दिल्ली

Punjab Election 2022: पंजाब में शिक्षकों के साथ केजरीवाल का धरना, चुनावी सरगर्मी के बीच राज्य सरकार पर साधा निशाना

Janjwar Desk
27 Nov 2021 9:52 AM GMT
Punjab Election 2022: पंजाब में शिक्षकों के साथ केजरीवाल का धरना, चुनावी सरगर्मी के बीच राज्य सरकार पर साधा निशाना
x

आगामी विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब के शिक्षकों के साथ केजरीवाल ने दिया धरना(पुरानी तस्वीर)

Punjab Election 2022: अरविंद केजरीवाल ने कहा, "मैं वादा करता हूं कि एक बार अपने छोटे भाई को मौका दीजिए। अगर मैं नहीं कर पाया तो मुझे भी बाहर का रास्ता दिखा देना..."

Punjab Election 2022: पंजाब में चुनावी सरगर्मी के बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) शनिवार, 27 नवंबर को पंजाब के मोहाली में धरना दे रहे शिक्षकों के बीच पहुंचे। आम आदमी पार्टी के संयोजक केजरीवाल शिक्षकों के साथ धरना पर बैठ गए और राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा। केजरीवाल के साथ आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान भी धरने पर बैठे हैं। धरने पर बैठे शिक्षकों को संबोधित करते हुए दिल्ली के सीएम केजरीवाल (Arvind Kejriwal in Punjab) ने कहा कि पंजाब की सरकार राज्य के शिक्षकों के साथ अन्याय कर रही है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि, "बड़े दुख की बात है टीचर्स को क्लासरूम की जगह पानी की टंकी पर चढ़ना पड़ रहा है।" केजरीवाल ने शिक्षकों से बातचीत के दौरान कहा कि पंजाब में आम आदमी की सरकार बनने के बाद उनकी सभी मांगों को स्वीकार किया जाएगा। केजरीवाल ने शिक्षकों की मांगों को सही ठहराते हुए पंजाब की कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjeet Singh Channi) पर जमकर निशाना साधा।

दिल्ली की तर्ज पर होगा पंजाब में शिक्षा सुधार

शिक्षकों को संबोधित करते हुए अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा, "मैं वादा करता हूं कि एक बार अपने छोटे भाई को मौका दीजिए। अगर मैं नहीं कर पाया तो मुझे भी बाहर का रास्ता दिखा देना। पंजाब में शिक्षा का स्तर सुधार दिया जाएगा।" दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके शासन में राजधानी के शिक्षकों को सरकार ट्रेनिंग के लिए विदेश भेजती है। अगर पंजाब में उनकी सरकार बनती है तो वे शिक्षकों की सभी मांगों को पूरा करेंगे। केजरीवाल ने कहा कि दिल्की की शिक्षा का सुधार मनीष सिसोदिया (Manish Sisodiya) ने नहीं बल्कि वहां की शिक्षकों ने किया है।

अरविंद केजरीवाल ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब के कई स्कूलों में 7वीं कक्षा तक एक भी अध्यापक नहीं है। कहीं कहीं पर तो एक अध्यापक है। यहां केवल पुताई कर उसे स्मार्ट स्कूल बता देते हैं। वहीं, आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने कहा कि पंजाब लावारिस हो गया है।

केजरीवाल ने चन्नी को कहा 'झूठा'

अरविंद केजरीवाल ने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा, "जब मैं एयरपोर्ट से धरनास्थल की तरफ आ रहा था तो चन्नी साहब के होर्डिंग देखे। उसमें लिखा था कि राज्य में 36 हजार कर्मचारियों को पक्का कर दिया। चन्नी झूठ बोले रहे हैं। न तो शिक्षकों को पक्की नौकरी मिली और न ही किसी सफाई कर्मचारी को रेगुलर किया गया।"

आप सांसद भगवंत मान ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस सरकार को पंजाब के बच्चों का भविष्य संवारना था, वह खुद अपने भविष्य की लड़ाई रही हैं। ऐसे में पंजाब के बच्चे बाहर जाने के लिए मजबूर हैं। मान ने कहा, "मैं खुद एक अध्यापक का बेटा हूं इसलिए शिक्षकों का दर्द समझता हूं। आप सांसद ने कहा कि आम आदमी पार्टी इस लड़ाई में शिक्षकों के साथ है।"

Next Story

विविध