आर्थिक

Petrol Ka Dam: ईंधन तेल के कीमतों में बढ़त बरकरार, दुनियाभर की तेल कंपनियों के सीईओ साथ पीएम की वार्ता पर उठे सवाल

Janjwar Desk
21 Oct 2021 5:58 PM GMT
Petrol-Diesel Price Today Petrol Ka Dam
x

(पेट्रोल डीजल का दाम स्थिर)

Petrol Ka Dam: ईंधन तेल के कीमतों में बढ़त बरकरार, दुनियाभर की तेल कंपनियों के सीईओ साथ पीएम की वार्ता पर उठे सवाल भारतीय पेट्रोलियम विपणन कंपनियों के तरफ सेे पेट्रोल व डीजल की कीमतों में हर दिन वृद्धि का क्रम जारी है।

Petrol Ka Dam: ईंधन तेल के कीमतों में बढ़त बरकरार, दुनियाभर की तेल कंपनियों के सीईओ साथ पीएम की वार्ता पर उठे सवाल भारतीय पेट्रोलियम विपणन कंपनियों के तरफ सेे पेट्रोल व डीजल की कीमतों में हर दिन वृद्धि का क्रम जारी है। इस बीच सरकार द्वारा दावा किया गया कि बढ़ती कीमत पर रोक के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनियाभर की तेल कंपनियों के सीईओ साथ बैठक की। हालांकि सरकार के तरफ से किए गए पहल पर लोग सवाल उठा रहे हैं। लोगों का मानना है कि सरकार द्वारा तकरीबन कुल मूल्य का आधा टैक्स लिया जा रहा है। जिसमें कमी लाए बीना महंगाई की मार से राहत नहीं दिलाई जा सकती। ऐसे में 22 अक्टूबर दिन शुक्रवार को भी लोगों को तेल के खेल का सामना करना पड़ा।

एक दिन पूर्व गुरूवार को पेट्रोल में 35 पैसे की बढ़ोतरी की तो वहीं डीजल के दाम भी 35 पैसे बढ़े हैं। जिसके चलते राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 106.54 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 112.44 रुपये प्रति लीटर दर्ज किया गया। मुंबई में डीजल अब 103.26 रुपये प्रति लीटर के भाव बिक रहा है। जबकि दिल्ली में डीजल का रेट 95.27 रुपये प्रति लीटर है। अक्टूबर के महीने में ईंधन की कीमतों में अब तक 5 रुपये से ज्यादा की बढ़ोत्तरी हो चुकी है।

पिछले साल अप्रैल में अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल का दाम टूटकर 19 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया था। इसका कारण कोरोना वायरस महामारी को लेकर किए गए लाॅकडाउन को बताया गया। इस साल टीकाकरण के साथ वैश्विक स्तर पर अर्थव्यवस्था में गतिविधियां तेज होने से मांग बढ़ने से अंतरराष्ट्रीय मानक ब्रेंट क्रूड अब 84 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया है। इससे ईंधन महंगा हुआ है। पेट्रोलीयम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि भारत का तेल आयात बिल 2020 में जून तिमाही 8.8 अरब डॉलर था। यह वैश्विक स्तर पर तेल के दाम में तेजी के कारण अब 24 अरब डॉलर पहुंच गया है।

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक दिन पूर्व एक हाईलेवल मीटिंग की थी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस मीटिंग में दुनियाभर की तेल कंपनियों के सीईओऔर एक्सपर्ट्स शामिल हुए। जिसमें प्रधानमंत्री ने पिछले 7 साल में तेल और गैस क्षेत्र में सुधारों पर चर्चा की और देश को प्रकारांतर से यह संदेश दिया कि महंगे पेट्रोल-डीजल के लिए निर्यातक देश जिम्मेदार हैं।वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में लाइसेंस नीति, गैस मार्केटिंग, कोल बेड मीथेन पर नीतियां, कोयला गैसीकरण और भारतीय गैस एक्सचेंज के हालिया सुधार पर बातचीत हुई। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कच्चे तेल के लिए भंडारण सुविधाओं को बढ़ाने की आवश्यकता के बारे में भी बताया। उन्होंने आगे कहा कि देश को प्राकृतिक गैस की सख्त जरूरत है। उन्होंने पाइपलाइनों, शहरी गैस वितरण और एलएनजी रीगैसीफिकेशन टर्मिनलों सहित वर्तमान और संभावित गैस बुनियादी ढांचे के विकास पर चर्चा की।

