राष्ट्रीय

Kanpur Crime News : पशु व्यापारी को गोली मारकर फरार हुए आरोपी, परिजनों का आरोप तड़पता रहा बेटा देखती रही फजलगंज पुलिस

Janjwar Desk
9 Nov 2021 3:12 AM GMT
kanpur news
x

(कानपुर में व्यवसाई को गोली मारकर फरार हो गये आरोपी)

पिता का आरोप है कि जिस वक्त वह आधा किलोमीटर दूर घटनास्थल पर पहुँचे पवन की हल्की-हल्की सांसे चल रही थीं और पास में खड़ी फजलगंज थाने की पुलिस हम लोगों का इंतजार कर रही थी...

Kanpur Crime News : कानपुर के दर्शनपुरवा (Darshanpurwa) स्थित बंबा रोड पर सोमवार देर रात पशु व्यवसायी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। गोली मारने के बाद हत्यारे आराम से तमंचा लहराते हुए पैदल ही चले गये। गोली की आवाज से इलाके में दहशत का माहोल है वहीं मृतक के परिजनों ने तीन लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है।

जानकारी के मुताबिक दर्शनपुरवा के मन्नूलाल केदारनाथ का हाता निवासी 30 वर्षीय पवन गुप्ता पालतु पशुओं का व्यापार करते थे। सोमवार 8 नवंबर वह किसी जरूरी काम से जाने की बात कहकर घर से निकले थे। देर रात तकरीबन साढ़े दस बजे हिमाचल टाकीज के पीछे सब्जी मंडी (Sabji Mandi) वाली गली में पवन का बिल्लू, करण व बेटू शुक्ला से किसी बात पर विवाद हो गया।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बिल्लू ने कमर खुंसे कट्टे से पवन को गोली मार दी। (Kanpur Crime News) गोली पवन की गर्दन में लगी जिससे वह लहूलुहान होकर गिर गया। गोली की आवाज सुनकर लोग घटनास्थल की तरफ बढ़े लेकिन हत्यारोपी हाथ में तमंचा लहराते पैदल ही चले गये। पुलिस ने घरवालों को हत्या की सूचना दी तो परिजनों में खलबली मच गई।

एडीसीपी साउथ मनीष सोनकर ने बताया कि परिजनों ने कुछ लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है। सभी आरोपी फरार हैं। घटना का सीसीटीवी फुटेज खंगाला जा रहा है और हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगाई गई हैं। वहीं मृतक अपने परिवार में सबसे बड़ा था, मां सुमन व पिता प्रसादी लाल का रो-रोकर बुरा हाल है।

कुछ दिन पहले हुआ था विवाद

पुलिसिया पड़ताल में सामने आया है कि, मृतक पवन गुप्ता का कुछ दिन पहले भी हत्यारोपियों से किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। उस दौरान आरोपियों ने उसे देख लेने की धमकी भी दी थी। पुलिस को अंदेशा है कि रंजिश को नशेबाजी का रूप देकर हत्या की गई है। बहरहाल पुलिस वर्चस्व, लेनदेन और आशनाई के बिंदुओं पर भी पड़ताल कर रही है।

पुलिस के सामने देर तक तड़पता रहा मृतक

पवन गुप्ता के मर्डर के वक्त फजलगंज पुलिस की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है। परिजनों ने आरोप लगाया है कि पुलिस पवन को सड़क पर तड़पता देखती रही लेकिन उसे उठाकर अस्पताल तक नहीं ले गई। पिता का आरोप है कि जिस वक्त वह आधा किलोमीटर दूर घटनास्थल पर पहुँचे पवन की हल्की-हल्की सांसे चल रही थीं और पास में खड़ी फजलगंज थाने की पुलिस हम लोगों का इंतजार कर रही थी। परिजन खुद पवन को लेकर अस्पताल पहुँचे लेकिन तब तक उसने दम तोड़ दिया।

Next Story
Share it