दुनिया

Shehbaz Sharif : कर्ज लेने सऊदी अरब पहुंचे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सामने लगे 'चोर-चोर' के नारे, देखें वीडियो

Janjwar Desk
29 April 2022 7:14 AM GMT
Shehbaz Sharif : कर्ज लेने सऊदी पहुंचे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सामने लगे चोर-चोर के नारे, देखें वीडियो
x

Shehbaz Sharif : कर्ज लेने सऊदी पहुंचे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सामने लगे चोर-चोर के नारे, देखें वीडियो

Shehbaz Sharif : सऊदी अरब के दौरे पर पहुंचे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा, उनके खिलाफ मस्जिद में जमकर नारेबाजी हुई....

Shehbaz Sharif : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ (Shehbaz Sharif) तीन दिवसीय सऊदी अरब के आधिकारिक दौरे पर हैं। गुरुवार को वो अपने मंत्रिमंडल के साथ मदीना में मस्जिद-ए-नबवी (Maszid-E-Nabvi) गए थे लेकिन यहां मौजूद पाकिस्तानियों ने उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी करनी शुरू कर दी। इस दौरान वह अपने देश को प्रधानमंत्री को चोर-चोर कहने लगे। सोशल मीडिया पर इस घटना के कई वीडियो खूब वायरल हो रहे हैं।

वीडियो की शुरुआत में शहबाज शरीफ जैसे ही सऊदी डिप्लोमैट्स के साथ मस्जिद-ए-नबवी में पहुंचते हैं लोग उनके किलाफ नारेबाजी शुरू कर देते हैं। इसी बीच कुछ लोग चोर-चोर चिल्लाने लगते हैं। वहीं एक दूसरे वीडियो में भी जब शहबाज का मंत्रिमंडल मस्जिद में पहुंचता है तो उसके खिलाफ भी इसी तरह के नारे सुनाई देते हैं।

पाकिस्तान की सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब भी वीडियो में दिखाई दे रही हैं। उन्होंने इस विरोध प्रदर्शन के पीछे पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान का हाथ बताया है। उन्होंने कहा कि मैं इस पाक जगह पर उस इंसान का नाम नहीं लूंगी क्योंकि मैं इस जगह का इस्तेमाल राजनीति के लिए नहीं करना चाहती। इमरान खान ने पाकिस्तानी सोसायटी को बर्बाद कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस मामले में कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है।

बता दें कि शहबाज शरीफ का प्रधानमंत्री बनने के बाद का यह पहला विदेश दौरा है। उनका मकसद सऊदी अरब से 3.2 अबर डॉलर का कर्ज हासिल करना है। उनके साथ इस दौरे पर उनके मंत्रिमंडल के 16 सदस्य भी हैं।

सऊदी कर्ज मांगने पहुंचे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड से राहत भरी खबर मिली है। आईएमएफ ने पाकिस्तान के रुके हुए राहत पैकेज को एक साल तक बढ़ाने पर सहमति जताई है। साथ मौजूदा कर्ज दो अरब डॉलर और बढ़ा दिया जाएगा। रिपोर्ट्स की मानें तो इस फैसले से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के नेतृत्व वाली नहीं सरकार को राहत मिलने की उम्मीद है।

पाकिस्तान के नए वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल और आईएमएफ के उप प्रबंध निदेशक एंटोनेट सईह के बीच वॉशिंगटन में हुई बातचीत के बाद यह समझौता हुआ।

Next Story

विविध