आर्थिक

Petrol Ka Dam: पेट्रोल-डीजल के दाम में गिरावट के बाद दूसरे दिन भी रहा स्थिर, विपक्ष ने कहा UP चुनाव के परिणाम ने सरकार को दिखाया आईना

Janjwar Desk
4 Nov 2021 8:10 PM GMT
Petrol Price in New Delhi (18th September 2021)
x

पेट्रोल-डीजल कंपनियों को हुआ 11966 करोड़ का मुनाफा

Petrol Ka Dam: पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार बढ़ोतरी के बीच अचानक केंद्र सरकार के एक फैसले से ग्राहकों को राहत मिली है। दीपावली के पूर्व संध्या पर सरकार के इस फैसले के बाद पेट्रोल पर 5 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल पर 10 रुपये तक दाम में कमी की गई।

Petrol Ka Dam: पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार बढ़ोतरी के बीच अचानक केंद्र सरकार के एक फैसले से ग्राहकों को राहत मिली है। दीपावली के पूर्व संध्या पर सरकार के इस फैसले के बाद पेट्रोल पर 5 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल पर 10 रुपये तक दाम में कमी की गई। इसका असर 5 नवंबर दिन शुक्रवार को भी देखने को मिला। पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिर रहे। इस बीच विपक्ष सरकार के इस फैसले को उप चुनाव के नतीजों से जोड़ते हुए देख रहा है और लगातार हमलावर है।

पेट्रोलियम विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 103.97 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 109.98 रुपये प्रति लीटर हो गया है वहीं, दिल्ली में डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर है।

26 दिनों में 8.15 रुपये महंगा हो चुका था पेट्रोल

सितंबर के अंतिम सप्ताह से पेट्रोल व डीजल के दाम आमतौर पर हर दिन बढ़ते रहे। औसतन यहां दाम में बढ़ोतरी 35 पैसा होता रहा। पेट्रोल 26 दिनों में कुल 8.15 रुपये प्रति लीटर दाम बढ़े थे, वहीं बीते 29 दिनों में डीजल के दाम में 9.35 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई थी।

सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क क्रमशः 5 रूपये और 10 रूपये कम करते हुए कहा कि यह किसानों को राहत प्रदान करेगा। इस बयान को राजनीतिक पंडित आम आदमी से लेाकर एक साल से अधिक समय से नए कृषि कानूनों का विरोध करते आंदोलित किसानों को साधने की कोशिश के रूप में देख रहे है।

पेटोल डीजल के दाम में कमी के बाद अखिल भारतीय मोटर परिवहन कांग्रेस ने केंद्र सरकार से और राहत देने की मांग की है। कोर कमेटी के चेयरमैन बाल मलकीत सिंह ने कहा दिवाली की पूर्व संध्या पर भारत सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कमी की घोषणा की. पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क क्रमशरू 5 रुपये और 10 रुपये कम किया । यह परिवहन लॉबी के लिए एक छोटी सी राहत है जो लगातार बढ़ती ईंधन की कीमतों से त्रस्त है। इस फैसले का परिवहन लॉबी और देश के नागरिकों द्वारा स्वागत किया गया है।

उन्होंने कहा कि टीम एआईएमटीसी लगातार इस मुद्दे और परिवहन क्षेत्र पर डीजल की बढ़ती कीमतों के प्रतिकूल प्रभाव को सीधे सरकार के समक्ष और विभिन्न मंचों के माध्यम से उठाती रही है। लेकिन, हमारी दीर्घकालिक मांगें अभी भी पूरी नहीं हुई हैं। एक बार फिर सरकार से अपील है कि इस पर जल्द से जल्द विचार किया जाए। संगठन ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि ईंधन की कीमतों में तिमाही संशोधन हो, पूरे देश में ईंधन की कीमतें एक जैसी हों, पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के दायरे में लाया जाए।

