आर्थिक

Petrol Ka Dam: ईंधन तेल की महंगाई के बाद अब सौर ऊर्जा पर भी बढ़ेगी बाजार की मार

Janjwar Desk
25 Oct 2021 7:11 PM GMT
Petrol Ka Dam: ईंधन तेल की महंगाई के बाद अब सौर ऊर्जा पर भी बढ़ेगी बाजार की मार
x

पेट्रोल डीजल के दाम आज भी स्थिर

Petrol Ka Dam: सरकारी तेल कंपनियों की ओर से पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार की जा रही बढ़ोतरी के बाद आम आदमी पर एक और संकट गहराने के संकेत मिल रहे हैं। अब यह परेशानी सौर ऊर्जा को लेकर है।

Petrol Ka Dam: सरकारी तेल कंपनियों की ओर से पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार की जा रही बढ़ोतरी के बाद आम आदमी पर एक और संकट गहराने के संकेत मिल रहे हैं। अब यह परेशानी सौर ऊर्जा को लेकर है। चीन में बिजली संकट उत्पन्न होने के बाद सौर ऊर्जा की परियोजनाएं भी प्रभावित होने लगी है। एक अनुमान के मुताबिक सौर ऊर्जा की परियोजना का साठ प्रतिशत उसके माड्यूल पर खर्च होता है। संकट में इस पर लागत बढ़ने से प्रोजेक्ट का खर्च बढ़ जाएगा। सौर ऊर्जा कारोबार में 78 प्रतिशत सोलर इक्विपमेंट बाजार में चीन की हिस्सेदारी के चलते संकट के दौर में बाजार पर इसका असर देखने को मिलेगा।

उधर लगातार पेट्रोल डीजल के दाम में हो रही बढ़ोत्तरी के बाद अचानक आज एक स्थिरता दिखी। ऐसे में दिल्ली में पेट्रोल का दाम 107.59 रुपये जबकि डीजल का दाम 96.32 रुपये प्रति लीटर ही रहा। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 113.46 रुपये व डीजल की कीमत 104.38 रुपये प्रति लीटर है। कोलकाता में पेट्रोल का दाम 108.11 रुपये जबकि डीजल का दाम 99.43 रुपये लीटर है। वहीं चेन्नई में भी पेट्रोल 104.52 रुपये लीटर है तो डीजल 100.59 रुपये लीटर है।

सरकारी तेल कंपनियों की ओर से डीजल के दाम 34 से 38 पैसे तो वहीं पेट्रोल के दाम 30 से 35 पैसे हर दिन बढ़ाए जा रहे थे। इसके चलते कई राज्यों में पेट्रोल के बाद अब डीजल का दाम 100 रुपये से ऊपर पहुंच चुके हैं। देश में रोजाना बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दाम आम आदमी की आमदनी पर असर डाल रहे हैं।

प्रमुख महानगरों में कीमत

शहर डीजल पेट्रोल

  • दिल्ली 96.32: 107.59
  • मुंबई 104.38 :113.46
  • कोलकाता 99.43 :108.11
  • चेन्नई 100.59 :104.52

(पेट्रोल-डीजल की कीमत रुपये प्रति लीटर में है।)

18 महीने में पेट्रोल 36 और डीजल 26.58 रुपये महंगा हुआ

पेट्रोल और डीजल दोनों के दाम 35-35 पैसे प्रति लीटर और बढ़ गए हैं। देशभर के पेट्रोल पंपों पर वाहन ईंधन के दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए हैं। वहीं, बीते 18 महीने में पेट्रोल 36 और डीजल 26.58 रुपये महंगा हो चुका है।। देश के सभी प्रमुख शहरों में पेट्रोल शतक के पार जा चुका है। वहीं जम्मू-कश्मीर से लेकर तमिलनाडु तक डेढ़ दर्जन राज्यों/संघ शासित प्रदेशों में डीजल 100 रुपये प्रति लीटर से अधिक बिक रहा है। अब पश्चिम बंगाल भी इस सूची में शामिल हो गया है। मध्य प्रदेश का सीमावर्ती जिला अनूपपुर जिले में पेट्रोल की कीमत 119 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 108 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गई है। वहीं, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले में पेट्रोल 118 रुपये तथा डीजल 107 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच चुका है।

दिल्ली में ऐसे बढ़ता गया पेट्रोल का दाम

  • Oct 25, 2021:107.59 ₹/L
  • Oct 24, 2021:107.59 ₹/L
  • Oct 23, 2021:107.24 ₹/L
  • Oct 22, 2021:106.89 ₹/L
  • Oct 21, 2021: 106.54 ₹/L
  • Oct 20, 2021:106.19 ₹/L
  • Oct 19, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 18, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 17, 2021:105.84 ₹/L
  • Oct 16, 2021:105.49 ₹/L
  • Oct 15, 2021:105.14 ₹/L

