मध्य प्रदेश

Indore News: बीजेपी MLA आकाश विजयवर्गीय ने कहा- मेरा बस चले तो दुष्कर्म करने वाले के माता पिता को भी दूं सजा

Janjwar Desk
21 Nov 2022 2:36 PM GMT
बीजेपी MLA आकाश विजयवर्गीय ने कहा- मेरा बस चले तो दुष्कर्म करने वाले के माता पिता को भी दूं सजा
x

बीजेपी MLA आकाश विजयवर्गीय ने कहा- मेरा बस चले तो दुष्कर्म करने वाले के माता पिता को भी दूं सजा 

Indore News: मध्य प्रदेश के इंदौर से BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि दुष्कर्म करने वाले आरोपी के माता-पिता को भी सजा मिलनी चाहिए। आकाश का यह बयान चर्चा में है। आकाश ने कहा कि अगर उन्हें मौका मिले तो इस बारे में एक कानून बना दूं...

Indore News: मध्य प्रदेश के इंदौर से BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि दुष्कर्म करने वाले आरोपी के माता-पिता को भी सजा मिलनी चाहिए। आकाश का यह बयान चर्चा में है। आकाश ने कहा कि अगर उन्हें मौका मिले तो इस बारे में एक कानून बना दूं जिससे अपराध करने वाले के माता-पिता को दो-तीन साल की सजा मिलना चाहिए।

कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) के पुत्र आकाश विजयवर्गीय ने कहा कि जिस तरह से अच्छा काम करने वाले बच्चों के माता-पिता को प्रोत्साहन मिलता है उसी तरह यदि बच्चे अपराध करते हैं तो उसकी जिम्मेदारी भी कहीं ना कहीं उनके माता-पिता की रहती है। जितने लोग महान बने हैं, उनके माता पिता ने भी उनके पीछे अपना जीवन खपाया है। जिनके माता-पिता मेहनत करते हैं, उन बच्चों का भविष्य ही अच्छा निकलता है।

विजयवर्गीय (Akash Vijayvargiya) ने कहा कि बच्चों को पैदा करके छोड़ देने की प्रवृत्ति से ही उनका भविष्य बिगड़ता है। माता-पिता की जिम्मेदारी है कि वे अपने बच्चों को अच्छा नागरिक बनाएं, ताकि वे अपराध का रास्ता ना चुनें। विजयवर्गीय फूल-माली समाज के समारोह में शामिल होने गये थे। यहां उन्होनें 80 से अधिक बच्चों को पुरस्कार बांटा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होने ये बातें कहीं।

इसके अलावा विजयवर्गीय चिमनबाग मैदान पर मध्य प्रदेश मिनी गोल्फ एसोसिएशन द्वारा आयोजित गोल्फ स्पर्धा का शुभारंभ करने भी पहुँचे थे। यहां उन्होंने गोल्फ के शॉट लगाकर प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। बता दें कि शहर में लगातार दुष्कर्म के मामले बढ़ रहे हैं। कुछ केस नाबालिगों के साथ भी हुए हैं। जिसमें ज्यादातर आरोपी परिचित ही रहते हैं।

Next Story

विविध