मध्य प्रदेश

Bhopal News: पैरामेडिकल छात्रों ने मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में की तोड़फोड़, कहा- एक क्लास में 3 साल से पढ़ रहे

Janjwar Desk
20 Nov 2021 1:46 PM GMT
Bhopal News: पैरामेडिकल छात्रों ने मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में की तोड़फोड़, कहा- एक क्लास में 3 साल से पढ़ रहे
x

पिछले तीन साल से पैरामेडिकल छात्रों की नहीं हुई परीक्षा(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Bhopal News: छात्रों की मानें तो अब तीसरा साल शुरू होने को है, लेकिन वे सिर्फ पढ़ाई कर रहे हैं। विश्वविद्यालय द्वारा बार बार परीक्षा टाला जा रहा है...

Bhopal News: मध्य प्रदेश के भोपाल स्थित मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी (Medical Science University, Jabalpur) में पैरामेडिकल छात्रों ने कॉलेज में तोड़फोड़ की और जमकर बवाल मचाया। छात्रों का आरोप है कि वे पिछले तीन साल से एक ही क्लास में पढ़ रहे है। 2019 में इन छात्रों का ऐडमिशन हुआ है और तब से एक बार भी परीक्षा नहीं ली गई और न ही इन्हें अगले साल के लिए प्रमोट किया गया है।

शनिवार 20 नवंबर को तीन साल से परीक्षा का इंतजार कर रहे पारा मेडिकल छात्रों का गुस्सा फूट पड़ा। प्रदेश भर से आए करीब 200 से अधिक छात्रों ने माता मंदिर स्थित मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में जमकर नारेबाजी की और तोड़फोड़ भी कर दी। छात्रों का आक्रोश देख ऑफिस कर्मचारियों ने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया।

मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराया

इस दौरान किसी ने मामले की सूचना पुलिस को दे दी। मौके पर पुलिस पहुंची और छात्रों से बात करके मामला शांत कराने की कोशिश की। प्रशासन की मौजूदगी में छात्रों के पांच सदस्यीय दल को कॉलेज के रजिस्ट्रार डॉ पूजा शुक्ला से मिलाया गया। इस दौरान छात्र अपने द्वारा लाए गए मांगों के लिखित आवेदन पर रजिस्ट्रार के साइन करने पर अड़ गए। काफी समझाने बुझाने के बाद छात्रों को मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट से बाहर लाया गया। मगर बिल्डिंग के बाहर आकर छात्रों ने अपना प्रदर्शन जारी रखा।

तीन साल से नहीं हुई परीक्षा

प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने बताया कि मध्यप्रदेश मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी, जबलपुर से मान्यता प्राप्त पैरामेडिकल कॉलेजों (Paramedical College) में राज्य भर के छात्रों ने वर्ष 2019 में एडमिशन लिया था। उसके कुछ महीने बाद से ही कोविड-19 के कारण संबद्ध विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षा नहीं ली गई। छात्रों की मानें तो अब तीसरा साल शुरू होने को है, लेकिन वे सिर्फ पढ़ाई कर रहे हैं। विश्वविद्यालय बार बार परीक्षा टाला जा रहा है। अब 1 दिसंबर से परीक्षा लेने की बात कही जा रही हैं।

छात्रों ने जनरल प्रमोशन की मांग रखी

छात्रों की मांग है कि जिस तरह से नर्सिंग छात्रों (Nursing Students) को जनरल प्रमोशन दिया गया है उसी आधार पर उन्हें भी प्रमोशन दिया जाए। बता दें कुछ दिन पहले ही कोर्ट के आदेश पर मध्यप्रदेश आर्युविज्ञान मेडिकल यूनिवर्सिटी जबलपुर द्वारा नर्सिंग छात्रों को जनरल प्रमोशन देकर अगले साल के लिए प्रमोट कर दिया गया। बावजूद इसके पैरामेडिकल के लगभग 20 हजार छात्रों को जनरल प्रमोशन नहीं दिया गया। ऐसे में छात्रों की मांग है कि कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए 2019-20 के फर्स्ट, सेकंड और थर्ड ईयर के छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के हिसाब से मार्क्स दिए जाएं। यदि जनरल प्रमोशन नहीं दे सकते तो परीक्षाएं ऑनलाइन या ओपन बुक (Open Book Exam) के माध्यम से ली जाए। पैरामेडिकल के सभी छात्र पिछले 2-3 साल से इसी प्रकार एक ही क्लास में पढ़ रहे हैं। परीक्षा में देरी के कारण छात्रों को अपने भविष्य को चिंता सताने लगी है।

Next Story

विविध

Share it