वीडियो

Jhansi News: पीएम मोदी के लिए लगे पुलिस बैरिकेडिंग ने रोका एम्बुलेंस का रास्ता, दर्द से कराहती गर्भवती पैदल चल पड़ी अस्पताल की ओर

Janjwar Desk
15 Nov 2021 9:52 AM GMT
Jhansi News: पीएम मोदी के लिए लगे पुलिस बैरिकेडिंग ने रोका एम्बुलेंस का रास्ता, दर्द से कराहती गर्भवती पैदल चल पड़ी अस्पताल की ओर
x

(एंबुलेंस से उतरकर पैदल अस्पताल जाती गर्भवती महिला)

Jhansi News: गर्भवती महिला एम्बुलेंस से अस्पताल जा रही थी। शाम लगभग 5 बजे जैसे ही किले की ढाल पर मिनर्वा चौराहे पर पहुंची, यहां पीएम के प्रस्तावित आगमन के लिए लगी पुलिस बैरिकेडिंग ने एंबुलेंस का रास्ता रोक लिया...

झांसी से लक्ष्मी नारायण शर्मा की रिपोर्ट

Jhansi News: पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के 19 नवम्बर के झांसी दौरे से पहले शहर के कई हिस्सों में पुलिस ने अभी से ही बैरिकेडिंग (Barricade) लगा दिया है। बैरिकेडिंग के कारण झांसी किले के पास मिनर्वा चौराहे पर प्रसव पीड़ा से कराहती गर्भवती महिला को अस्पताल ले जा रही एम्बुलेंस को रोक दिया गया। अस्पताल तक पहुंचने के लिए एंबुलेंस को दूसरे रास्ते से जाने पड़ता। मगर दर्द से छटपटाती गर्भवती महिला ले लिए एक-एक पल मुश्किल भरा था।

प्रसव पीड़ा से बैचेन गर्भवती महिला अपनी रिश्तेदार के साथ एंबुलेंस से उतर गई और पैदल ही बैरिकेडिंग फांदकर अस्पताल की ओर चल पड़ी। प्रसव पीड़ा से तड़पती गर्भवती महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर अब वायरल (Viral Video) हो रहा है। बताया जा रहा है कि अस्पताल पहुंचने के मात्र दस मिनट के अंदर महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया।

अस्पताल के करीब बैरिकेडिंग

जानकारी के अनुसार, बल्लमपुर (Ballampur) की रहने वाली 23 वर्षीय गर्भवती महिला 108 एम्बुलेंस से अस्पताल जा रही थी। शाम के करीब 5 बजे महिला को ले जारही एम्बुलेंस (Ambulance) झांसी किले की ढाल पर मिनर्वा चौराहे के पास पहुंची तो यहां पीएम के प्रस्तावित आगमन को देखते हुए लगी पुलिस बैरिकेडिंग के कारण ड्राइवर ले गाड़ी रोक दी।

ड्राइवर ने गाड़ी मोड़कर दूसरे रास्ते से महिला को अस्पताल ले जाना चाहा लेकिन दर्द से कराह रही महिला के पास समय कम था। बैरिकेडिंग के दूसरी ओर पर जिला अस्पताल और उसके ठीक पीछे महिला अस्पताल है। महिला अपनी रिश्तेदार के साथ वहीं उतर गई। दर्द से कराहती गर्भवती महिला पैदल की बैरिकेडिंग लांघकर अस्पताल की ओर जाने लगी। काफी मसक्कत के बाद महिला की रिश्तेदार ने उसे एक ऑटो पर बिठाया और उसे अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल पहुंचने के कुछ ही मिनट बाद महिला ने एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया।

सोशल मीडिया पर लोग कर रहे आलोचना

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। स्थानीय लोग प्रशासन की आलोचना कर रहे हैं। शहर के कई अन्य हिस्सों में लगी बैरिकेडिंग और पुलिस की कार्यशैली से परेशान लोग भी इस वीडियो को शेयर कर अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। सवाल इसलिए भी खड़े हो रहे हैं कि पीएम की सुरक्षा व्यवस्था की रिहर्सल में जुटे पुलिस और प्रशासन के अफसरों और कर्मचारियों की प्राथमिकता में आमजन की ऐसी दिक्कतों के लिए कोई स्थान नहीं है। दूसरी ओर शासन के स्पष्ट निर्देश हैं कि वीआईपी दौरे के कारण आमजन को किसी भी तरह की तकलीफ नहीं होनी चाहिए।

स्वस्थ हैं जच्चा-बच्चा

जिला महिला अस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका डॉ सुमन ने जनज्वार को बताया कि कल्पना नाम की मरीज कल शाम आई थी। उसे तेज दर्द था। आने के कुछ ही समय बाद उसकी डिलीवरी हुई है। जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। उनको इस समय कोई परेशानी नहीं है। प्रसव आराम से हो गया है। उसे तेज दर्द था। सुनने में आया है कि वह कुछ दूर पैदल चली थी। यह उसकी अपनी इच्छा थी। डॉ सुमन ने कहा कि अस्पताल परिसर के भीतर आ जाने के भीतर सारी जिम्मेदारी हमारी होती है कि उसे सुविधा प्रदान की जाए।

Next Story

विविध

Share it