आग लगा दी। पुलिस की ओर से प्रदर्शनकारियों की धरपकड़ के लिए रिहायशी बिल्डिंगों में भी छापेमारी कर रहे हैं।

Next Story