दुनिया

Russian Soldiers Bodies : यूक्रेन की सड़कों पर बिखरीं हजारों रूसी सैनिकों की लाशें, मृतकों की असली संख्या छिपा रहे हैं पुतिन?

Janjwar Desk
24 March 2022 12:01 PM GMT
Russian Soldiers Bodies : यूक्रेन की सडकों पर बिखरीं हजारों रूसी सैनिकों की लाशें, मृतकों की असली संख्या छिपा रहे हैं पुतिन?
x

(यूक्रेन की सडकों पर बिखरीं हजारों रूसी सैनिकों की लाशें)

Russian Soldiers Bodies : नाटो (NATO) देशों का अनुमान है कि यूक्रेन के साथ जंग में रूस के 7 हजार से लेकर 5 हजार तक सैनिक मारे गए हैं, वहीं रूस (Russia) ने अभी तक यह नहीं बताया है कि यूक्रेन के युद्ध में उसके कितने सैनिक मारे गए हैं...

Russian Soldiers Bodies : यूक्रेन (Ukraine) में पिछले एक महीने से जारी जंग के बीच अब रूसी सैनिकों की लाशों से यूक्रेन की सड़कें पटती जा रही हैं| नाटो (NATO) देशों का अनुमान है कि यूक्रेन के साथ जंग में रूस के 7 हजार से लेकर 5 हजार तक सैनिक मारे गए हैं| वहीं रूस (Russia) ने अभी तक यह नहीं बताया है कि यूक्रेन के युद्ध में उसके कितने सैनिक मारे गए हैं| यूक्रेन में कीव के पास से लेकर मयकोलैव इलाके तक रूसी सैनिकों की लाशें बिखरी पड़ी हैं और उन्हें उठाने वाला कोई नहीं है|

गवर्नर ने रूसी सैनिकों की लाशों को लेकर की ये अपील

सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार रूसी सैनिकों की यह लाशें अब समस्या बनती जा रही हैं| मयकोलैव इलाके के गवर्नर विटाली किम ने बीते शनिवार को स्थानीय लोगों से अपील की है कि वे लाशों को इकट्ठा करें और उन्हें बैग में भर दें क्योंकि तापमान लगातार कम होता जा रहा है| उन्होंने लोगों से कहा कि हम जानवर नहीं हैं| हमे ऐसा नहीं करना चाहिए| उन्होंने स्थानीय लोगों से यह अपील ऐसे समय पर की है जब हजारों की तादाद में यूक्रेन के लोग रूसी सेना के हमलों में मारे गए हैं|

युद्ध में मारे जाने वाले रूसी सैनिकों की संख्या

मयकोलैव वह इलाका है जब 24 फरवरी को रूसी सेना ने सबसे पहले हमला बोला था| यहां रूसी सेना को यूक्रेनी सेना के जोरदार जवाबी कार्रवाई के बाद अपने टैंक आदि छोड़कर वापस लौटना पड़ा था| इस बीच नाटो ने बुधवार को दावा किया है कि यूक्रेन में पिछले चार हफ्ते से जारी लड़ाई में रूस के 7000 से 15000 सैनिक मारे गये हैं। इससे पहले रूस ने अफगानिस्तान में 10 वर्षों में करीब 15000 सैनिक गंवाये थे। इस तरह से रूस अब अफगानिस्‍तान युद्ध की तरह से नुकसान उठा रहा है।

रूसी सैनिकों के मारे जाने की संख्या खुफिया स्रोतों पर आधारित

नाटो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि गठबंधन का यह आकलन यूक्रेन के अधिकारियों से मिली सूचना और खुले स्रोतों से जुटाई गई खुफिया सूचनाओं पर आधारित है, जिसे रूस जानबूझ कर जारी नहीं कर रहा है| यूक्रेन ने अपने सैन्य नुकसान के बारे में बहुत कम सूचना जारी की है और पश्चिमी देशों ने भी कोई आकलन नहीं दिया है। बहरहाल, दो सप्ताह पहले यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा था कि उनके करीब 1300 सैनिक युद्ध में मारे गये हैं। रूस ने 24 फरवरी को यू्क्रेन पर अपनी सैन्य कार्रवाई शुरू की थी और इस बुधवार को लड़ाई के चार हफ्ते हो गये। दूसरे विश्व युद्ध के बाद से यह सबसे बड़ी सैन्य कार्रवाई है।

यूक्रेन सरकार ने किया ये दावा

यूक्रेनी सरकार ने दावा किया है कि रूसी सेना ने अपने मृतक सैनिकों के शवों को जलाने के लिए मोबाइल श्मशान कक्ष भेजे हैं। यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदीमिर जेंलेंस्की ने तीन मार्च को एक ब्रीफिंग में संवाददाताओं से कहा था 'रूसी लोग यहां मर रहे हैं, कोई उनकी गिनती नहीं कर रहा है। क्या आप जानते हैं कि वे अपने साथ एक श्मशान कक्ष लाए हैं| वे सैनिकों के परिवार वालों को शव नहीं दिखाने जा रहे हैं। वे माताओं को यह नहीं बताएंगे उनके बच्चों की मृत्यु यहां हो गई।'

Next Story

विविध