आर्थिक

Petrol Ka Dam: पेट्रोल-डीजल के महंगाई की मार, टैक्स से सरकार का खजाना छह माह में हुआ 1.71 लाख करोड़ रुपए पार

Janjwar Desk
31 Oct 2021 6:23 PM GMT
Petrol Ka Dam, 10 nov 2021
x

पेट्रोल डीजल का दाम स्थिर है।

Petrol Ka Dam: देश में पेट्रोल-डीजल की कीमत के मामले में अपना ही रिकार्ड हर दिन तोड़ने में लगा है। जिसके चलते आम आदमी की महंगाइ्र्र ने कमर तोड़ दी है। आमतौर पर हर दिन बढ़ती कीमत से राहत के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। उधर सरकार उत्पाद शुल्क के नाम पर पहली छमाही मंे 1.71 लाख करोड़ रुपए वसूल किए हैं। Petrol Ka Dam | Petrol Diesel Ka Dam | Fuel Rate Today | Tel Ka Dam

Petrol Ka Dam: देश में पेट्रोल-डीजल की कीमत के मामले में अपना ही रिकार्ड हर दिन तोड़ने में लगा है। जिसके चलते आम आदमी की महंगाइ्र्र ने कमर तोड़ दी है। आमतौर पर हर दिन बढ़ती कीमत से राहत के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। उधर सरकार उत्पाद शुल्क के नाम पर पहली छमाही मंे 1.71 लाख करोड़ रुपए वसूल किए हैं।

ईंधन तेल की बढ़ती कीमत का सामना नवंबर माह के पहले दिन भी उपभोक्ताओं को करनी पड़ी। जबकि सरकारी तेल कंपनियों ने रविवार को पेट्रोल-डीजल के दामों में 35 पैसे प्रति लीटर महंगा किया। जिसके मुताबिक दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 109.34 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 115.15 रुपये प्रति लीटर के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। मुंबई में डीजल अब 106.23 रुपये प्रति लीटर के भाव बिक रहा है, जबकि दिल्ली में डीजल का रेट 98.07 रुपये प्रति लीटर है। पेट्रोल-डीजल के आसमान छूते दामों ने आम जनता का जीना मुहाल कर रखा है। मध्य प्रदेश के सीमावर्ती अनूपपुर जिले में पेट्रोल की कीमत 121 रुपये प्रति लीटर को पार पहुंच गई है। जबकि डीजल 110 रुपये प्रति लीटर के पार बिक रहा है। वहीं, बालाघाट में भी पेट्रोल का भाव 120 रुपये प्रति लीटर से अधिक है। बालाघाट में पेट्रोल का मूल्य 120.42 रुपये जबकि डीजल 109.69 रुपये प्रति लीटर है। तेल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी से लोगों की नाराजगी बढ़ती जा रही है।

महानगरों में पट्रोल-डीजल का आज का भाव

शहर का नाम पेट्रोल डीजल

  • दिल्ली 109.34 98.07
  • मुंबई 115.15 106.23
  • कोलकाता 109.79 101.19
  • चेन्नई 106.04 102.25

पहली छमाही में 33 प्रतिशत बढ़ा उत्पाद शुल्क, 1.71 लाख करोड़ रुपए की कमाई

ईंधन तेल की बढ़ती कीमत से भले ही आम आदमी बेहाल है ,पर इस पर लगने वाले उत्पाद शुल्क से सरकार का खजाना तेजी से बढता जा रहा है। पेट्रोलियम उत्पादों पर उत्पाद शुल्क संग्रह चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 33 प्रतिशत बढ़ा है।यदि कोविड-पूर्व के आंकड़ों से तुलना की जाए, तो पेट्रोलियम उत्पादों पर उत्पाद शुल्क संग्रह में 79 प्रतिशत की बड़ी वृद्धि हुई है। मोदी सरकार ने पहली छमाही में 1.71 लाख करोड़ रुपए जुटाए हैं। लेखा महानियंत्रक ( कैग) के आंकड़ों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष के पहले छह माह में पेट्रोलियम उत्पादों पर सरकार का उत्पाद शुल्क संग्रह पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 33 प्रतिशत बढ़कर 1.71 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। पिछले साल की समान अवधि में यह 1.28 लाख करोड़ रुपये रहा था। यह अप्रैल-सितंबर, 2019 के 95,930 करोड़ रुपये के आंकड़े से 79 प्रतिशत अधिक है।

