Top
दुनिया

कोरोना वायरस से बड़ा खतरा वैश्विक नेतृत्व व एकजुटता का अभाव : डब्ल्यूएचओ

Janjwar Desk
23 Jun 2020 2:30 AM GMT
कोरोना वायरस से बड़ा खतरा वैश्विक नेतृत्व व एकजुटता का अभाव : डब्ल्यूएचओ
x
डब्ल्यूएचओ ने कोरना संकट के राजनीतिकरण के प्रति दुनिया के देशों को चेताया है और कहा है कि इस महामारी का दशकों तक असर दिखेगा...

जनज्वार। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोरोना वायरस से अधिक बड़ा खतरा वैश्विक नेतृत्व का अभाव है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस एडहाॅनम गीब्रिएसस ने एक वर्चुअल हेल्थ फोरम को ंसबोधित करते हुए कहा कि दुनिया में इस समय सबसे जरूरी राष्ट्रीय एकता व वैश्विक एकजुटता है। उन्होंने कहा कि महामारी के राजनीतिकरण ने हालात को और बिगाड़ा है।

ग्रीब्रिएसस ने यह बात दुबई में आयोजित वल्र्ड गवर्नमेंट सम्मिट द्वारा सोमवार को आयोजित वर्चुअल हेल्थ फोरम को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि इस समय जिस वैश्विक चुनौती का मुकाबला कर रहे हैं वह वायरस नहीं है, बल्कि यह वैश्विक एकजुटता व वैश्विक नेतृत्व का अभाव है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि यह महामारी अभी और बढती जा रही है और इसके आर्थिक व अन्य प्रभावों को दशकों तक महसूस किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वैश्विक हेल्थ रेगुलेशन के कुछ हिस्सों को मजबूत करने की जरूरत है, ताकि यह उद्देश्य के लिए अधिक उपयुक्त हो।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने कहा कि दुनिया के सभी देशों को एक यूनिवर्सल हेल्थकेयर बनाना होगा। मालूम हो कि दुनिया में 84 लाख से अधिक कोरोना संक्रमित हो चुके हैं और अबतक चार लाख 70 हजार लोगों की इससे जान जा चुकी है।

Next Story

विविध

Share it