Top
कोविड -19

मरने से पहले एक्टर ने लिखा, मुझे भी ट्रीटमेंट अच्छा मिल जाता तो मैं भी बच जाता

Janjwar Desk
9 May 2021 6:37 AM GMT
मरने से पहले एक्टर ने लिखा, मुझे भी ट्रीटमेंट अच्छा मिल जाता तो मैं भी बच जाता
x
राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को टैग करते हुए लिखा है, जल्द जन्म लूंगा और अच्छा काम करूंगा, अब हिम्मत हार चुका हूं....

जनज्वार। सोशल मीडिया यानी फेसबुक और यूट्यूब पर लाखों फैन फॉलोइंग वाले अभिनेता राहुल वोहरा का आज 9 मई को कोरोना से निधन हो गया।

35 वर्षीय राहुल ने अपनी मौत से ठीक पहले फेसबुक पर एक मैसेज लिखा है। राहुल लिखते हैं, 'मुझे भी ट्रीटमेंट अच्छा मिल जाता तो मैं भी बच जाता तुम्हारा Irahul Vohra।'

इस मैसेज के साथ राहुल वोहरा ने अपनी डिटेल साझा की है। इसी में उन्होंने राजीव गांधी सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल का जिक्र किया है, जहां वो पिछले कुछ दिन से भर्ती थे। इस पोस्ट को राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को टैग करते हुए लिखा है, जल्द जन्म लूंगा और अच्छा काम करूंगा। अब हिम्मत हार चुका हूं।'


राहुल वोहरा की खबर को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए अस्मिता थियेटर ग्रुप के प्रमुख और वरिष्ठ निर्देशक अरविंद गौड़ ने लिखा है, 'राहुल वोहरा चला गया। मेरा होनहार एक्टर अब नहीं रहा। कल ही राहुल ने कहा था कि "मुझे अच्छा ईलाज मिल जाता तो मैं भी बच जाता।" कल शाम ही उसे राजीव गांधी हास्पिटल से आयुष्मान, द्वारका में शिफ्ट किया गया, पर.. राहुल हम सब तुम्हें नहीं बचा पाए, मुआफ करना, हम तुम्हारे अपराधी हैं...आखिरी नमन...'

राहुल की मौत आज 9 मई को हुई है। उनका अंतिम संस्कार द्वारका के सेक्टर 10 स्थित श्मशान घाट में आज किया जा रहा है।

जनज्वार से हुई बातचीत में अरविंद गौड़ ने बहुत दुखित भाव से कहा, 'हमने एक नौजवान बच्चे को खो​ दिया, जिसे दो दिन पहले सही इलाज मिल गया होता वह आज हमारे बीच होता।'

वह आगे बताते हैं, 'राहुल ने 2006 से 2011 तक अस्मिता थियेटर के साथ खूब काम किया। वह बहुत ही होनहार और जहीन कलाकार था। मैं रोज किसी न किसी को खो रहा हूं। अब मुझे लगता है कि काश मैं 2011 में राजनीति में आ गया होता तो शायद इस कदर बेचारा नहीं साबित होता। इतने फोन, आग्रह, विनती की मैंने लेकिन हम बहुतों को नहीं बचा सके, जैसे हम राहुल को नहीं ​बचा सके। दिल्ली के राजीव गांधी हॉस्पिटल में उसे ढंग का इलाज नहीं मिला।'

राहुल वोहरा का अंमित संस्कार उनकी पत्नी के भाई ने किया। राहुल की मौत के बाद उनकी पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है। राहुल की एक साल पहले ही शादी हुई थी।

अरविंद गौड़ कहते हैं, 'कल 8 मई की शाम को आयुष्मान अस्पताल में राहुल को ले जाया गया, वहां सारी व्यवस्था आक्सीजन, वेंटीलेटर मिल गया था, लेकिन उस समय तक 95 फीसदी फेफड़ा खराब हो चुका था। मुझे आजीवन दुख रहेगा कि उसे हम सब इतने प्रयास के बाद भी नहीं बचा सके।'

4 मई को सोशल मीडिया पर अपनी एक पोस्ट में राहुल ने लिखा है, 'मैं कोविड पॉजिटिव हूं। एडमिट हूं लगभग चार दिन से, लेकिन कोई रिकवरी नहीं। क्या कोई ऐसा हॉस्पिटल है, जहां आक्सीजन बेड मिल जाये। क्योंकि यहां मेरा आक्सीजन लेवल लगातार डाउन जा रहा है और कोई देखने वाला नहीं। मैं बहुत मजबूर होकर ये पोस्ट कर रहा हूं क्योंकि घरवाले कुछ संभाल नहीं पा रहे।'


4 मई को ही भावुक गुहार लगातार मैसेज सोशल मीडिया पर डालने के बावजूद राहुल वोहरा जैसे प्रसिद्ध यूट्यूबर और अभिनेता आक्सीजन बेड के अभाव में चल बसे। यह हालात तब हैं जबकि सोशल मीडिया पर लगातार कई ऐसे लोग सामने आ रहे हैं, जो गरीबों-पीड़ितों की मदद का दावा कर रहे हैं। सवाल यह है कि जब किसी प्रसिद्ध व्यक्ति को इलाज नहीं मिल पा रहा तो आम लोगों की मदद भला कोई क्या कर पा रहा होगा।

राहुल की पॉपुलरिटी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सिर्फ फेसबुक पर ही उने 19 लाख फॉलोवर्स थे।

राहुल वोहरा को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर Irahul Vohra के नाम से जाना जाता था। पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के एक छोटे से शहर से आने वाले राहुल सोशल मीडिया पर एक चर्चित हस्ती थे। बहुत कम उम्र में राहुल ने थिएटर करना शुरू कर दिया था।

राहुल ने एक फिल्म "अनफ्रीडम" में भी एक्टिंग की थी, जो नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ हुई। वह पिछले लंबे समय से डिजिटल प्लेटफॉर्म पर वीडियो बना रहे थे जो करोड़ों लोगों द्वारा देखे जाते थे। उनके वीडियो की सबसे खास बात यह होती थी कि वो सामाजिक और संवेदनशील विषयों को उठाते थे, न कि आज ​की युवा पीढ़ी की तरह पब्लिशिटी पाने के लिए वाहियात सी एक्टिंग। उनका 'पाकिस्तान चले जाओ' वीडियो काफी वायरल हुआ था, जो दो समुदायों के वर्तमान परिदृश्य पर आधारित था। इसके अलावा उन्होंने तमाम संवेदनशील मुद्दों पर वीडियो बनाये थे, जो एक सीख देकर जाते हैं। तलाक जैसे संवेदनशील मुद्दे पर बनाया गया उनका वीडियो करोड़ों लोगों ने देखा और सराहा था।

बेशक आज राहुल बेहतर इलाज न मिल पाने की वजह से हमारे बीच नहीं हैं, मगर उनके वीडियो सोशल मीडिया पर अपनी दमदार मौजूदगी बनाये रखेंगे और लोगों के बीच एक मैसेज भी।

Next Story

विविध

Share it