आर्थिक

Petrol Ka Dam, 6 october 2021: इंदौर में पेट्रोल की कीमत की सर्वाधिक मार तो डीजल जयपुर में शतक बनाने को तैयार

Janjwar Desk
5 Oct 2021 5:03 PM GMT
Petrol Ka Dam, 6 october 2021: इंदौर में पेट्रोल की कीमत की सर्वाधिक मार तो डीजल जयपुर में शतक बनाने को तैयार
x
Petrol Ka Dam, 6 october 2021: इंदौर में पेट्रोल की कीमत की सर्वाधिक मार तो डीजल जयपुर में शतक बनाने को तैयार देश में ईंधन की बढ़ती कीमतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है।

Petrol Ka Dam, 6 october 2021: इंदौर में पेट्रोल की कीमत की सर्वाधिक मार तो डीजल जयपुर में शतक बनाने को तैयार देश में ईंधन की बढ़ती कीमतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में जिस तेजी से कच्चे तेल के दाम बढ़ रहे हैं, उसी तरह घरेलू बाजार में भी पेट्रोल-डीजल के रेट में इजाफा होने के साथ भारत में ईंधन की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर हैं। ऐसे में माह के छठवें दिन बुधवार को भी पेट्रोल-डीजल के मंहगाई से राहत नहीं मिलने को है। आंकड़ों पर गौर करें तो देश में सबसे महंगा पेट्रोल मध्यप्रदेश के प्रमुख शहर इंद्रौर के लोगों को खरीदनी पड़ रही है। यहां पेट्रोल शतक का आंकड़ा काफी पहले ही पार कर 109 ़81 रूपये है।जबकि डीजल की बात करें तो राजस्थान की राजधानी जयपुर के लोगों को सबसे महंगा 5 अक्टूबर दिन मंगलवार को 97 ़91 रूपये प्रति लीटर के दर से खरीदनी पड़ी। पेट्रोल-डीजल के दाम में फिलहाल राहत के आसार नजर नहीं आ रहे है।

देश की सबसे बड़ी सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने डीजल ने मंगलवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया। मंगलवार के कीमतों का आंकड़ा देखें तो बिहार की राजधानी पटना में पेट्रोल प्रति लीटर 103 ़89 रूपये रहा। हालांकि सबसे अधिक देश में पेट्रोल के लिए देश के प्रमुख स्मार्ट सिटी में सुमार मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के लोगों को चुकानी पड़ रही है। यहां पेट्रोल 109 ़81 रूपये रहा। जबकि उसके अपेक्षाकृत सबसे कम कीमत झारखंड के प्रमुख शहर जमशेदपुर में है। यहां पेट्रोल जयपुर में बिक रहे डीजल के रेट से भी कम 96 ़26 रूपये है।

अक्टूबर में ईंधन की कीमत में कमी के आसार नहीं

प्रतिदिन पेट्रोल-डीजल का भाव बढ रहा है। अक्टूबर माह में अभी तक सिर्फ एक दिन पेट्रोल-डीजल का रेट स्थिर रहा है। इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, ईंधन के दामों में ताजा वृद्धि के बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 102.64 रुपये प्रति लीटर और डीजल 91.07 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया है। देश के चारों महानगरों की अगर तुलना करें तो मुंबई में पेट्रोल-डीजल सबसे अधिक महंगा है। क्रमशः पेट्रोल डीजल के दाम दिल्ली में 102.64- 91.07, मुंबई में 108.67- 98.80, कोलकाता में 103.36- 94.17 व चेन्नई में 100.23- 95.59 रूपये है।

