Top
दुनिया

अमेरिका ने एंटी मलेरिया दवा को कोरोना इमरजेंसी में इस्तेमाल की अनुमति ली वापस, ट्रंप ने किया था इसका प्रचार

Janjwar Desk
16 Jun 2020 3:18 AM GMT
अमेरिका ने एंटी मलेरिया दवा को कोरोना इमरजेंसी में इस्तेमाल की अनुमति ली वापस, ट्रंप ने किया था इसका प्रचार
x
ट्रंप पर आरोप लग रहा है कि उन्होंने इस दवा की उत्पादक कंपनी से चुनावी लाभ हासिल करने के लिए ऐसा किया...

जनज्वार। अमेरिकी खाद्य एवं दवा नियामक संस्था, एफडीए ने सोमवार को मलेरिया रोधी दवा क्लोरोक्वीन और हाइड्राॅक्सीक्लोरोक्वीन का कोविद19 के इलाज में आपात स्थिति में प्रयोग करने की स्वीकृति को वापस ले लिया। इस फैसले के साथ एफडीए ने कहा है कि ये दवाएं वायरस संक्रमण रोकने में संभवतः प्रभावी नहीं हैं।

एफडीए ने इस संबंध में कहा कि उसका यह निर्णय हाल की जानकारी पर आधारित है, जिसमें क्लिनिकल ट्रायल डेटा के परिणाम भी शामिल हैं। एफडीए ने कहा है कि वर्तमान में अमेरिकी उपचार के दिशा निर्देश भी कोरोना संक्रमण के मामलों में इन दवाओं के प्रयोग की अनुशंसा नहीं करते हैं।

न्यूयार्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, एफडीए ने कहा है कि कुछ आंकड़ों की समीक्षा के बाद यह पाया कि इन दवाओं व विशेष तौर पर हाइड्राॅक्सीक्लोरोक्वीन ने संभावित लाभों को प्रदर्शित नहीं किया जो जोखिम को कम कर देते हैं। इससे पहले इस साल एफडीए ने चेतावनी दी थी कि इन दवाओं से कोविद19 के रोगियों को खतरनाक हृदय संबंधी परेशानियां हो सकती हैं। न्यूयार्क टाइम्स के अनुसार, समीक्षा में कोविद19 रोगियों में गंभीर विकारों के 100 से अधिक मामले पाए गए, जिनमें 25 ये दवाएं लेने वाले भी थे।

वहीं, इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मलेरिया के इलाज में प्रयोग होने वाली दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के प्रयोग के लिए हो रही आलोचना पर अपने जवाब में इसे कोरोना वायरस से बचाव का एक तरीका बताया था। उन्होंने कहा था कि इस जानलेवा संक्रमण से बचने के लिए यह दवा ले रहे हैं। ट्रंप के अनुसार, वे इस दवा का प्रचार कर रहे थे इसलिए इसकी खराब छवि बनायी गयी। ट्रंप के अनुसार, जाहिर तौर पर वे बहुत खराब प्रचारक हैं, अगर कोई और इसका प्रचार कर रहा होता तो वे कहते कि यह बहुत अच्छी दवा है।

ट्रंप ने कहा कि मुझे लगता है कि यह बहुत कारगर दवा है और यह आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचाती है और संभवतः यह अच्छी होगी और मुझ पर इसका कोई खराब असर नहीं पड़ा। उन्होंने कहा कि मलेरिया के इलाज में प्रयोग आने वाली इस दवा पर दुनिया भर के डाॅक्टरों ने अच्छी प्रतिक्रिया दी।

Next Story

विविध

Share it