राष्ट्रीय

Madhepura News: 12 बार वैक्सीन लेने वाले 'चाचा' के साथ प्रशासन कर रहा अपराधियों जैसा बर्ताव, कहा- अब आत्महत्या कर लूंगा

Janjwar Desk
13 Jan 2022 12:47 PM GMT
Madhepura News: 12 बार वैक्सीन लेने वाले चाचा के साथ प्रशासन कर रहा अपराधियों जैसा बर्ताव, कहा- अब आत्महत्या कर लूंगा
x

वैक्सीन लेने वाले 'चाचा' ने दी आत्महत्या की धमकी


Madhepura News: ब्रह्मदेव मंडल ने कहा कि उनके साथ अपराधियों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। जिससे उनका पूरा परिवार डरा सहमा है। अगर उनके खिलाफ एफआईआर वापस नहीं हुआ तो वे आत्महत्या कर लेंगे...

Madhepura News: बिहार (Bihar) के मधेपुरा में कोरोना वैक्सीन के 12 डोज लेने के बाद 'वैक्सीन वाले चाचा' के नाम से मशहूर ब्रह्मदेव मंडल (Brahmadev Mandal) से जुड़ा विवाद बढ़ते ही जा रहा है। 12 बार अलग अलग पहचान पत्र का इस्तेमान कर वैक्सीन (Corona Vaccine) लेने और स्वास्थ्य विभाग को चकमा देने के आरोप में 84 साल के ब्रह्मदेव मंडल पर स्वास्थ्य विभाग ने FIR दर्ज कराई है। जिसके बाद पुलिस प्रशासन उनके साथ अपराधियों जैसा बर्ताव कर रही है। पुलिस की प्रताड़ना से तंग आकर बुजुर्ग ने अब एक वीडियो जारी कर आत्महत्या करने की धमकी दी है।

स्वास्थ्य विभाग ने दर्ज कराई प्राथमिकी

बता दें कि मधेपुरा जिले (Madhepura District) के रिटायर्ड पोस्टमास्टर ब्रह्मदेव मंडल उर्फ 'वैक्सीन वाले चचा', जिनका दावा है कि उन्होंने 12 बार कोविड वैक्सीन लिया है। अब स्वास्थ्य विभाग ने गुमराह करने के आरोप में उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। जिसके बाद गिरफ्तारी के डर ब्रह्मदेव मंडल छिपते फिर रहे हैं। इसी बीच ब्रह्मदेव मंडल ने उन्हें अरेस्ट करने और उन पर मुकदमा चलाने पर आत्महत्या कर लेने की धमकी दी है। उनके आत्महत्या करने की धमकी देने वाला वीडियो सामने आने के बाद ब्रह्मदेव मंडल फिर चर्चा में आ गए हैं।

ब्रह्मदेव मंडल ने कहा कि उनके साथ अपराधियों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। जिससे उनका पूरा परिवार डरा सहमा है। पुलिस की लगातार छापेमारी और पूछताछ के बाद गांव वाले और परिवार वाले भी आरोप लगा रहे हैं कि पुलिस ब्रह्मदेव मंडल के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार कर रही है। यदि उन्होंने 12 बार टीका लेकर गलत किया है तो स्वास्थय विभाग भी उतना ही दोषी है।

प्रधानमंत्री से शिकायत करेंगे ब्रह्मदेव

कई बार वैक्सीन लेने के बाद प्रशासन एक्टिव हो गया है। बुजुर्ग ब्रह्मदेव की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उन्हें हर जगह तलाश रही है। वहीं, रिटायर्ड पोस्टमास्टर मंडल ने वीडियो में कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने खुद को बचाने के लिए उनके ऊपर गलत केस दर्ज करवाया है। उन्होंने कहा कि, 'यदि मेरे ऊपर FIR दर्ज होती है तो मैं आत्महत्या कर लूंगा।' उन्होंने इस पूरे घटना की शिकायत प्रधानमंत्री से भी करने की बात कही। उन्होंने इस बात को फिर दोहराया कि 'टीके से काफी लाभ हुआ, इसलिए बार-बार टीका लगवाया। अब वो पूरे तरीके से ठीक हैं, स्वस्थ हैं।'

12 बार वैक्सीन लेने के बाद हुआ फायदा

इधर, ब्रह्मदेव मंडल के दावे का समर्थन उनकी पत्नी माला देवी ने भी किया। बुजुर्ग की पत्नी ने कहा कि टीके (Corona Vaccine) से उनके पति को सच में काफी लाभ हुआ। पहले ने काफी बीमार चल रहे थे। चल फिर भी नहीं पाते थे और काफी कमजोर हो गए थे। उन्होंने अपने दर्द का इलाज कई जगह करवाया, पर फायदा नहीं हुआ। जब वह टीका लिए तो उन्हें काफी लाभ हुआ और अब वे स्वस्थ हैं।

बता दें, ब्रह्मदेव मंडल पर कोरोना वैक्सीनेशन के नियमों का उल्लंघन (Vaccination Rule) का आरोप लगते हुए पुरैनी पीएचसी प्रभारी ने दिनांक 8 जनवरी को धारा 419 / 420 और 188 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है। इस घटना के बाद ब्रह्मदेव मंडल फरार चल रहे हैं और उनका परिवार डरा हुआ है।

(जनता की पत्रकारिता करते हुए जनज्वार लगातार निष्पक्ष और निर्भीक रह सका है तो इसका सारा श्रेय जनज्वार के पाठकों और दर्शकों को ही जाता है। हम उन मुद्दों की पड़ताल करते हैं जिनसे मुख्यधारा का मीडिया अक्सर मुँह चुराता दिखाई देता है। हम उन कहानियों को पाठक के सामने ले कर आते हैं जिन्हें खोजने और प्रस्तुत करने में समय लगाना पड़ता है, संसाधन जुटाने पड़ते हैं और साहस दिखाना पड़ता है क्योंकि तथ्यों से अपने पाठकों और व्यापक समाज को रु-ब-रु कराने के लिए हम कटिबद्ध हैं। हमारे द्वारा उद्घाटित रिपोर्ट्स और कहानियाँ अक्सर बदलाव का सबब बनती रही है। साथ ही सरकार और सरकारी अधिकारियों को मजबूर करती रही हैं कि वे नागरिकों को उन सभी चीजों और सेवाओं को मुहैया करवाएं जिनकी उन्हें दरकार है। लाजिमी है कि इस तरह की जन-पत्रकारिता को जारी रखने के लिए हमें लगातार आपके मूल्यवान समर्थन और सहयोग की आवश्यकता है। सहयोग राशि के रूप में आपके द्वारा बढ़ाया गया हर हाथ जनज्वार को अधिक साहस और वित्तीय सामर्थ्य देगा जिसका सीधा परिणाम यह होगा कि आपकी और आपके आस-पास रहने वाले लोगों की ज़िंदगी को प्रभावित करने वाली हर ख़बर और रिपोर्ट को सामने लाने में जनज्वार कभी पीछे नहीं रहेगा। इसलिए आगे आएं और अपना सहयोग दें। सहयोग राशि : 100 रुपये । 500 रुपये। 1000 रुपये।)

Next Story

विविध