कोविड -19

Raigarh News : मृत व्यक्ति के नाम जारी कर दिया कोविड वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट, शिवराज सरकार में बड़ी लापरवाही

Janjwar Desk
11 Dec 2021 2:23 PM GMT
Raigarh News : मृत व्यक्ति के नाम जारी कर दिया कोविड वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट, शिवराज सरकार में बड़ी लापरवाही
x

(वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट जारी करने में लापरवाही)

Raigarh News : मृतक के बेटे फूल सिंह शाक्यवर ने बताया कि उन्हें तीन दिसंबर को मोबाइल पर एक संदेश मिला और साथ ही वैक्सीन सर्टिफिकेट भी डाउनलोड किया जा सकता था....

Raigarh News : मध्यप्रदेश में कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन ड्राइव (Vaccination Drive) में बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। दरअसल राजगढ़ जिले (Raigarh) में मृत एक व्यक्ति के मोबाइल फोन पर उसके परिजनों को कोविड 19 के खिलाफ टीके की दूसरी खुराक लेने का मैसेज मिला। इसके बाद सर्टिफिकेट भी जारी किया गया।

खबरों के मुताबिक 78 वर्षीय बुजुर्ग पुरुषोत्तम शाक्यवार ब्यावरा कस्बे में रहते थे। छह महीने पहले उनका निधन हो गया था। हालांकि लापरवाही ये पूरा मामला मीडिया में सामने आने के बाद अधिकारियों ने इसे कंप्यूटर की त्रुटि का हवाला दिया है।

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक मृतक के बेटे फूल सिंह शाक्यवर ने बताया कि उन्हें तीन दिसंबर को मोबाइल पर एक संदेश मिला और साथ ही वैक्सीन सर्टिफिकेट भी डाउनलोड किया जा सकता था। फूल सिंह ने पूरे मामले पर हैरानी जताते हुए बताया कि उनके पिता ने आठ अप्रैल को टीके की पहली खुराक ली थी जबकि 24 मई को इंदौर में इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई थी।

वहीं जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. पी. एल. भगोलिया से इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि इस मामले की जानकारी उनको मिल गई है और वे इसकी जांच कर रहे हैं। साथ ही जिला टीकाकरण अधिकारी ने कहा कि हो सकता है कि कंप्यूटर में किसी गड़बड़ी की वजह से मैसेज चला गया हो।

वहीं ब्यावरा के प्रखंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. शरद साहू ने कहा कि इतने बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है, ऐसे में संभव है कि एंट्री में गलत मोबाइल नंबर दर्ज हो गया हो। अगर ऐसा हुआ होता तो इस गलती को सुधारा जाएगा।

जबकि मामला सामने आने के बाद कांग्रेस ने शिवराज चौहान सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस विधायक रामचंद्र डांगी ने भाजपा सरकार पर टीकाकरण के गलत आंकड़े जारी कर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों से सरकार के दावे का सच सामने आ रहा है। साथ ही उन्होंने पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच किए जाने की मांग भी की।

Next Story

विविध