Top
राष्ट्रीय

Twitter ने लेखक हंसराज मीणा, किसान एकता मोर्चा समेत लगभग 250 अकाउंट्स को किया सस्पेंड, दिलीप मंडल ने की ये अपील

Janjwar Desk
1 Feb 2021 1:47 PM GMT
Twitter ने लेखक हंसराज मीणा, किसान एकता मोर्चा समेत लगभग 250 अकाउंट्स को किया सस्पेंड, दिलीप मंडल ने की ये अपील
x
इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने ट्विटर को लगभग 250 ट्वीट्स / ट्विटर अकाउंट्स को ब्लॉक करने का निर्देश दिया था। मंत्रालय का कहना था कि ये अकाउंट्स 30 जनवरी को #ModiPlanningFarmerGenocide हैशटैग का इस्तेमाल कर रहे थे और फेक, डराने और उत्तेजक ट्वीट्स कर रहे थे।

नई दिल्ली। किसान आंदोलन दिन प्रतिदिन तेज होता चला जा रहा है। लिहाजा सरकार को किसानों को राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर रोकना बेहद कड़ी चुनौती साबित हो रही है। सरकार एक के बाद एक ऐसे एक्शन ले रही है कि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि मानो वह विरोध की आवाजों को कुचलना चाहती हो। हाल ही में उन कई बड़े पत्रकारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई जो किसानों के मुद्दों को उठा रहे थे। वहीं अब खबर है माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने कई ट्विटर अकाउंट को बंद कर दिया है

जानकारी के मुताबिक ट्विटर ने किसान आंदोलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कथित 'आपत्तिजनक' ट्वीट और हैशटैग चलाए जाने का आरोप लगाया है। जिन ट्विटर हैंडल्स पर रोक लगाई गई है उनमें लेखक और ब्लॉगर हंसराज मीणा, किसान एकता मोर्चा, द कारवां, प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर आदि के अकाउंटर शामिल हैं। हालांकि शशि शेखर के अकाउंट को रोके जाने पर बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने बताया है कि उन्होंने (शशि) ही ट्विटर से शिकायत दर्ज की थी।

इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने ट्विटर को लगभग 250 ट्वीट्स / ट्विटर अकाउंट्स को ब्लॉक करने का निर्देश दिया था। मंत्रालय का कहना था कि ये अकाउंट्स 30 जनवरी को #ModiPlanningFarmerGenocide हैशटैग का इस्तेमाल कर रहे थे और फेक, डराने और उत्तेजक ट्वीट्स कर रहे थे।

यह गृह मंत्रालय और कानून से जुड़ी एजेंसियों के अनुरोध पर किया गया था, ताकि कानून और व्यवस्था को खराब होने से रोका जा सके। जनसंहार के लिए उकसाना सार्वजनिक व्यवस्था के लिए गंभीर खतरा है और इसलिए इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69-ए के तहत इन ट्विटर अकाउंट्स और ट्वीट्स को ब्लॉक करने का आदेश दिया।

ट्विटर अकाउंट पर रोक लगाए जाने के बाद हंसराज मीणा ने अपने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा, 'कायर मोदी सरकार ने डरकर आखिरकार मेरे ट्विटर हैंडल पर रोक लगवा दी। शर्मनाक हैं। ढेर सारी लानत भेजता हूँ।'


वहीं वरिष्ठ पत्रकार और इंडिया टुडे (हिंदी) के पूर्व मैनेजिंग एडिटर दिलीप मंडल ने अपने फेसबुक पोस्ट में अपील करते हुए लिखा, 'ट्विटर इंडिया ने किसान समर्थकों के हैंडल अभी-अभी सस्पेंड किए हैं। हो सकता है कि कुछ देर में मेरा एकाउंट भी वहाँ नज़र न आए। भाई हंसराज मीणा भी सस्पेंड हैं, जो थोड़े समय में ही देश के बड़े इंफ्लूएंशर बन गए हैं। अगर 2 घंटे में उनका एकाउंट न लौटा तो ये ट्वीट करें। #RestoreHansrajMeena'


इस समय सोशल मीडिया यूजर्स ट्विटर की भूमिका पर भी सवाल उठा रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने अपने ट्वीट में कहा कि ट्विटर इंडिया सरकार के इशारे पर चल रहा है, ऐसे में वह स्वतंत्र मंच कैसे दे सकता है।




Next Story

विविध

Share it