वित्त वर्ष 2020-21 में पेट्रोलियम उत्पादों से सरकार का उत्पाद शुल्क संग्रह 3.89 लाख करोड़ रुपये रहा था। 2019-20 में यह 2.39 लाख करोड़ रुपये था। माल एवं सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली लागू होने के बाद सिर्फ पेट्रोल, डीजल, विमान ईंधन और प्राकृतिक गैस पर ही उत्पाद शुल्क लगता है। अन्य उत्पादों और सेवाओं पर जीएसटी लगता है। सीजीए के अनुसार, 2018-19 में कुल उत्पाद शुल्क संग्रह 2.3 लाख करोड़ रुपये रहा था। इसमें से 35,874 करोड़ रुपये राज्यों को वितरित किए गए थे। इससे पिछले 2017-18 के वित्त वर्ष में 2.58 लाख करोड़ रुपये में से 71,759 करोड़ रुपये राज्यों को दिए गए थे। वित्त वर्ष 2020-21 की पहली छमाही में पेट्रोलियम उत्पादों पर बढ़ा हुआ उत्पाद शुल्क संग्रह 42,931 करोड़ रुपये रहा था। यह सरकार की पूरे साल के लिए बांड देनदारी 10,000 करोड़ रुपये का चार गुना है। ये तेल बांड पूर्ववर्ती कांग्रेस की अगुवाई वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार में जारी किए गए थे। ज्यादातर उत्पाद शुल्क संग्रह पेट्रोल और डीजल की बिक्री से हासिल हुआ है। एक अनुमान के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में बढ़ा हुआ उत्पाद शुल्क संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से अधिक रह सकता है।

हाल यह है कि पेट्रोल और डीजल पर सबसे अधिक उत्पाद शुल्क जुटाया जा रहा है। नरेंद्र मोदी सरकार ने पिछले साल वाहन ईंधन पर कर दरों को रिकॉर्ड उच्चस्तर पर कर दिया था।पिछले साल पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क को 19.98 रुपये से बढ़ाकर 32.9 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया था। इसी तरह डीजल पर शुल्क बढ़ाकर 31.80 रुपये प्रति लीटर किया गया था। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें सुधार के साथ 85 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गई हैं और मांग लौटी है, लेकिन सरकार ने उत्पाद शुल्क नहीं घटाया है। इस वजह से आज देश के सभी बड़े शहरों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गया है। वहीं डेढ़ दर्जन से अधिक राज्यों में डीजल शतक लगा चुका है। सरकार ने पांच मई, 2020 को उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी कर इसे रिकॉर्ड स्तर पर कर दिया था। उसके बाद से पेट्रोल के दाम 37.38 रुपये प्रति लीटर बढ़े हैं। इस दौरान डीजल कीमतों में 27.98 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है।

दिल्ली में ऐसे बढ़ता गया पेट्रोल का दाम

  • Oct 31, 2021:109.34 ₹/L
  • Oct 30, 2021:108.99 ₹/L
  • Oct 29, 2021:108.64 ₹/L
  • Oct 28, 2021:108.29 ₹/L
  • Oct 27, 2021:107.94 ₹/L
  • Oct 26, 2021:107.59 ₹/L
  • Oct 25, 2021:107.59 ₹/L
  • Oct 24, 2021:107.59 ₹/L
  • Oct 23, 2021:107.24 ₹/L
  • Oct 22, 2021:106.89 ₹/L
  • Oct 21, 2021: 106.54 ₹/L
  • Oct 20, 2021:106.19 ₹/L
  • Oct 19, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 18, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 17, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 16, 2021:105.49 ₹/L
  • Oct 15, 2021:105.14 ₹/L

दिल्ली में ऐसे बढ़ता गया डीजल का दाम

  • Oct 31, 2021:98.07 ₹/L
  • Oct 30, 2021:97.72 ₹/L
  • Oct 29, 2021:97.37 ₹/L
  • Oct 28, 2021:97.02 ₹/L
  • Oct 27, 2021:96.67 ₹/L
  • Oct 26, 2021:96.32 ₹/L
  • Oct 25, 2021:96.32 ₹/L
  • Oct 24, 2021:96.32 ₹/L
  • Oct 23, 2021:95.97 ₹/L
  • Oct 22, 2021:95.62 ₹/L
  • Oct 21, 2021:95.27 ₹/L
  • Oct 20, 2021:94.92 ₹/L
  • Oct 19, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 18, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 17, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 16, 2021:/94.22 ₹/L
  • Oct 15, 2021:93.87 ₹/L

हर रोज अपडेट होती है पेट्रोल-डीजल की कीमत

विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत के आधार पर पेट्रोल और डीजल की कीमत प्रतिदिन अपडेट की जाती है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां कीमतों की समीक्षा के बाद रोज पेट्रोल और डीजल के दाम तय करती हैं। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम तेल कंपनियां हर दिन सुबह विभिन्न शहरों की पेट्रोल और डीजल की कीमतों की जानकारी अपडेट करती हैं।

SMS से जानें अपने शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम

पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) के दाम प्रतिदिन अपडेट किए जाते हैं। ऐसे में आप सिर्फ एक SMS के जरिए रोज अपने शहर में पेट्रोल-डीजल की कीमत जान सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल (IOCL) के ग्राहकों को RSP कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा।

Next Story

विविध

Share it