शहर का नाम पेट्रोल डीजल

  • दिल्ली 103.97 86.67
  • मुंबई 109.98 94.14
  • कोलकाता 104.67 89.79
  • चेन्नई 101.40 91.43

उपचुनावों के नतीजों ने सरकार को किया मजबूर

केंद्र सरकार के पेट्रोल और डीजल में कटौती के फैसले पर कांग्रेस सांसद पी चिदंबरम ने निशाना साधा है। चिदंबरम ने केंद्र के इस फैसले को 30 विधानसभा सीटों के लिए हुए उपचुनावों में सत्तारू़ंढ़ भाजपा की हार से जोड़ा है। चिदंबरम ने ईंधन की कीमतों में कटौती को उप-चुनावों का उप-उत्पाद कहा और साथ ही कहा कि यह उनकी पार्टी की स्थिति की पुष्टि करता है कि पेट्रोल और डीजल की आसमान छूती कीमतें उच्च करों का परिणाम थीं, और उच्च कर केंद्र सरकार की लालच का परिणाम थे।

चिदंबरम ने ट्वीट किया, 30 विधानसभा और 3 लोकसभा उपचुनावों के नतीजों ने उप-उत्पाद का उत्पादन किया है। केंद्र ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती की है। उन्होंने कहा, यह हमारे आरोप की पुष्टि है कि ईंधन की कीमतें मुख्य रूप से उच्च करों के कारण हैं और हमारा आरोप है कि उच्च ईंधन कर केंद्र सरकार के लालच के कारण है। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने जवाब दिया, मोदी सरकार लोगों की खुशी के साथ-साथ दुख में भी उनके साथ रहने के लिए खड़ी है।.

भाजपा को हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस से (एक लोकसभा और तीन विधानसभा सीटों पर हार) और बंगाल की सत्तारूढ़ तृणमूल (चार विधानसभा सीटों) से हार का सामना करना पड़।. पार्टी कर्नाटक और हरियाणा में भी प्रतिष्ठा की लड़ाई हार गई। इस कदम का केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा के मुख्यमंत्रियों ने स्वागत किया, जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद ट्वीट किया। इसके अलावा, 10 भाजपा शासित राज्यों ने पेट्रोल-डीजल के दाम में अतिरिक्त कटौती की घोषणा की है। इनमें से पांच राज्यों- गोवा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और गुजरात में अगले साल मतदान होगा।

इस हफ्ते कटौती की घोषणा से पहले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने सरकार को पिकपॉकेट कहा और कहा कि उसने 2018-19 में 2.3 लाख करोड़ और 2017-18 में 2.58 लाख करोड़़ का संग्रह किया। अकेले इस वित्तीय वर्ष के अप्रैल-जुलाई में संग्रह 48 प्रतिशत बढकर 1 लाख करोड़ हो गया।

कांग्रेस नेता राजदीप सिंह सुरजेवाला ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, "टैक्सजीवी मोदी सरकार को सबक सिखाने के लिए देशवासियों को बधाई। प्रजातंत्र में "वोट की चोट" से भाजपा को सच का आईना दिखा ही दिया। याद करें- मई 2014 में पेट्रोल 71.41 रुपए व डीजल 55.49 था, तब कच्चा तेल 105.71 डॉलर बैरल था। आज कच्चा तेल $82 बैरल है। 2014 के बराबर कीमत कब होगी।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, "हम एक बार फिर कहते हैं कि सरकार को अब तक जो एक्साइज बढ़ा है, उसे कम करना चाहिए। एक बात अब साफ हो गई है कि महंगाई कम करने के लिए बीजेपी को हराना होगा। राजस्थान, हिमाचल, मध्यप्रदेश, कर्नाटक और दादर और नागर हवेली के लोगों ने उपचुनाव में भाजपा को आईना दिखाया है। इसलिए एक दिन बाद कीमतें कम की गई है। महंगाई को लेकर कांग्रेस ही नहीं, सीपीआई-एम ने भी केंद्र पर निशाना साधा। केरल के वित्त मंत्री के एन बालगोपाल ने कल कहा कि पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में मामूली कमी लाकर केंद्र सरकार जनता की आंखों में धूल झोंकना चाहती है, लेकिन यह उपाय कारगर नहीं है।"

