राष्ट्रीय

Bihar Vidhansabha News : आज विधानसभा नहीं पहुंचे स्पीकर, RJD ने खड़ी की नीतीश कुमार के सामने मुश्किलें

Janjwar Desk
15 March 2022 11:12 AM GMT
Bihar Vidhansabha News : आज विधानसभा नहीं पहुंचे स्पीकर, RJD ने खड़ी की नीतीश कुमार के सामने मुश्किलें
x
Bihar Vidhansabha News : आरजेडी के विधायक मंगलवार को काली पट्टी बांधकर विधानसभा पहुंचे। मुख्यमंत्री पर आसन के अपमान का आरोप लगाते हुए माफीनामे की मांग की।

पटना। बिहार विधानसभा के संचालन को लेकर सोमवार को स्पीकर विजय कुमार सिन्हा और सीएम नीतीश कुमार के बीच बहस अब सियासी स्तर पर गहराता जा रहा है। मंगलवार को स्पीकर विधानसभा में सदन का संचालन करने के लिए नहीं पहुंचे। बताया जा रहा है कि एक दिन पहले लखीसराय और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सदन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आचरण से स्पीकर आहत हैं। सत्ताधारी पार्टियों के बीच सियासी मतभेद को लपकते हुए आज आरजेडी के विधायक स्पीकर का अपमान करने के विरोध में काली पट्टी बांधकर विधानसभा पहुंचे। इतना ही नहीं, आरजेडी ने बिहार के मुख्यमंत्री पर आसन के अपमान का आरोप लगाते हुए माफीनामे की भी मांग की है।

इस मामले में ताजा अपडेट यह है कि सोमवार को जिस तरह से खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आसन को लेकर प्रश्न उठाया था, उससे विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा आहत हैं। दूसरी तरफ आरजेडी के विधायक मंगलवार को सीएम के आचरण के खिलाफ में काली पट्टी बांध सदन पहुंचे और मुख्यमंत्री पर आसन के अपमान का आरोप लगाकर माफी मांगने की मांग की। दूसरी तरफ जनता दल यूनाइटेड अब मामले को शांत करने के लिए अपने बचाव में उतरती नजर आ रही है।

बिहार विधानसभा में मंगलवार को स्पीकर अनुपस्थिति में कार्यवाहक अध्यक्ष के रूप में भाजपा नेता प्रेम कुमार ने सदन संचालन किया। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही काली पट्टी बांधे सदन पहुंचे आरजेडी विधायक आसन के अपमान को लेकर माफी मांगने की मांग करने लगे। विपक्ष ने आसन का अपमान नहीं सहेंगे, जैसे नारे लगाते हुए नारेबाजी भी की। विरोधी दलों का आरोप है कि जिस प्रकार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्पीकर की निष्पक्षता पर सवाल उठाया, वह विधायी मर्यादा का उल्लंघन है। यह मुख्यमंत्री को शोभा नहीं देता। अध्यक्ष किसी एक पार्टी का नहीं, बल्कि पूरी विधानसभा का होता है। स्पीकर का सबको सम्मान करना चाहिए।

स्पीकर और सीएम के बीच बहस के मुद्दे पर सदन में हंगामा होता देखकर शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने इस मामले पर सदन में कहा कि मुख्यमंत्री ने सोमवार को सदन में विधायिका और कार्यपालिका के अपने-अपने कार्यक्षेत्र और सीमाओं की जानकारी भर दी थी। इस मामले को अब तूल नहीं दिया जाना चाहिए। इसके बाद भी राष्ट्रीय जनता दल के विधायकों का हंगामा जारी रहा। विपक्ष का कहना है कि सीएम नीतीश कुमार को माफी मांगना होगा।

Next Story

विविध