भारत अपनी कच्चे तेल की जरूरत का 85 फीसदी और प्राकृतिक गैस की जरूरत का करीब आधा आयात करता है। जहां आयातित कच्चे तेल को पेट्रोल और डीजल जैसे ईंधन में बदल दिया जाता है, गैस का उपयोग वाहनों में सीएनजी और कारखानों में ईंधन के रूप में किया जाता है। मूल्य वृद्धि से जुड़े फैसले में शामिल एक सरकारी अधिकारी ने कहा, अंतरराष्ट्रीय कच्चे तेल की कीमतें ऊंची बनी हुई हैं। जिससे भारत जैसे प्रमुख तेल आयातकों को कोई राहत नहीं मिली है। (अंतर्राष्ट्रीय बेंचमार्क) ब्रेंट क्रूड वायदाएक महीने पहले यह 72 डॉलर से कम था। इस उछाल की वजह से तेल कंपनियों के मार्जिन पर असर पड़ रहा है और वे पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में बढोतरी के रूप में उपभोक्ताओं पर इसका बोझ डालने पर मजबूर हैं। जुलाई और अगस्त के दौरान अंतरराष्ट्रीय कच्चे तेल की कीमतें बढने के साथ, तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) ने 18 जुलाई से 23 सितंबर तक कोई मूल्य वृद्धि नहीं की थी। इसके उलट पेट्रोल पर 0.65 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 1.25 रुपये की कुल कमी हुई थी। हालांकि, अंतरराष्ट्रीय कीमतों में वृद्धि से कोई राहत नहीं मिलने के कारण तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल के खुदरा बिक्री मूल्य में क्रमश 28 सितंबर से बढोतरी शुरू कर दी।

दशहरा और दिवाली में बरकरार रहेगी ईंधन पर महंगाई की आग

अंतर्राष्टीय बाजार में तेल के दाम बढने से यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि दशहरा और दिवाली पर आम आदमी को महंगाई का और झटका लगेगा। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के बाद अब नेचुरल गैस के दाम बढने लगे है। इसलिए माना जा रहा है कि अक्टूबर से गैस की कीमतों में 70 फीसदी तक बढोतरी हो सकती है। ऐसे में गैस डिस्ट्रीब्यूशन करने वाली कंपनी कीमतों में इजाफा कर सकती है। ऐसे में ऑटो फ्यूल के रूप में इस्तेमाल होने वाली सीएनजी और घरों में खाना पकाने के लिए इस्तेमाल होने वाली पाइप्ड नेचुरल गैस की कीमतें बढ जाएंगी। इससे आम आदमी की जेब पर बोझ पडना लगभग तय है। हालांकि मंगलवार को कच्चा तेल महंगा होने के बावजूद दाम नहीं बढे। डॉमेस्टिक गैस पॉलिसी 2014 के तहत हर छह महीने में नेचुरल गैस की कीमतें तय की जाती है। यह फॉर्मूला विदेशी कीमतों पर आधारित है। अप्रैल 2021 के बाद अब अक्टूबर 2021 में कीमतें तय होंगी। कई ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट में बताया गया है कि गैस के दाम में इजाफा हो सकता है।गैस के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। ग्लोबल मार्केट में नेचुरल गैस की कीमतों में 8 फीसदी से ज्यादा का उछाल आया है।वहीं, कच्चे तेल का भाव 80 डॉलर प्रति बैरल है।

ऐसे पता करें अपने शहर में पेट्रोल-डीजल का भाव

पेट्रोल-डीजल के खुदरा भाव को हर रोज रिवाइज किया जाता है और इसके बाद सुबह 6 बजे नया दाम जारी होता है. आप अपने घर बैठे मैसेज के जरिए ही अपने नजदीकी पेट्रोल पंप पर पेट्रोल-डीजल का भाव जान सकते हैं। इंडियन ऑयल के कस्टमर अपने मोबाइल से आरएसपी के साथ शहर का कोड डालकर 9224992249 पर मैसेज भेजेंगे. शहर कोड आपको इंडियन ऑयल की आधिकारिक वेबसाइट पर मिल जाएगा। मैसेज भेजने के बाद आपको पेट्रोल और डीजल का ताजा भाव भेज दिया जाएगा।

Next Story

विविध

Share it