देशभर के कई राज्यों में अभी हाल ही में हुए उपचुनावों के नतीजे से केंद्र की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को बड़ा झटका लगा है। इन चुनाव के नतीजों के बाद मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम करने का ऐलान किया। सरकार के इस फैसले पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि ये दिल से नहीं डर से निकला फैसला है। प्रियंका गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए अपने ट्वीट में लिखा, "ये दिल से नहीं डर से निकला फैसला है। वसूली सरकार की लूट को आने वाले चुनाव में जवाब देना है।"

दिल्ली में ऐसे बढ़ता गया पेट्रोल का दाम

  • Nov 04, 2021:103.97 ₹/L
  • Nov 03, 2021:105.04 ₹/L
  • Nov 02, 2021:110.04 ₹/L
  • Nov 01, 2021:109.69 ₹/L
  • Oct 31, 2021:109.34 ₹/L
  • Oct 30, 2021:108.99 ₹/L
  • Oct 29, 2021:108.64 ₹/L
  • Oct 28, 2021:108.29 ₹/L
  • Oct 27, 2021:107.94 ₹/L
  • Oct 26, 2021:107.59 ₹/L
  • Oct 25, 2021:107.59 ₹/L
  • Oct 24, 2021:107.59 ₹/L
  • Oct 23, 2021:107.24 ₹/L
  • Oct 22, 2021:106.89 ₹/L
  • Oct 21, 2021: 106.54 ₹/L
  • Oct 20, 2021:106.19 ₹/L
  • Oct 19, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 18, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 17, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 16, 2021:105.49 ₹/L
  • Oct 15, 2021:105.14 ₹/L

दिल्ली में ऐसे बढ़ता गया डीजल का दाम

  • Nov 04, 2021:86.67/L
  • Nov 03, 2021:98.42 ₹/L
  • Nov 02, 2021:98.42 ₹/L
  • Nov 01, 2021:98.42 ₹/L
  • Oct 31, 2021:98.07 ₹/L
  • Oct 30, 2021:97.72 ₹/L
  • Oct 29, 2021:97.37 ₹/L
  • Oct 28, 2021:97.02 ₹/L
  • Oct 27, 2021:96.67 ₹/L
  • Oct 26, 2021:96.32 ₹/L
  • Oct 25, 2021:96.32 ₹/L
  • Oct 24, 2021:96.32 ₹/L
  • Oct 23, 2021:95.97 ₹/L
  • Oct 22, 2021:95.62 ₹/L
  • Oct 21, 2021:95.27 ₹/L
  • Oct 20, 2021:94.92 ₹/L
  • Oct 19, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 18, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 17, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 16, 2021:/94.22 ₹/L
  • Oct 15, 2021:93.87 ₹/L

हर रोज अपडेट होती है पेट्रोल-डीजल की कीमत

विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत के आधार पर पेट्रोल और डीजल की कीमत प्रतिदिन अपडेट की जाती है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां कीमतों की समीक्षा के बाद रोज पेट्रोल और डीजल के दाम तय करती हैं। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम तेल कंपनियां हर दिन सुबह विभिन्न शहरों की पेट्रोल और डीजल की कीमतों की जानकारी अपडेट करती हैं।

SMS से जानें अपने शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम

पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) के दाम प्रतिदिन अपडेट किए जाते हैं। ऐसे में आप सिर्फ एक SMS के जरिए रोज अपने शहर में पेट्रोल-डीजल की कीमत जान सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल (IOCL) के ग्राहकों को RSP कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा।

Next Story

विविध

Share it