महंगी कीमत के लिए अधिक टैक्स बड़ा कारण

पेट्रोल और डीजल की उच्च कीमतों में इस पर लगने वाले टैक्स और चार्जेज का बहुत बड़ा हाथ है। पेट्रोल और डीजल पर केंद्र और राज्य सरकार दोनों टैक्स वसूलते हैं। इसके अलावा फ्रेट, डीलर चार्ज और डीलर कमीशन भी रहता है। इन सब को पेट्रोल और डीजल के बेस प्राइस में जोड़ देने के बाद रिटेल कीमत सामने आती है। हाल यह है कि 44.06 रुपये के पेट्रोल पर 57.24 रुपये का टैक्स और 45.75 रुपये के डीजल पर 45.57 रुपये का टैक्स है।पेट्रोल और डीजल पर केन्द्रीय उत्पाद शुल्क की दर पूरे भारत में समान है। लेकिन वैट की दर अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होती है। भारत में पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा वैट राजस्थान में लगता है। पेट्रोल कीमत में करीब 55 फीसदी और डीजल की कीमत में करीब 50 फीसदी हिस्सा टैक्स का ही होता है। भारत में पेट्रोल और डीजल की जितनी खपत है, उसके मुकाबले कच्चे तेल का उत्पादन काफी कम है। देश में इस समय करीब 70 फीसदी क्रूड ऑयल विदेशों से आता है। फिर उसे देश में स्थित रिफाइनरी में साफ किया जाता है और उससे पेट्रोल, डीजल, एलपीजी आदि निकाला जाता है। इस समय कच्चे तेल की कीमतें 85 डॉलर के आसपास चल रही हैं।

देश में बीते छह सालों में केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल से कमाई 307 फीसदी तक बढ़ा ली है। सरकार की कमाई का यह बड़ा जरिया बना हुआ है।सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले तीन सालों में पेट्रोल-डीजल से सरकार को टैक्स से कमाई तीन गुना से ज्यादा तक बढ़ चुकी है। अप्रैल 2020 से जनवरी 2021 के बीच सरकार ने तेल पर टैक्स के माध्यम से 2.94 लाख करोड़ रुपये का राजस्व जुटाया है।

प्रमुख महानगरों में पेट्रोल-डीजल का भाव

शहर का नाम पेट्रोल डीजल

  • दिल्ली 106.54 95.27
  • मुंबई 112.44 103.26
  • कोलकाता 107.11 98.38
  • चेन्नई 103.61 99.59

दिल्ली में ऐसे बढ़ते गया पेट्रोल का दाम

  • Oct 21, 2021-106.54 ₹/L
  • Oct 20, 2021-106.19 ₹/L
  • Oct 19, 2021-105.84 ₹/L
  • Oct 18, 2021-105.84 ₹/L
  • Oct 17, 2021-105.84 ₹/L
  • Oct 16, 2021-105.49 ₹/L
  • Oct 15, 2021-105.14 ₹/L
  • Oct 14, 2021-104.79 ₹/L
  • Oct 13, 2021-104.44 ₹/L
  • Oct 12, 2021-104.44 ₹/L

दिल्ली में ऐसे बढ़ता गया डीजल का दाम

  • Oct 21, 2021-95.27 ₹/L
  • Oct 20, 2021-94.92 ₹/L
  • Oct 19, 2021-94.57 ₹/L
  • Oct 18, 2021-94.57 ₹/L
  • Oct 17, 2021-94.57 ₹/L
  • Oct 16, 2021-94.22 ₹/L
  • Oct 15, 2021-93.87 ₹/L
  • Oct 14, 2021-93.52 ₹/L
  • Oct 13, 2021-93.17 ₹/L
  • Oct 12, 2021-93.17 ₹/L


