कोविड -19

Omicron Variant : एक ही दिन में 800 से ज्यादा मामले, एक चौथाई शेयर एक ही जिले देहरादून का, वर्चुअल मोड में पहुंचा हाईकोर्ट

Janjwar Desk
7 Jan 2022 1:58 PM GMT
एक ही दिन में 800 से ज्यादा मामले, एक चौथाई शेयर एक ही जिले देहरादून का, वर्चुअल मोड में सुनवाई करेगा हाईकोर्ट
x

(एक ही दिन में 800 से ज्यादा मामले, एक चौथाई शेयर एक ही जिले देहरादून का। प्रतीकात्मक तस्वीर)

Omicron Variant : नैनीताल जिले (Nainital) के एक निजी नर्सिंग कॉलेज में कोरोना बम फूटा है। यहां कॉलेज में 93 छात्र-छात्राएं कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं....

सलीम मलिक की रिपोर्ट

Omicron Variant : राजनीतिक रैलियों में दूरदराज के इलाकों से बसों में ढो-ढोकर ले जाने वाली भीड़ के परिणाम प्रदेश में अब पैर पसार चुकी कोविड महामारी के रूप में सामने आने लगे हैं। बढ़ते मामले देख उत्तराखण्ड हाईकोर्ट (Uttarakhand High Court) वर्चुअल मोड की तरफ बढ़ गया है। सर्वाधिक प्रभावित देहरादून (Dehradun) जिला है, जो राज्य के कुछ कम आधे कोविड प्रभावितों से थर्रा गया है।

शुक्रवार को उत्तराखण्ड (Uttarakhand) में कोरोना (Covid 19) मीटर बेहद तेज गति से घुमा। इस दिन आठ सौ से अधिक नए पॉजिटिव मिले हैं। सबसे अधिक प्रभावित देहरादून जिला रहा। वहीं हल्द्वानी के एक नर्सिंग कॉलेज के नब्बे से अधिक स्टूडेंट्स के साथ जिले में दो सौ से अधिक कोरोना पीड़ित पाए गए हैं। इसी के साथ अब एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 2022 पर पहुंच गई है।


स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों पर पूरी नज़र रख रहा है। उन्हें होम आइसोलेशन में रखा गया है। साथ ही कोरोना रोकथाम के नियमों का पालन करने के लिए कहा गया है। दो दिनों के भीतर हल्द्वानी में 182 लोग कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने टेस्टिंग में तेजी तेजी लाने के निर्देश दिए हैं।

जबकि शुक्रवार की शाम को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार प्रदेशभर में कुल 814 मरीज सामने आए हैं। इसमें इकलौते नैनीताल जनपद ने ही 233 मरीजों के साथ सर्वाधिक योगदान दिया है। इसी के साथ अब प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 2022 पर पहुंच गई है।

नैनीताल जिले के एक निजी नर्सिंग कॉलेज में कोरोना बम फूटा है। यहां कॉलेज में 93 छात्र-छात्राएं कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इतनी बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं के पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। पॉजिटिव पाए गए सभी छात्र छात्राओं को होम आइसोलेशन किया गया है।

छात्रों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद परिजन काफी डरे हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों पर पूरी नज़र रख रहा है। उन्हें होम आइसोलेशन में रखा गया है। साथ ही कोरोना रोकथाम के नियमों का पालन करने के लिए कहा गया है। दो दिनों के भीतर हल्द्वानी में 182 लोग कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने टेस्टिंग में तेजी तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। जबकि शुक्रवार की शाम को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार प्रदेशभर में कुल 814 मरीज सामने आए हैं।

स्वास्थ्य विभाग के हेल्थ बुलेटिन के अनुसार राज्य में 2022 एक्टिव केस हैं।24 घंटे के भीतर सबसे ज्यादा देहरादून जिले में 325 नए केस सामने आए हैं। इसके साथ ही नैनीताल जिले में 233, बागेश्वर जिले में 10, चंपावत जिले में 13, उत्तरकाशी जिले में 10, हरिद्वार जिले में 119, अल्मोड़ा जिले में 18, रुद्रप्रयाग जिले में 6, पिथौरागढ़ जिले में 11, टिहरी जिले में 12, चमोली जिले में 5, पौड़ी जिले में 21, और उधमसिंह नगर जिले में 35 केस आये है। बीते दिन यानी गुरुवार को प्रदेश भर में 630 नए मामले सामने आए थे।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पहले जहां सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला देते हुए कोर्ट को वर्चुअल मोड में चलाने का फैसला किया तो अब उत्तराखंड हाईकोर्ट अब वर्चुअल मोड में आ गया हैं। इसका कारण कोरोना के भारी खतरे को देखते हुए बताया गया है।

उच्च न्यायालय नैनीताल ने शुक्रवार को एक वर्चुअल व्यवस्था की बाबत यह नोटिफिकेशन जारी किया गया है। जिसमें यह व्यवस्थाएं लागू की गई हैं। (देखें नोटिफिकेशन)


प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले को देखते हुए स्वास्थ्य महकमा लगातार व्यवस्थाओं को मुकम्मल करने में जुटा हुआ है। उत्तराखंड शासन सख्त से सख्त कदम उठाए जाने की बात कह रहा है। राज्य में सभी एंट्री पॉइंट्स पर प्रशासन द्वारा राज्य से बाहर के निवासियों का रेपिट टेस्ट भी किया जा रहा है।

Next Story

विविध