दुनिया

Russia Ukraine War : भारत ने रूस का नाम लिए बगैर Bucha Genocide की निंदा की, कहा - 'नागरिकों की हत्या परेशान करने वाली'

Janjwar Desk
6 April 2022 3:09 AM GMT
Russia Ukraine War : भारत ने रूस का नाम लिए बगैर बूचा नरसंहार की निंदा की, कहा — नागरिकों की हत्या परेशान करने वाली
x

यूएन में भारत के स्थायी प्रति​निधि टीएस गुरुमूर्ति।

Russia Ukraine War : भारत ने यूएनएससी की बैठक में हिंसा को तत्काल समाप्त करने और शत्रुता को समाप्त करने के अपने अपील को एक बार फिर दोहराया है।

Russia Ukraine War : रूस और यूक्रेन के बीच 42 दिनों से जारी युद्ध के बीच यूक्रेन में हुए महाविनाश पर अब तक का सबसे बड़ा बयान दिया है। 05 अप्रैल को यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की (Volodymyr Zelensky) और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ( UNSC ) के अधिकारियों द्वारा दिल दहला देने वाला बयान के बाद बूचा ( Bucha Genocide ) शहर में नागरिकों की हत्याओं की साफ शब्दों में निंदा की है।

भारत ने की शत्रुता को समाप्त करने की अपील

यूएन ( UNSC ) में भारत ( India ) के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने यूएनएससी में कहा कि बूचा में नागरिक हत्याओं ( Bucha genocide ) से जुड़ी रिपोर्ट बहुत परेशान करने वाली है। हम इन हत्याओं की खुले शब्दों में निंदा करते हैं। यूक्रेन पर मास्को के आक्रमण की सख्त शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि रूस ( Russia ) ने तटस्थता की बारीक रेखा का विस्तार किया। भारत लगातार बिगड़ती स्थिति पर चिंतित है। भारत हिंसा को तत्काल समाप्त करने और शत्रुता को समाप्त करने के अपने अपील को एक बार फिर दोहराया है।

भारत ( India ) के स्थायी प्रतिनिधि टीएस गुरुमूर्ति ( TS Gurumurti ) ने कहा कि हम यूएन के सभी सदस्य देशों से कहा कि वर्तमान विश्व व्यवस्था अंतरराष्ट्रीय कानून, यूएन चार्टर और क्षेत्रीय अखंडता व राज्यों की संप्रभुता के सम्मान पर आधारित है। तिरुमूर्ति ने कहा कि नई दिल्ली को उम्मीद है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय यूक्रेन में मानवीय प्रयासों का समर्थन जारी रखेगा। हम आने वाले दिनों में यूक्रेन को और अधिक चिकित्सा आपूर्ति प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भारत पहले ही यूक्रेन और उसके पड़ोसियों को दवाएं और राहत सामग्री भेज चुका है।

यह युद्ध अपराध है

भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस गुरुमूर्ति के बोलने से पहले यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने एक वीडियो लिंक के जरिये कहा कि कीव के पास के शहर बूचा ( Bucha genocide news ) में एक भी अपराध ऐसा नहीं है जो रूस नहीं करेंगे और उन्होंने कहा कि रूसी सैनिकों द्वारा किए गए भयानक अत्याचारों की एक श्रृंखला में ही एक है। उन्होंने यूक्रेन में जारी अत्याचारों की तुलना मध्य-पूर्व में इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी संगठनों द्वारा किए गए अत्याचारों से की।जेलेंसकी ने एक वीडियो के जरिए कहा कि यह पूरी तरह से युद्ध अपराध है, जिसमें शवों के ढेर दिखाई दे रहे हैं, कुछ हाथ बंधे हुए हैं।

बूचा नरसंहार : स्वतंत्र जांच की मांग

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने सुरक्षा परिषद से कहा कि मैं बूचा ( Bucha genocide ) में मारे गए नागरिकों की भयावह छवियों को कभी नहीं भूलूंगा। गुटेरेस ने बूचा नरसंहार की स्वतंत्र जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि मैं दुष्कर्म और यौन हिंसा की व्यक्तिगत गवाही से भी बहुत स्तब्ध हूं। संयुक्त राष्ट्र के अवर महासचिव रोजमेरी डिकार्लो ने कहा कि बूचा की भयावहता और गहरी हो गई है। मृत नागरिकों की चौंकाने वाली तस्वीरें सामने आईं, कुछ के हाथ बंधे हुए थे, वे कीव के पास के शहर बूचा की सड़कों पर लेटे हुए थे। उसी इलाके में एक सामूहिक कब्र में भी मिला था।

रूस ने नाजीवादियों को ठहरया जिम्मेदार

Russia Ukraine War : बूचा नरसंहार( Bucha Genocide ) पर जेलेंस्की के बयानों का जवाब देते संयुक्त राष्ट्र में रूए के स्थायी प्रतिनिधि वसीली नेबेंजिया ने दावा किया कि वीडियो में कुछ यूक्रेनी सेना या 'नव-नाजियों'के शिकार हुए दिखाए गए हैं। कुछ अन्य तस्वीरों की टाइमलाइन पर रूस ने सवाल उठाया।

Next Story

विविध