दिल्ली में ऐसे बढ़ता गया डीजल का दाम

  • Oct 25, 2021:96.32 ₹/L
  • Oct 24, 2021:96.32 ₹/L
  • Oct 23, 2021:95.97 ₹/L
  • Oct 22, 2021:95.62 ₹/L
  • Oct 21, 2021:95.27 ₹/L
  • Oct 20, 2021:94.92 ₹/L
  • Oct 19, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 18, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 17, 2021:94.57 ₹/L
  • Oct 16, 2021:/94.22 ₹/L
  • Oct 15, 2021:93.87 ₹/L

हर रोज अपडेट होती है पेट्रोल-डीजल की कीमत

विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत के आधार पर पेट्रोल और डीजल की कीमत प्रतिदिन अपडेट की जाती है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां कीमतों की समीक्षा के बाद रोज पेट्रोल और डीजल के दाम तय करती हैं। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम तेल कंपनियां हर दिन सुबह विभिन्न शहरों की पेट्रोल और डीजल की कीमतों की जानकारी अपडेट करती हैं

सौर ऊर्जा के बाजार पर अब महंगाई की होगी मार

कच्चे तेल, गैस और कोयले जैसे पारंपरिक ईंधन की कीमतों में उछाल आने के बाद अब नया संकट सौर ऊर्जा को लेकर हो गया है। चीन में बिजली संकट गहराने के बाद भारतीय सौर परियोजनाओं के लिए सोलर मॉड्यूल की कीमतें 28 सेंट प्रति किलोवाट-घंटे के उच्च स्तर को छू रही हैं। यह 2019 के बाद से सबसे अधिक है। यानी आने वाले दिनों में सौर ऊर्जा भी महंगा होने की पूरी आशंका है।

यह उछाल चीन की अब तक की सबसे गंभीर बिजली संकट के कारण आया है, जिसमें कारखाने सीमित दिनों में चल रहे हैं। सौर ऊर्जा परियोजना की कुल लागत का लगभग 60 प्रतिशत मॉड्यूल में निवेश होता है। ऐसे में मॉड्यूल की कीमत में वृद्धि परियोजनाओं की लागत बढ़ाने का काम करेगी। इससे सौर ऊर्जा की भी लागत बढ़ेगी, जिसका भुगतान अंत में उपभोक्ताओं को करना होगा। इस घटनाक्रम से जुड़े एक लोग ने बताया कि चीन में बिजली संकट गहराने के बाद चीनी कंपनियां सोलर मॉड्यूल की डिलिवरी नहीं कर पा रही हैं। सौर पैनल कंपनियों के पास 31 मार्च 2022 तक भारतीय कंपनियों का लगभग 5 गीगावाट की आपूर्ति लंबित है।

उधर सोलर इक्विपमेंट बाजार में चीन की 78% हिस्सेदारी है। बाकी वियतनाम, सिंगापुर, थाईलैंड और हांगकांग के पास है। सोलर सेल और मॉड्यूल का आयात पिछले वित्त वर्ष में घटकर 57.165 करोड़ डॉलर रह गया था जो 2018-19 में 2.16 अरब डॉलर और 2019-20 में 1.68 अरब डॉलर था। वहीं, दूसरी ओर सरकार आर्थिक रणनीति के तहत 1 अप्रैल 2022 से आयातित सोलर सेल, मॉड्यूल और इनवर्टनर पर बेसिक कस्टम्स ड्यूटी लगा रही है। इससे भी कीमत और बढ़ेगी।

विशेषज्ञों के मुताबिक समुद्र के रास्ते माल ढुलाई में रुकावट आने से भाड़ा चार गुना हो गया है। इसके अलावा कंटेनर का अभाव हो गया है और अब नोटिस आ रहे हैं। इन सबके चलते चौतरफा समस्याएं पैदा हुई हैं। इससे सोलर पैनल के आयात करने वाले आयातकों की परेशानी कई गुना बढ़ गई है। गौरतलब है कि हाल के दिनों में महंगी बिजली का विकल्प बन रही थी सौर ऊर्जा।

SMS से जानें अपने शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम

पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) के दाम प्रतिदिन अपडेट किए जाते हैं। ऐसे में आप सिर्फ एक SMS के जरिए रोज अपने शहर में पेट्रोल-डीजल की कीमत जान सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल (IOCL) के ग्राहकों को RSP कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा।

Next Story

विविध

Share it