प्रमुख शहरों में पेट्रोल व डीजल का दाम

  • आगरा-103.28 ₹/95.48
  • अहमदाबाद-103.23 ₹/102.68₹
  • प्रयागराज-103.60 ₹/ 95.81 ₹
  • औरंगाबाद-113.77 ₹/104.59₹
  • बंगलुरु-110.25 ₹/101.12 ₹
  • भोपाल-115.17 ₹/104.52 ₹
  • भुवनेश्वर- 107.48 ₹/103.92 ₹
  • चंडीगढ़-102.54 ₹/94.99 ₹
  • कोयंबटूर-104.09 ₹/100.08 ₹
  • देहरादून-102.59 ₹/96.13 ₹
  • इरोड-104.09 ₹/100.09 ₹
  • फरीदाबाद-104.47 ₹/96.31 ₹
  • गाज़ियाबाद-103.52 ₹/95.71 ₹
  • गुरुग्राम-104.15 ₹/96.02 ₹
  • गुवाहटी-102.52 ₹/95.02 ₹
  • हैदराबाद-110.82 ₹/103.94 ₹
  • इंदौर-115.21 ₹/104.58 ₹
  • जयपुर-113.74 ₹/104.96 ₹
  • जम्मू-105.63 ₹/95.87 ₹
  • जमशेदपुर-100.84 ₹/100.45 ₹
  • कानपुर-103.20 ₹/95.42 ₹
  • कोल्हापुर-112.51 ₹/101.76 ₹
  • कोझिकोड-107.02 ₹/100.77
  • लखनऊ-103.18 ₹/95.37 ₹
  • लुधियाना-108.20 ₹/98.02 ₹
  • मदुरै-104.18 ₹/100.19 ₹
  • मंगलौर-109.40 ₹/100.30 ₹
  • मैसूर-109.75 ₹/100.66 ₹
  • नागपुर-112.16 ₹/101.43 ₹
  • नासिक-112.80 ₹/102.01 ₹
  • नोएडा-103.74 ₹/95.91 ₹
  • पटना-110.04 ₹/101.86 ₹
  • पुणे-111.96 ₹/101.21 ₹
  • .रायपुर-104.32 ₹/102.96 ₹
  • राजकोट-102.99 ₹/102.46 ₹
  • रांची-100.91 ₹/100.53 ₹
  • सालेम-104.36 ₹/100.35 ₹
  • शिमला-103.83 ₹/94.32 ₹
  • श्रीनगर-109.47 ₹/99.17 ₹
  • सूरत-102.75 ₹/102.18 ₹
  • ठाणे-112.24 ₹/103.02 ₹
  • तिरुवनंतपुरम-108.44 ₹/102.03 ₹
  • वडोदरा-102.53 ₹/101.94 ₹
  • वाराणसी-104.02 ₹/96.16 ₹
  • विशाखापत्तनम-111.26 ₹ 103.80 ₹

हर रोज अपडेट होती है पेट्रोल-डीजल की कीमत

विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत के आधार पर पेट्रोल और डीजल की कीमत प्रतिदिन अपडेट की जाती है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां कीमतों की समीक्षा के बाद रोज पेट्रोल और डीजल के दाम तय करती हैं। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम तेल कंपनियां हर दिन सुबह विभिन्न शहरों की पेट्रोल और डीजल की कीमतों की जानकारी अपडेट करती हैं

SMS से जानें अपने शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम

पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) के दाम प्रतिदिन अपडेट किए जाते हैं। ऐसे में आप सिर्फ एक SMS के जरिए रोज अपने शहर में पेट्रोल-डीजल की कीमत जान सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल (IOCL) के ग्राहकों को RSP कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा।

Next Story

विविध

Share it