राष्ट्रीय

Lakhimpur Khiri : गोरखपुर दौरा रद्दकर लखनऊ पहुँचे योगी ने लखीमपुर भेजी 3 कंपनी PAC, आधा दर्जन मौतों की पुष्टि

Janjwar Desk
3 Oct 2021 5:07 PM GMT
lakhimpur khiri
x

(गोरखपुर दौरा रद्दकर लखनऊ पहुँचे योगी लखीमपुर कांड ने पकड़ा तूल)

Lakhimpur Khiri : नाराज किसानों ने टेनी पुत्र व एक अन्य गाड़ी को आग लगा दी। एडीजी जोन लखनऊ एसएन साबत ने बताया कि मौके पर आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह भेजी गईं हैं...

Lakhimpur Khiri (जनज्वार) : यूपी के लखीमपुर खीरी में किसानों को कार से रौंदने का मुद्दा तूल पकड़ता जा रहा है। हिंसा में अभी तक 6 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है। किसान नेता राकेश टिकैत ने किसानों की मौत पर नाराजगी जाहिर की है, वह लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो गए हैं।

वहीं, दूसरी तरफ मामला बढ़ता देख सीएम योगी आदित्याथ (Yogi Adityanath) के आदेश पर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार मौके के लिये रवाना हो गए हैं। बताया जा रहा है कि पीएसी की 3 कम्पनी भी रवाना की गई हैं। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद अपने आगामी कार्यक्रम रद्द कर गोरखपुर से लखनऊ लौट रहे हैं।

दरअसल, लखीमपुर खीरी में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के गांव के दौरे को देखते हुए डिप्टी सीएम को रिसीव करने आ रहे बीजेपी नेता के बेटे आशीष मिश्रा के खिलाफ विरोध करने के दौरान किसानों की भिड़ंत हो गई। आरोप है कि मंत्री टेनी के पुत्र ने किसानों पर कार चढ़ा दी, जिससे किसान घायल हो गए। नाराज किसानों ने टेनी पुत्र व एक अन्य गाड़ी को आग लगा दी। एडीजी जोन लखनऊ एसएन साबत ने बताया कि मौके पर आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह भेजी गईं हैं। आसपास के थानों की फोर्स को भी लगाया गया है।

घटना के बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने एक वीडियो जारी कर कहा कि 'लखीमपुर से सैकड़ों किसान कार्यक्रम कर वापस लौट रहे थे, तभी उन पर गाड़ी चढ़ाकर हमला किया गया, इसके बाद फायरिंग की गई। वह बीकेयू के पदाधिकारीयों के साथ लखीमपुर के लिए रवाना हो गए हैं। वहीं, पुलिस प्रशासन ने एहतियातन सुरक्षा बढ़ा दी है। एसपी सिटी ज्ञानेंद्र सिंह और थाना प्रभारी सचिन मलिक फोर्स के साथ किसान नेता से बात करने पहुंचे हैं। जानकारी के मुताबिक, पंजाब से गुरनाम सिंह चढूनी, लक्खा सिधाना 4 दर्जन गाड़ियों के काफिले के साथ लखीमपुर पहुँच रहे हैं।'

इस मसले पर केन्द्रीय मंत्री और लखीमपुर के सांसद अजय मिश्र टेनी ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि, 'हम कार्यक्रम में बाद में आए हैं, पहले हमारे बेटे उस कार्यक्रम को कराते हैं वो वहीं पर मौजूद थे। वहां डेप्युटी सीएम केशव मौर्य को आना था, उन्हें रिसीव करने के लिए कोई गाड़ी जा रही थी। वहीं पर रास्ते में कुछ आंदोलनकारियों में से कुछ अराजक तत्वों ने गाड़ी पर पत्थर फेंके जिससे ड्राइवर को चोट लगी और एक्सीडेंट हो गया। इस तरह ये घटना हुई है। वहीं ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई, इसी कारण गाड़ी से पेट्रोल निकल गया, जिसके बाद वहां मौजूद लोगों ने उस गाड़ी को आग लगा दी।'

केंद्रीय मंत्री टेनी ने सफाई देते हुए कहा कि टहम लोग वहां पर मौजूद नहीं थे, जिस तरह से अराजकतत्वों ने घटना की है। उन्होंने कहा कि अब किसान आंदोलन में बहुत सारे ऐसे लोग भी घुसते जा रहे हैं, जो स्थितियां खराब करना चाहते हैं। सारी चीजें अच्छे से चल रहीं थीं बकायदा अच्छे से कार्यक्रम हो रहा था, किसी तरह की समस्या नहीं थी। अजय मिश्र टेनी ने कहा यदि केवल विरोध प्रदर्शन करते तो कोई समस्या नहीं होती लेकिन, विरोध प्रदर्शन के बजाय इस तरह की हिंसात्मक घटनाएं उन्होंने की है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने इस हिंसा में जान गंवाई है मुझे उनके लिए बहुत दुख है।'

लखीमपुर में हुई भारी हिंसा पर कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने भी योगी सरकार और बीजेपी को निशाने पर लिया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि 'भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएँगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका। ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है। किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज और बुलंद होगी।'

वहीं, किसानों का आरोप है कि वह कृषि कानूनों के खिलाफ और गृह राज्यमंत्री की किसानों के प्रति की गई टिप्पणी से आहत थे। इसके विरोध में उन्होने काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन करना तय किया था। भारतीय किसान यूनियन ने ट्वीट कर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप लगाया है।

Next Story

विविध

Share it